पा



"पद" कोयल कुहके पिय आजाओ, साजन तुम बिन कारी रैना,डाल पात बन छाओ।।

"पद"कोयल कुहके पिय आजाओ,साजन तुम बिन कारी रैना, डाल-पात बन छाओ।।बोल विरह सुर गाती मैना, नाहक मत तरसाओ ।भूल हुई क्यों कहते नाहीं, आकर के समझाओ।।जतन करूँ कस कोरी गगरी, जल पावन भर लाओ।सखी सहेली मारें ताना, राग इतर मत गाओ।।बोली ननद जिठानी गोली, आ देवर धमकाओ।बनो सुरक्षा कव



अमरनाथ यात्रा

अमरनाथ हिन्दुओं का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यह कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर के उत्तर-पूर्व में 135 सहस्त्रमीटर दूर



जब भी तुम्हारे पास आता हूँ मैं

जब भी तुम्हारे पास आता हूँ मैंकितना कुछ बदल जाता हैसारी दुनिया एक बंद कमरे में सिमिट जाता हैसारी संसार कितना छोटा हो जाता हैमैं देख पता हूँ, धरती के सभी छोरदेख पाता हूँ , आसमान के पारछू पाता हूँ, चाँद तारों को मैंमहसूस करता हूँ बादलो की नमीनहीं बाकी कुछ अब जिसकी हो कमीजब भी तुम्हारे पास आता हूँ मैं



मातृभूमि की यही कहानी ( कुलदीप पांडेय ' आजाद' )

नित नव पल्लव सूख रहे हैं,स्वप्न हृदय के टूट रहे हैं |उपवन कैसे अस्त-व्यस्त है,नहीं नजर आता रँग धानी |मातृभूमि की यही कहानी | आजादी के अंकुर फूटे,सत्य मार्ग से रिश्ते टूटे |भ्रष्टाचार,कुरीति फली है,बढ़ती दिन-दिन है हैवानी |मातृभूमि की यही कहानी | प्रहरी कैसे लुप्त हो



मातृभूमि व भाषा ( कुलदीप पाण्डेय आजाद )

चलता किस पाथ पर जग सारा,नए नियम क्या हैं इसके |उग आए कंटक राहों पर,चलते फिर भी क्यो इसपे |नहीं समझता है कोई क्यों ,अब इसकी अभिलाषा को |कोई ऐसा पथिक नहीं जो,बदल सके परिभाषा को |नई दिशा ये मांग रही है,फैलाकर अपना आंचल |विधि पर निर्भर प्रगति



मुक्तक, पारिजात उपवन छटा शम्भू के कैलाश।

" मुक्तक"पारिजात उपवन छटा शम्भू के कैलाश।पार्वती की साधना पुष्पित अमर निवास।महादेव के नगर में अतिशय मोहक फूल-रूप रंग महिमामयी महके शिखर सुवास।।-१हिमगिरि सुंदर छावनी देवों का संसार।कल्पतरु का बाग जहाँ फल फूले साकार।जटा छटा शिर चाँदनी पहिने शिव मृगछाल-नयन रम्यता शिवपुरी स्व



“कुंडलिया” कुल की पालनहार परम पूज्य है नारी॥

हार्दिक अभिनंदन आप बहनों का बहुत बहुत बधाई भूत भविष्य वर्तमान की परम शक्ति को सादर नमन “कुंडलिया”नारी है नारायणी आदि जगत से आजमौन मूक दर्शक रही सत्य सती शिव राजसत्य सती शिव राज काज पालन का करती युग युग नव अवतार चित्र चहक रंग भरतीकह गौतम कविराय विलक्षण चेहरा प्यारी



जिंदगी के १० ऐसे सच जिसका साइंस के पास नहीं कोई जवाब

जिंदगी के १० ऐसे सच जिसका साइंस के पास नहीं कोई जवाब



"रश्मि का पाक सम्मान"

"रश्मि का पाक सम्मान" आज रश्मि के खुशी का ठिकाना नहीं है, हो भी क्यों नहीं, सम्मान किसको प्यारा नहीं होता। प्रतिपल सभी यही तो चाहते हैं कि उसके कर्म का, उसके व्यवहार का, उसकी लगन की तारीफ हो, पर आम जीवन में ऐसा कहाँ होता है। जन्मपर्यन्त जूझना ही तो पड़ता है। शिक्षा से शुर



देश मेरा बढ़ रहा है ( कुलदीप पाण्डेय आजाद )

देश मेरा बढ़ रहा | प्रगति सीढ़ी चढ़ रहा |देश के उत्थान में सब,साथ मिल अब चल रहे हैं |खून से सींचा जिसे था , हर सुमन अब खिल रहे हैं |कंटकों को आज देखो स्वम ही वह जल रहा है | देश मेरा बढ़ रहा |गोद में बैठे अभी तक ,



“बिग-स्क्रीन” पर धर्म के नाम पाखण्ड

फिल्मेंसमाज का दर्पण होती है, अक्सर कहा जाता है । फिल्मों के माध्यम से समाज



पावन पर्व राखी पर कता/मुक्तक

पावन पर्व राखी पर कता/मुक्तक सजा कर थाल में कंकू, बहन की आ गई राखीलगा कर भाल पर टीका, उभर कर छा गई पाखीसजे जब रेशमी धागे, सहज भैया कलाई मेंमहक माटी खिले नैना, तिलक लिपटा गई साखी।।-१मनोरम हो गए उपवन, रंग ले खिल गई कलियाँबहन को मिल गया बीरन, खुशी बटने लगी गलियाँबँधी महिमा



कैसे जान पाओगे मुझको

अगर तुमने प्रेम नही कियातो कैसे जान पाओगे मुझकोकिसी को जी भरकर नही चाहाकिसी के लिए नही बहायाआँखों से नीर रात भरकिसी के लिए अपना तकिया नहीभिगोया कभीनही रही सीलन तुम्हारे कमरेमे अगर कभीतो कैसे जान पाओगे मुझको ||हृदय के अंतः पटल सेअगर नही उठी कभी तरंगेनही बिताई रात अगरचाँद और तारो के साथनही सुनी कभी न



काश वो भी जान पाते जो निभा सकते नहीं "ग़ज़ल"

"ग़ज़ल" आप मेहरबान को मैं भुला सकता नही दर्द है मेरे बदन का जो दिखा सकता नही घाव भीतर से लगा है दाग मरहम दूर है ढूढता हूँ नैन लेकर पर रुला सकता नही।। आप ने इसको जगाया फिर सवाया कर दिया चाह कर इस शूल को फिर से दबा सकता नही।। क्या कहूँ जी आप से यह आप की दरिया दिली धार



असाधारण चुनाव के असाधारण नतीजे

असाधारण चुनाव के असाधारण नतीजे "हमारा अतीत हमारे वर्तमान पर हावी होकर हमारे भविष्य पर प्रश्न चिह्न लगा देता है " , एक कटु सत्य । ' सबका साथ,सबका विकास ' क्या संभव हो पाएगा जब यूपी में होगा योगी का राज ? यूपी चुनावों के चौंकाने वाले नतीजों से देश के कथित सेकुलर नेता और मीडिया उबर भी नहीं पायी थी कि



'सफलता सूत्र' में अपनी रचनाएं प्रकाशित कराएं एवं पारिश्रमिक पाएं.

अपनी सोई हुई रचनात्मक क्षमता को जगाएं एवं नवीन सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ें।'सफलता सूत्र' में अपनी रचनाएं प्रकाशित कराएं एवं पारिश्रमिक पाएं.➤ सबरंग के लिए आप ज्ञानवर्द्धक, रोचक, मनोरंजक, ज्ञान-विज्ञान, स्वास्थ्य, कला, संगीत, अध्यात्म, सफलता, साहित्य, कहानी, कविता, लघुकथा,



प्रणय पात्र

रोहित का मोबाईल फिर बजा. अब तक न जाने कितनी बार बज चुका था. इतनी बार बजने पर उसे लगा कि कोई तो किसी गंभीर परेशानी में होगा अन्यथा इतने बार फोन न करता. अनमना सा हारकर रोहित ने इस बार फोन उठा ही लिया. संबोधन किया हलो..उधर से आवाज आई...भाई साहब नमस्कार, गोपाल बोल रहा हूँ. बह



पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन भावनात्मक मुद्दा

पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन भावनात्मक मुद्दा डॉ शोभा भारद्वाज आजकल पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन का मुद्दा गरमाया हुआ है|अनेक पाकिस्तानी कलाकार भारत में आकर चैनलों (जिन



कहीं जनता ही न कर दे सर्जरी

भारत में होने वाले आतंकी हमलों को लेकर केंद्र सरकार ने पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक जैसा ठोस कदम उठाया है. इस संबंध में जहां आतंकी हमलों से ग्रस्त विश्व के शक्तिशाली देश भारत सरका



कुपोषण का निदान

दूध का सेवन कुपोषण का सबसे पुराना नुस्खा है।परन्तु इसकी बढ़ती कीमतों ने गरीब आदमी से इसकी पहुंच मुश्किल कर दी है।पशु पालन आज के समय में बहुत खर्चीला व्यवसाय हो गया है।पशुओं में मौसमी बीमारी फैलने पर उनके इलाज की कारगर व्यवस्था न होने के कारण बड़ी तादाद में पशुओं की मौत हो



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x