आईवीएफ

1


टेस्ट ट्यूब बेबी और नॉर्मल शिशु में क्या फ़र्क है ?

बच्चे न होना (बांझपन) एक ऐसी समस्या है जो एक महिला को मानसिक रूप से परेशान कर देती है। बच्चे की चाहत और असफलताओं के दौर से गुज़रने पर एक महिला अंदर से कमजोर हो जाती है। ऐसे में निसंतान दंपत्ति के लिए ज़िंदगी में आशा की किरण है आईवीएफ तकनीक, जिसका आविष्कार लगभग चालीस वर



फैलोपियन ट्यूब के लिए एचएसजी टेस्ट

अगर आपमाँ बनना चाहती हैं और आपका सपना पूरा नहीं हो रहा है तो इस समस्या को नज़रअंदाज़न करके तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ताकि समस्या के जड़ तक पहुँचा जा सके औरसमय रहते इसका इलाज संभव हो सके। फैलोपियनट्यूब की समस्याओं का पता लगाने के लिए डॉक्टर कई तरह के टेस्ट करते



आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब शिशु अन्य आम शिशुओं से कैसे भिन्न होते हैं?

आईवीएफ की सहायता से एक टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म होता है, जो कई प्रकार के मेडिकल और सर्जिकल प्रोसीजर से गुज़रना पड़ता है।आईवीएफ प्रक्रिया के द्वारा सफल फर्टिलाइजेशन के लिए महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म में कुछ सुधार किया जाता है।जब कोई महिला और पुरुष यानि की कोई दंपत्ति प्राकृतिक या सामान्य रूप से



आईवीएफ क्या है?

IVF की प्रक्रिया आईवीएफ प्रकिया में इन-विट्रो-फर्टिलाइज़ेशन, गर्भधारण की एक आर्टिफिशयल सहायक प्रजनन प्रक्रिया के नाम से जानी जाती है। आईवीएफ उपचार एक प्रकार की फर्टिलिटी प्रकिया है।जिन महिला,पुरूषों के जोडों को प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करने में समस्या होती है,वो आईवीएफअर्थात् टेस्ट ट्यूब बेबी की



भारत में टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च कितना है?

चिकित्सीय विज्ञान में इन विट्रो फ़र्टिलाइज़ेशन यानी आईवीएफ तकनीक उन महिलाओं के लिए वरदान है जो माँ बनने की चाह रखते हुए भी गर्भावस्था का सुख नहीं ले पाती है। आईवीएफ तकनीक यानि टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया, बांझपन के उपचार में काफी कारगर



आईयूआई उपचार के प्रकार और उपचार से पहले किए जाने वाले टेस्ट!

आईयूआई ट्रीटमेंट एक सामान्य प्रजनन उपचार है। कई जोड़े जिन्हें गर्भधारण करने में परेशानी हो रही है, वे आईवीएफ से पहले आईयूआई से गर्भधारण का विकल्प आज़माते हैं। आईयूआई के उपचार के प्रकार निम्न हैं : इंट्रासर्विकल इनसेमिनेशनसबसे पुरानी और सबसे सामान्य कृत्रिम गर्भाधान प्रक्रिया में से एक है। जिसमें गर्भ



आईवीएफ ट्रीटमेंट की प्रक्रिया से पहले महिलाओं के लिए किये जाने वाले टेस्ट

आईवीएफ ट्रीटमेंट की प्रक्रिया से पहले महिलाओं को टेस्ट, अलग-अलग जांच की जाती है और कई तरह के टेस्ट करवाए जाते हैं। करने की सलाह दी जाती है। जिससे आईवीएफ की प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरह की समस्या न हो और ट्रीटमेंट सफल रहे। बांझपन का निदान करने के लिए किए गए परीक्षणों



आईवीएफ व टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है ? आईवीएफ की जरूरत किसे होती है ?

आईवीएफ़ जिसे बहुत से लोग टेस्ट ट्यूब बेबी के नाम से भी जानते हैं। आईवीएफ उन दम्पत्तियों के लिए वरदान है जो कई कारणों से बच्चे का सुख प्राप्त नहीं कर पाते हैं। आईवीएफ़ एक प्रकार की सहायक प्रजनन तकनीक है। इस तकनीक में सबसे पहले अधिक अंडों के उत्पादन के लिए महिला के गर्भा





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x