युवा



युवा रचनाकार आलोक कौशिक की संक्षिप्त जीवनी

आलोक कौशिक एक युवा रचनाकार एवं पत्रकार हैं। इनका जन्म 20 जून 1989 को एक ब्राह्मण परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम पुण्यानंद ठाकुर एवं माता का नाम सुधा देवी है। मूलतः बिहार राज्य अन्तर्गत अररिया जिले के फतेहपुर गांव निवासी आलोक कौशिक ने स्नातकोत्तर (अंग्रेजी साहित्य) तक की पढाई बेगूसराय (बिहार) से की



युवा रचनाकार आलोक कौशिक की संक्षिप्त जीवनी

आलोक कौशिक एक युवा रचनाकार एवं पत्रकार हैं। इनका जन्म 20 जून 1989 को एक ब्राह्मण परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम पुण्यानंद ठाकुर एवं माता का नाम सुधा देवी है। मूलतः बिहार राज्य अन्तर्गत अररिया जिले के फतेहपुर गांव निवासी आलोक कौशिक ने स्नातकोत्तर (अंग्रेजी साहित्य) तक की पढाई बेगूसराय (बिहार) से की



बाग बगीचे याद आए तो सही।

चलो बाग याद आये तो सही जलियावाला बाग के बाद से अब जुबा पर फिर से बाग निकलने लगे है। पेड़ पौधों के न सही महिला पुरषो के झुंड ही सही खुशबू न सही बेरोजगारी की मांग ही सही। पहले इंसान के बगीचे में फल फूल दिखाई देता था। अब होनहार युवा मासूम बचपन दिखाई देता है। पहले का इंसान



वह लड़की

जूठे बर्तन साफ़ करती वह,दूध के बर्तन की चिकनाई चेहरे पर मलतीहै।कपड़ों के मैले बचे सर्फ़ में पैर डालउन्हें रगड़ती है, धोती है।झाड़ू लगाते समयआईने में स्वयं को निहारतीचुपके सेमुँह पर क्रीम या पाऊडर लगामंद मंद मु



77 के युवा अमिताभ ...

https://duniaabhiabhi.com/amitabh-77-birthday/



युवा

युवा नौकरी का टैग पाने के लिए घर परिवार से दूरहोकर डिप्रेशन में हैं युवा|कर एम.फिल. पीएचडी शर्मसार है युवा, कर पढाईलिखाई बेरोजगार हैं युवा|गुजर रही आधी उम्र पढाई में, बाकी की उम्र में बीमारहैं युवा |निकलती हैं नौकरी आठवी पास की, उसमे भी साईकिलचलाने को तैयार है युवा|शादी -विवाह की बात छोडो, खुद का पे



आपकी सफलता में सलाहकार की भूमिका

संजय कुमार सुमन sk.suman379@gmail.comदोस्तो सलाहकार ये ऐसा सब्द है, जो कि हम सब के जीवन मे लागू होता है।ऐसा कोई व्यक्ति नही जिसे अपने जीवन मे किसी की सलाह की आवश्यकता नही पड़ी हो। कभी अपने व्यापार संबंधी या फिर अपने निजी जीवन संबंधी हमे



अपनी दिशा से भटक रहा युवा

आज भारत देश में करोड़ो की सख्यां में युवा बेरोजगार है और दिशा विहीन हो कर भटक रहा है 1 इसके पीछे मै कई कारन मन रहा हूँ 1 अगर में उत्तर भारत की बात करूं जहां से मैं सम्बन्ध रखता हु तो मुझे ये ज्ञात होता है की दो और तीन कारन ही मुख्यत:



क्या आप जानना चाहते हैं की रामदेव जी ने कुंवारों के लिए क्या कहा ?

योग और पतंजलि उत्पादों के अलावा अकसर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले योगगुरु स्वामी रामदेव ने एक और बयान दिया है। रामदेव के मुताबिक, जो 2 से ज्यादा बच्चे पैदा करे उससे वोटिंग अधिकार वापस ले लेना चाहिए। रामदेव ने इसके अलावा अपना उदाहरण देते हुए कहा कि मेरी तरह जो व्



हनुमान मूर्ति तोड़ने पहुंची थी दर्जनों मशीनें, धरती पर पहुंचे गुस्साए बजरंग बली ने मचा दिया कोहराम

इस साल जनवरी में शाहजहांपुर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया था। यहां बजरंग बली की करीब 130 साल पुराने मंदिर को तोड़ने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। भगवान हनुमान की मूर्ति को हटाने के लिए लगाई गई 3 भारी-भरकम क्रेन और कई मशीनों की हालत खराब हो गई। बताया गया कि करीब तीन दिनों



युवा सोच - देशप्रेम

देशप्रेम सदा ही बहता है,हमसब की ही नस-नस में। आन पड़ी तो जान भी देंगे,खाते हैं हम, ये कसमें। माना हमने कभी लड़ी नहीं,देशहित में एक लड़ाई। पर हमको जब-जब मौका मिला,हम ने भी, जान



विश्व युवा दिवस

विश्व युवा दिवस की उत्पत्ति 1 9 84 की जुबली के दौरान मानी जाती है| दुनिया भर के 30,000 युवा लोगों ने युवाओं की अंतर्राष्ट्रीय जयंती के लिए पोप जॉन पॉल द्वितीय के निमंत्रण को स्वीकार किया था।जॉन पॉल द्वितीयने युवा लोगोंसे कहा, "आजयहां आप सब के द्वारा इसमंच पर क्याशान



समाज पर सोशल मीडिया का प्रभाव

आज कल सोशल मीडिया लोगो की जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है| इसके बहुत सारे फीचर है, जिसके द्वारा आप अपने विचार, सूचना, तस्वीरे, वीडियो आदि एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते है| सोशल मीडिया के समाज पर सकारात्मक और नकारत्मक दोनो ही प्रभाव देखने को मिलते है| सोशल मीडिया एक विशाल न



भाषा-व्यक्तित्व का आईना

भाषा-व्यक्तित्व का आईना डा. वेद प्रकाश भारद्वाज भाषा एक आईने की तरह होती है। हम जैसी भाषा बोलते हैं या लिखते हैं वैसा ही हमारा व्यक्तित्व होता है जो भाषा के आईने से सबके सामने आ जाता है। इस दृष्टि से यदि हम आज के युवाओं और बच्चों की भाष



आत्मकेंद्रित होते युवा और समाज की आवश्यकता

इस तकनीकि के युग में आजकल के युवा इतने आत्मकेंद्रित हो गये है की उन्हें समाज या अपने आसपास के लोगों से मानो कोई सरोकार ही नही रह गया है| इसलिए आज घर के बुजुर्गों को अपने युवा हो रहे किशोरों से ये कहते सुनते है कि समाज में उठा बैठा करो, लोगों से मिला जुला करो, लोगों के यहाँ आया जाया करो थोड़े सोशल (सा



कलम के सिपाही मुंशी प्रेमचंद

" कलम के अमर सिपाही " आधुनिक हिन्दी साहित्य की चर्चा 'मुंशी प्रेमचंद 'के साहित्य के बगैर अधूरा है। प्रेमचंद ने अपने लेख न में भारतीय समाज में व्याप्त कुरूपता, असमानता, अत्याचार व अन्याय क



संत से लेकर आध्यात्मिक गुरु बनने का है स्वामी विवेकानंद का सफ़र- swami vivekananda in hindi

स्वामी विवेकानंद. एक युवा संन्यासी, जिन्होंने भारतीय संस्कृति को विदेशों में पहचान दिलाई. साहित्य, इतिहास और आध्यात्म की अद्भुत जानकारी रखने वाले विवेकानन्द को एक ऐसे आध्यात्मिक गुरू के तौर पर जाना जाता है, जो हिन्दू धर्म को प्रोग्रे



अस्तित्व

** युवावस्था ** युवावस्था आये और सपनों की फसल न उगे ऐसा सम्भव नही इसलिए हमारी नवयुवा पीढी की आँखे भी सपनो की फसलों से लहलहा रही है बल्कि हमारी आज की युवा पीढी के पास अगर बड़े



“अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस” (मादक द्रव्यों के सेवन और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस)

“ अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस” प्रत्येक वर्ष 26 जून को मनाया जाता है । नशीली वस्तुओं और पदार्थों के निवारण हेतु 'संयुक्त राष्ट्र महासभा' ने 7 दिसम्बर 1987 को प्रस्ताव संख्या 42/112 पारित कर हर वर्ष 26 जून को 'अंतर्राष्ट्रीय नशा व मादक पदार्थ निषेध दिवस' मनाने का न



एक प्रश्न है भारतीय युवाओं से क्या वो जिस व्यक्ति को प्रेम करते है वो इतना लालची है की इन दिनों जब तक आप उसे कोई उपहार नही देंगे तब तक वो आपके प्रेम को स्वीकार नही करेगा | क्या इन दिनों में विशेष कोई गृह दशा होती है की इन दिनों ही अपने साथी को चोकलेट खिलाओ, फूल दो, गुड्डा गुडिया दो, तो उसके प्रभाव स्वरुप वो आपके प्रेम को स्वीकार कर लेगा | निश्चित रूप से आप कहेंगे ऐसा नही है फिर ये निराधार वेलेंटाइन डे का दिवालियापन क्यों ?

एक प्रश्न है भारतीय युवाओं से क्या वो जिस व्यक्ति को प्रेम करते है वो इतना लालची है की इन दिनों जब तक आप उसे कोई उपहार नही देंगे तब तक वो आपके प्रेम को स्वीकार नही करेगा | क्या इन दिनों में विशेष कोई गृह दशा होती है की इन दिनों ही अपने साथी को चोकलेट खिलाओ, फूल दो, गुड्डा गुडिया दो, तो उसके प्रभाव



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x