जिन्दगी

1


अरमान

बिखरे अरमानो को छोड, देना सही हैं क्या ??एक बार हारे हैं बस. दुसरा मौका नही हैं क्या ?? क्यो बोझ ढो रहे हो असफलता का . मन में हौसलो की कमी हैं क्या ?? ठान लो तो जीत हैं .. मान लो तो हार... जिंदगी का सफर ही हैं रुमानी तुम्हारे लिए जीतने से ज्यादा सीखना नही हैं क्या ? ? ?



jindgi ki hakikat

Jindagi ki hakikatप्रिय स्नेही मित्रों जय श्रीकृष्णा *जिंदगी की हकीकत एक प्रेरक प्रसंग = एक सभा में गुरु जी ने प्रवचन के दौरान**एक 30 वर्षीय युवक को खडा कर पूछा कि* *- आप मुम्बई मेँ जुहू चौपाटी पर चल रहे हैं और सामने से एक सुन्दर लडकी आ रही है तो आप क्या करोगे ?* *य



35+ बेस्ट लाइन फॉर लाइफ इन हिंदी (best line for life in hindi)

दोस्तों हम आपके लिए बेस्ट लाइन फॉर लाइफ इन हिंदी (best line for life in hindi) में लाए है और ये उम्मीद करते है कि ये कोट्स आपके जीवन में किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए प्रेरक के तौर पर काम करेगा। अक्सर कई



हमजोली

वह मुझसे , मैं उससे थोड़ाखिंचे-खिंचे से रहते हैं ,होते हरदम साथ, मगरकुछ तने तने से रहते हैं !उससे मेरी यही शिकायतउसने मुझे नकारा है ,उसका कहना ,सदा चुनौती रखमुझको ललकारा है !मेरा कहना - कड़ी धूप मेंउसने मेरी परीक्षा लीजब आँधी तूफ़ान चलेमेरे सिर से छतरी हर ली!जब मैं अपने घाव गिना करदोषी उसे



साथ

साथ तुम दो जो अगर जिंदगी बदल जाये ,मुश्किलों के सभी हल आज ही निकल जाये, आये दिन लड़खड़ाते रहते हैं ये मेरे कदम,हाथ तुम थाम लो सारे कदम संभल जाये, इक तुम्हारी कमी से रब से गिले-शिक़वे हैं,तुम जो मिल जाओ शिकायत की शाम ढल जाये, यूँ मेरी राह को काँटों ने सजाया है मगर,साथ तुम जो चलो कलियाँ हजार खिल जाये, जि



मैं और मेरे दरमियाँ

ऐ जिन्दगी, इक तू ही तो है बस, मैं और मेरे दरमियाँ । खो सा गया हूँ मुझसे मैं, न जाने कहां! ढूंढता हूँ खुद को मैं, इस भीड़ में न जाने कहां? इक तू ही है बस और कुछ नहीं मेरा यहाँ! अब तू ही है बस मैं और मेरे दरमियाँ! ये रात है और कुछ कह रही



मुझे भी जगमगाना है

हो आँखों में भले आँसू, लबों को मुस्कुराना है,यहाँ सदियों से जीवन का,यही बेरंग फ़साना है,है मन में सिसकियाँ गहरी,दिलों में दर्द का आलम,मगर हालात के मारे को महफ़िल भी सजाना है,नहीं मंजिल है नजरों में, बहुत ही दूर जाना है,थके क़दमों को साहस को,हर इक पल ही मनाना है,खुद ही गिरना-सम्भलना है,खुद ही को कोसना अ



जिंदगी - लघुकथा

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML></o:RelyOnVML> <o:AllowPNG></o:AllowPNG> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w



ग़ज़ल (मौत के साये में जीती चार पल की जिन्दगी)

Hindi Sahitya Kavya Sanklan provides free publishing opportunity to poets to write their poems in hindi, OR hindi kavita and hindi poems for kids Hindi Sahitya | Hindi Poems | Hindi Kavita | hindi poems for kids



एक प्रशन

क्या हमें इस संसार में देवी देवता है | ज्यादातर लोग हाँ कहेंगे पर मेरे पास हाँ बोलने का कोई कारण ही नहीं है मैं जब भी भगवान का नाम ले कर कोई काम करता हूँ तो वो काम कभी पूरा नहीं हुआ अगर कोई काम पूरा हुआ भी तो बहुत लम्बे समय के बाद पूरा होता है | इसलिए इसलिए मैंने अब भगवान का नाम ले कर काम शुरू करना





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x