अमितशाह

महिलाओं के लिए ये कैसी लड़ाई जिसे महिलाओं का ही समर्थन नहीं

महिलाओं के लिए ये कैसी लड़ाई जिसे महिलाओं का हीसमर्थन नहीं मनुष्य की आस्था ही वो शक्ति होती है जो उसे विषम से विषम परिस्थितियों से लड़कर विजयश्री हासिल करने की शक्ति देती है। जब उस आस्था पर ही प्रहार करने के प्रयास किए जाते हैं, तो प्रयास्कर्ता स्वयं आग से खेल रहा होता है।क्योंकि वह यह भूल जाता है कि



नयी सरकार आने के बाद उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सरकार को बने लगभग 17 दिन हो चुके है और इन 17 दिनों में लोगो का उत्तर प्रदेश को देखने का नजरिया बदला है ये ठीक वैसे ही है जैसे 2014 के लोक सभा के चुनावों में मोदी के चुनाव जीतने के बाद दुनिया का देश को देखने का नजरिया बदला था ! 20 म



शाह सच बोल रहे हैं .....

''सच्चाई छिप नहीं सकती ,बनावट के उसूलों से , कि खुशबू आ नहीं सकती कभी कागज़ के फूलों से .'' दुश्मन फिल्म का ये गाना एकाएक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के इस दावे '' ढाई साल से थी नोटबंदी की तैयारी '' पढ़ते ही ज़ुबान पर आ गया .शाह का यह बयां मोदी के द्वारा नोटबंदी की आड़ मे



पाकिस्तान से युद्ध करने से क्यों पीछे हट रहें है मोदी

मे बताता हूँ कि पाकिस्तान से युद्ध करने से क्यों पीछे हट रहे है मोदी..... ध्यान से पूरा पढना.. यह पोस्ट लाइक्स के लिए नहीं लिखी है, पढ़कर कुछ सकारात्मक लगे, अंतरात्मा जागे तो शेयर अवश्य करें.. दरअसल प्रधानमंत्री मोदी की ये हालत तुम्हारे कुकर्मो का फल है..(कांग्रेस और वामपंथियों) ने कहाँ भारत के रक्ष





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x