पञ्चमी

1


वसन्त पञ्चमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

वसन्त पञ्चमी की हार्दिक शुभकामनाएँआया वसन्त, आया वसन्त, लो फिर से मदिराया वसन्त | वसुधा के कोने कोने में छाया वसन्त छाया वसन्त ||लो फिर से है आया वसन्त, लो फिर से मुस्कायावसन्त |हरियाली धरती को मदमस्त बनाता लो आया वसन्त ||और अंग अंग में मधु की मस्त बहारों सा छाया वसन्त |आया वसन्त, आया वसन्त, लो फिर



भाद्रपद शुक्ल पञ्चमी

भाद्रपद शुक्लपञ्चमीकल रविवार को भाद्रपद शुक्ल द्वितीया यानीहरतालिका तीज का व्रत है | उसके बाद सोमवार से श्री गणेश चतुर्थी से गणपति कीउपासना का दशदिवसीय पर्व आरम्भ हो जाएगा | मंगलवार को भाद्रपद शुक्ल पञ्चमी – जो किऋषि पंचमी के नाम से जानी जाती है | और मंगलवार से ही दिगम्बर जैन सम्प्रदाय कादशदिवसीय पर



वसन्त पञ्चमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

लो फिर से मदिराया वसन्त कल वसन्त पञ्चमी – प्रकृति के उत्सव का वासन्ती पर्व समस्त उत्तर भारत में मनाया जाएगा और हमसब ज्ञान विज्ञान की देवी माँ वाणी का अभिनन्दन करेंगे | ज्ञान यानी शक्ति प्राप्तकरना, सम्मान प्राप्त करना | ज्ञानार्जन करके व्यक्ति न केवल भौतिक जीवन में प्रगति कर सकता हैअपितु मोक्ष की ओर



भाद्रपद शुक्ल पञ्चमी - ऋषि पञ्चमी - पर्यूषण पर्व

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:Save





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x