दोहावली"

1


"दोहावली" नमन शहीदों को नमन, नमन हिंद के वीर। हर हालत से निपटते, आप कुशल रणधीर।।

"दोहावली"नमन शहीदों को नमन, नमन हिंद के वीर।हर हालत से निपटते, आप कुशल रणधीर।।-1नतमस्तक यह देश है, आप दिए बलिदान।गर्व युगों से आप पर, करता भारत मान।।-2रुदन करे मेरी कलम, नयन हो रहे लाल।शब्द नहीं निःशब्द हूँ, कौन वीर का काल।।-3राजनयिक जी सभा में, करते हो संग्राम।जाओ सीमा पर लड़ो, खुश होगी आवाम।।-4वोट



"दोहावली"

"दोहावली"गली छोड़ कर क्यूँ गए, ओ मेरे मन मीतकोयल अब गाती नहीं, सुबह सुरीली गीत।।-1दूर जा रहें हैं सभी, जैसे जूनी रीत।गाँव छोड़ कर बस रहे, शहर अनोखी प्रीत।।-2सुना रहे हैं अब सभी, अपने मन की गीत।मानों ओझल हो गई, लोक प्रीत संगीत।।-3बूढ़ी दादी की कथा, अरु चौपाली हीत।शंकित लगती चाल है, दम्भित लगते मीत।।-4फै



"दोहावली"

"विधा- दोहा"बादल है आकाश में, लेकर अपना ढंगइंद्रधनुष की नभ छटा, चर्चित सातों रंग।।-1दाँतों में विष भर चला, काला नाग भुजंग।नाम सुने तो डर गए, सर्प मुलायम अंग।।-2जीवन की अपनी व्यथा, हर जीवों के संग।इक दूजे को हम सभी, क्यों करते हैं तंग।।-3सरेआम होता गया, नियम नगर का भंग।कभी टूटते हैं महल, कभी झोपड़ी तं





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x