हिंदी



माध्यम की भाषा

माध्यम की भाषा (1)जिस कार्य-क्षेत्र में उपयोग में आती रहे जो भाषा; उस क्षेत्र केलिए विकसित होती रहती वो भाषा। काम केलिए उपयोग में न लाएं निज-भाषा; फिर क्यों कहें विकसित नहीं हमारी निज भाष।।(2)व्यक्तिगत क्षमता, सामूहिक क्षमता में; सार्वजनिक रूप में, सरकारी काम में;भ



निज भाषा

विशेष : आओ हिंदी भाषा को लेकर कुछ चर्चा करें, हिंदी की सेवा करें।** निज भाषा ** (1) - ( प्रस्तावना )मैं हि



हिंदी भाषा चलो हिंदी सीखें

व्याकरण प्राथमिक स्तर पर ही विद्यार्थियों की भाषा को आधार प्रदान करता है किंतु इसके लिए यह अनिवार्य है कि उसका अभ्यास निरंतर बना रहे । षष्ठी स्तर पर विद्यार्थियों को व्याकरण के नियमों का पुनराभ्यास का अवसर मिलता है इस स्तर पर विद्यार्थी भाषा को शुद्ध रूप प्रदान करने में समर्थ हो जाता है । किसी भी भ



चलो तुम न लेटो,

चलो तुम न लेटो,चलो तुम न लेटो,आओ हम बैठ एक दूसरे को ताके,बस अनन्त में बसी आंखों में झांके,चलो तुम न लेटो,हम तुम्हारे हाथों की बाह में चिड़िया वाला खेल खेले,तुम्हारी कलाई को पकड़े ओर खुद से मिला के चले,चलो तुम न लेटोचलो तुम न लेटो,आओ मेरे सामने बैठो,अपने बालों को जूड़े से खोलो,हम सहलाये उन्हें,मखमली रेश



अहंकार को छोड़ो - Moral Story Of King in Hindi

परमात्मा को पाना है तो अहंकार को छोड़ना ही पड़ेगा - और भी अन्य बेहतरीन कहानियां पड़ें - Hindi Moral Stories एक राजा था, उसने नाम कमाया और ऐश्वर्या भोगा. फिर मन भर गया. लगा की अब सत्य स्वरुप परमात्मा की खोज



अभिव्यक्ति मेरी: मैं आग को पीता गया बस आजमाने के लिये

खुद की मौत पर तन्हा था मैं, मांतम मनाने के लिये।केवल ओठ ही हिलते है, अब बस गुनगुनाने के लिये।।हालांकि मेरे हाथ से, गिर कर जो टूटा काँच सा,अरमान ही तो था मेरा, बस मुस्कुराने के लिये।।उस शाम की महफिल में ,बस दो चार ही तो लोग थे,मैं था , मेरे ग़म थे, दो आंसू बहाने के ल



अन्तर्राष्ट्रीय हिंदी सम्मलेन -राजस्थान --हिंदी साहित्य को बंधन मुक्त करें

देश में १ अक्टूबर से १२ अक्टूबर तक राजस्थान में १५ वां अन्तर्राष्ट्रीय हिंदी सम्मलेन चल रहा है . लेखन कार्य में लगी हूँ तो ऐसे सम्मलेन का कौन लेखक होगा जो हिस्सा नहीं



मै हिंदी

नमस्कार........मै हिंदी हूँमेरा दिवस के रूप में उत्सव मनाकर सम्मान देने के लिये आपकी आभारी हूँ वैसे मुझे किसी दिवस की आवश्यकता नहीयदि वास्तविक रूप मेंमुझे सम्मान देना चाहते होतो मुझेह्रदय से अपनाकरअपनी वाणी मेंसमाहित करसदैव के लिएअपने कंठ और जिह्वाको समर्पित कर दोमै सदैव आपकीभाषा बनकरआपके कार्



हिंदी दिवस पर हर्दिक बधाई

हिंदी दिवस पर हर्दिक बधाई "मुक्तक"बधाई हो सबको सम्मान का यह दिन।हिंदी माँग बिंदी बहुमान का यह दिन।परस्पर का नाता है भाषा निराली-कोयली सी बोली पहचान का यह दिन।।-१प्रवाह प्रखर सरिता बहाती है हिंदी।मातृ महिमा लोरी सुनाती है हिंदी।मंगलमयी यात्रा सफलता की देवी-प्रेम हर जुबान भ



हिन्दी दिवस (14 सितम्बर)

14 सितम्बर1949 को ही हिंदी को देवनागरीलिपि में भारत की कार्यकारी और ‘ राष्ट्रभाषा ’ का दर्जाअधिकारिक रूप से दिया गया था और तभी से देश में 14 सितम्बरका दिन ‘हिंदी दिवस’ के रूप में मनायाजाता है । 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत



घासलेट का घी

बात लावन गाँव की है,जिसमे राजेश्वरी देवी नाम की एक महिला रहती थीं. उनके पति की मृत्यु काफी समय पहले हो चुकी थी. तीनलडके और एक लडकी थी जिसकी शादी कुछ दिनों पहले हो चुकी थी. घरकी आर्थिक स्थिति काफी खराब थी. क्योंकि कमाने वाला घर मेंकोई थ



भिखारिन अम्मा

बलवीर घर में चिंतामग्न बैठे हुएथे. बलवीर गाडी चलाने का काम करते थे लेकिन दो दिनपहले गाडी बुरी तरह से खराब हो गयी. जितना पैसा पास रखा थासब खर्च कर दिया लेकिन गाड़ी में अभी और सामान की जरूरत थी. आज उन्हें घर में बैठे दो दिन होचुके थे किन्त



दास्तान-ए-कलम (मेरी कलम आज रोई थी)

मेरी कलम आज फिर रोई थी,तकदीर को कोसती हुई, मंजर-ए-मज़ार सोचती हुई,दफ़न किये दिल में राज़, ख़यालों को नोंचती हुई।जगा दिया उस रूह को जो एक अरसे से सोई थी,मेरे अल्फाज़ मेरी जुबां हैं, मेरी कलम आज रोई थी।।पलकों की इस दवात में अश्कों की स्याही लेकर,वीरान दिल में कैद मेरी यादों



पुस्तक

नवरात्रि और सप्तश्लोकी दुर्गा स्तोत्र हिंदी काव्यानुवाद सहित) * नवरात्रि पर्व में मां दुर्गा की आराधना हेतु नौ दिनों तक व्रत किया जाता है। रात्रि में गरबा व डांडिया रास कर शक्ति की उपासना की जाती है। विशेष काम



आपको ये पढ़ कर बेहद आश्चर्य होगा कि इस तरह हिन्दी, भारत की राष्ट्रीय भाषा बनते बनते रह गई... आपका एक शेयर जागरूकता के लिए कीमती है !

1946 से लेकर 1949 तक जब भारतीय संविधान का मसौदा तैयार किया जा रहा था, उस दौरान भारत और भारत से जुड़े तमाम मुद्दों को लेकर संविधान सभा में लंबी लंबी बहस और चर्चा होती थी. इसका मकसद था कि जब संविधान को अमली जामा पहनाया जाए तो किसी भी वर्ग को यह न लगे कि उससे संबंधित मुद्दे की अनदेखी हुई है. वैसे तो लग



Airtel तथा दुसरे Networks से Reliance Jio 4G में कैसे जाएँ (In Hindi)

अगर आपके पास 4G हैंडसेट है तो 5 सितम्बर के बाद किसी भी नजदीकी Reliance Digital Store में अपने पहचान पत्र या आधार कार्ड के साथ Visit करें और अपना फ्री Reliance Jio 4G SIM प्राप्त कर लें.और अगर आपके पास 4G फ़ोन नहीं है तो आप इसे जल्द से जल्द खरीद लें. क्योंकि ये आपको Relianc



Yepme App Se 101 Rupye Payen Sign Up Ke Liye ( 25 % Extra)

Yepme App Se 101 Rupye Payen Sign Up Ke Liye ( 25 % Extra) Hello Doston, Yepme Ke Dwara Aaj Ek Shandar Offer Diya Ja Raha Hai Jiska Labh Aap Sabhi Ko Jarur Uthana Chahiye. Yepme Aaj Apne Naye Grahakon Ko Pure 101 Rupye Ka Gift Points De Rahi Hai. Itna Hi Nahi Iske Alawe Upar Se 25% Discount Aur De R



आपकी बात, आपकी भाषा में

शब्दनगरी मंच के माध्यम से, आप अपने विचार जन-मानस तक हिंदी में पहुँचा सकते हैं| इस मंच से जुड़कर, आप हिन्दी की विभिन्न विधाओं जैसे- कविता, कहानी, निबन्ध, संस्मरण तथा अन्य विधाओं में अपने लेख प्रकाशित कर सकते है| शब्दनगरी पर हिन्दी-भाषी ब्लॉगर्स अपनी रचनाओ को समकक्ष एवं अपेक्षित रचनाकारों के साथ साझा



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x