पर्



पर्यावरण संरक्षण गौ वंश का सही प्रोयग

मृत्यु अंतिम सत्य तो अन्त्येष्टि जीवन का आखिरी संस्कार है। इसके लिए लकड़ी की चिता पर अंतिम संस्कार की मान्यता अब पर्यावरण के लिए नुकसानदेह साबित होने लगी है और हजारों की संख्या में पेड़ कटने से जीवन के लिए खतरा दिन-ओ-दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि विद्युत शव दाह गृह का विकल्प दिया गया लेकिन यह विकल्प



बेपनाह प्यार: प्रगति ने रघबीर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बानी के बारे में उत्तेजित किया | आई डब्लयू एम बज

कलर्स टीवी का प्रसिद्ध शो बेपनाह प्यार बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा प्रोड्यूस में काफी ड्रामा देखा जा रहा है जहा दर्शकों के सामने आ चुका है कि प्रगति (इशिता दत्ता) की असली पहचान बानी ही है।अब प्रगति रघबीर (पर्ल वी पूरी) का सच सभी के सामने लाने के लिए हर कोशिश कर रही है।हमने



क्या-क्या नहीं करता है पेड़ दिनभर...

दिनकर की धूप पाकर भोजन बनाता है पेड़ दिनभर,लक्ष्यहीन अतरंगित असम्पृक्त को भटकन से उबारता है पेड़ दिनभर। चतुर्दिक फैली ज़हरीली हवा निगलता है पेड़ दिनभर, मुफ़्त मयस्सर प्राणवायु उगलता है पेड़ दिनभर। नीले शून्य में बादलों को दिलभर रिझाता है पेड़ दिनभर, आते-जाते थके-हारे परि



इस एप्लीकेशन से आप 25000 तक पर्सनल लोन ले सकते हैं।

दोस्तों हम में से कई लोगों को पर्सनल लोन लेना होता है मगर हमारे पास उसको लेने के लिए इनकम प्रूफ नहीं होता है इसलिए हम लोन नहीं ले पाते हैं। दोस्तों अगर आपको बिना इनकम प्रूफ के ऑनलाइन पर्सनल लोन लेना है तो आप सही जगह पर आए हैं हम ऐसे पोस्ट लिखते रहते हैं जिनमें बिना इनकम प्रूफ के आप आसानी से पर्सनल ल



पेड़-पौधे प्रकृति की आत्मा और प्राकृतिक सुंदरता के घर होते हैं

हमारा घर चार मंजिला इमारत के भूतल पर स्थित है। प्रायः भूतल पर स्थित सरकारी मकानों की स्थिति ऊपरी मंजिलों में रहने वालों के जब-तब घर भर का कूड़ा-करकट फेंकते रहने की आदत के चलते किसी कूड़ेदान से कम नहीं रहती है, फिर भी एक अच्छी बात यह रहती है कि यहां थोड़ी-बहुत मेहनत मशक्कत कर पेड़-पौधे लगाने के लिए जगह न



कैलाश पर्वत के बारे में कुछ ऐसी बातें जो आपको नहीं पता होगी।

कैसे हो दोस्तों आज मैं आपसे कैलाश पर्वत के बारे में बताने वाला हूं ऐसे कुछ रहस्य है कैलाश पर्वत के बारे में जो आज तक सुलझाए नहीं गए हैं। कैलाश पर्वत पर चढ़ने वाली पर्वतारोहियों के पैर कोन रोक देता है ? यह दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत नहीं है फिर भी क्यों यह अजय है ? क्या



होम कपोस्टिंग

प्रत्येक गृहस्थी में रोज सब्जियों व फलों के छिलके फेंके जाते हैं जोकचरे के साथ पर्यावरण में गन्दगी फैलाते हैं; गैस पैदा करते हैं और सड़ कर नष्ट होजाते है. थोड़े से ही ध्यान और कष्ट से इन छिलकों को घर में ही compost में बदलसकते हैं. यह कम्पोट आपके घरेलु बाग़ में ही काम आ



बेपनाह प्यार SPOILER ALERT: रघुबीर को प्रगति से प्यार हो जायेगा | आई डब्लयू एम बज

बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा निर्मित कलर्स का शो बेपनाह प्यार अपने गहन ट्रैक के साथ सभी साज़िशों को दिखा कर रहा है। जबकि बड़ी माँ की वापसी, जो कि देवराज (आशीष कौल) की पहली पत्नी है, ने हमें आश्चर्यचकित कर दिया है कि क्या यह चरित्र ऐसा दिखता है, या वह वो है जो रघुबीर (पर्ल वी



पर्ल वी पूरी ने नागिन ३ के को स्टार्स सुरभी ज्योति, करिश्मा तन्ना, अनीता हसनंदानी के साथ मनाया अपना जन्मदिन | आई डब्लयू एम बज

टीवी की धड़कन पर्ल वी पूरी जिन्होंने कलर्स के शो नागिन ३ में माहिर के किरदार से सबका मनोरजंन किया और अब दर्शकों को कलर्स के बेपनाह प्यार से मनोरंजित कर रहे है अब और एक वर्ष बड़े हो गए है।अभिनेता ने सोनी टीवी के शो दिल कि नजर से खूबसरत से डेब्यू किया था। उनके सफल अभिनय की



पर्यावरण अधिकारी

प्रकृति की, स्तब्धकारी ख़ामोशी की, गहन व्याख्या करते-करते, पुरखा-पुरखिन भी निढाल हो गये, सागर, नदियाँ, झरने, पर्वत-पहाड़, पोखर-ताल, जीवधारी, हरियाली, झाड़-झँखाड़,क्या मानव के मातहत निहाल हो गये?नहीं!... कदापि नहीं!!औद्योगिक क्राँति, पूँजी का ध्रुवीकरण, बेचारा सहमा सकुचाया मा



विश्व पर्यावरण दिवस

विश्व पर्यावरण दिवसमनुष्य ही नहीं समस्तप्राणीमात्र – सृष्टि के समस्त जीव - इस स्वयंभू शाश्वत और विहंगम प्रकृति का अंगहै | इसी से समस्त जीवों की उत्पत्ति हुई है | प्रकृति के विकास के साथ ही हम सबकाभी विकास होता है यानी विकास यात्रा में हम प्रकृति के सहचर हैं – सहगामी हैं |प्रदूषित पर्यावरण के द्वारा



पेड़ हैं तो जीवन है है

अंतरराष्ट्रीय वन दिवस शिक्षा पर केंद्रित है। वनों को आंदोलन के रूप में खड़ा करने के लिए शिक्षा के रास्ते तलाशने होंगे। इस शिक्षा की जरूरत हर स्तर पर है, जो घर-गांवों से लेकर शहरों से जुड़नी चाहिए, क्योंकि वनों के प्रति हमारी बेरुखी ने इन्हें हमसे दूर कर दिया है। फैशन के तौर हर पर्व से लेकर उद्घाटनों त



‘‘पर्रिकर’’ ‘‘वाद’’ को ढूँढता मेरा देश। ‘व’’ ‘‘गांधीवाद’’ से चलकर ‘‘पर्रिकरवाद’’ तक पहुंचने का सुखद अहसास!

देश के प्रथम आई.आईटी शिक्षा प्राप्त (गोवा के) मुख्यमंत्री एवं पूर्व रक्षामंत्री डॉ. मनोहर गोपाल कृष्ण प्रभु पर्रिकर लम्बी बीमारी से अदम्य आत्मबल के साथ लड़ते हुये अब इस दुनिया में नहीं रहे और ‘‘स्वर्गवासी’’ हो गये। याद कीजिये! विधानसभा में बजट प्रस्तुत करते समय उनका वह चेहरा, जो चिकित्सकीय उप



होली :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*भारतवर्ष त्यौहारों का देश है | समय समय पर होने वाले त्यौहार एवं उनकी विशालता ही हमारे देश को अन्य देशों से अलग करती है | सभी त्यौहारों में "होली" का विशिष्ट स्थान है | यह त्यौहार हमारे ही देश में नहीं वरन सम्पूर्ण विश्व में पूर्ण हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है | होली से जुड़ी कई पौराणिक कथायें मिल



अष्टाह्निक पर्व

अष्टाह्निक पर्वआजसे जैन समुदाय का फाल्गुन मास का अष्टाह्निक पर्व आरम्भ हो गया है | अष्टाह्निकपर्व वर्ष में तीन बार आते हैं – आषाढ़ मास में, कार्तिक मास में और फाल्गुन मासमें | इन तीनों महीनों की शुक्ल पक्ष की अष्टमी से आरम्भ होकर पूर्णिमा तक आठ दिनोंतक यह पर्व चलता है | क्योंकि फाल्गुन शुक्ल अष्टमी क



क्रोकोडाइल हंटर : गूगल ने डूडल बनाकर स्टीव इरविन को किया याद…

स्टीव इर्विन, इसनाम को सुनकर पहचानने में भले ही आपको कुछ वक्त लगे लेकिन तस्वीर देखते ही आपउन्हें पहचान गए होंगे ।क्रोकोडाइल हंटर के नाम से मशहूर इर्विन अब हमारे बीच नहीं लेकिन मगरमच्छों के साथउनकी उठा-पटक और उनके द्वारा दी जाने वाली रोचक जानकारी हम सभी के जहन में कहीं



'दादी' के आते ही घर-आंगन से रूठा वसंत लौट आया ...

हम चार मंजिला बिल्डिंग के सबसे निचले वाले माले में रहते हैं। यूँ तो सरकारी मकानों में सबसे निचले वाले घर की स्थिति ऊपरी मंजिलों में रहने वाले लागों के जब-तब घर-भर का कूड़ा-करकट फेंकते रहने की आदत के चलते कूड़ेदान सी बनी रहती है, फिर भी यहाँ एक सुकून वाली बात जरूर है कि बागवानी के लिए पर्याप्त जगह न



क्या यूनिफार्म सिविल कोड की जरुरत है

हाल के माननीय सुप्रीम कोर्ट का तीन तलाक कोअसैम्बधानिक करार देने से ,फिर से यूनिफार्म सिविल कोड की मांग समाज मे उठाने लगी है | यूनिफार्म सिविल कोडक्या है ?यहनियमो का वह सेट है जो भारत मे विभिन्न पर्सनल लॉ को समाप्त कर एक ही पर्सनल लॉबनाएगा जो सभी धर्मो पर लागु होगा | हलाकि इस सम्बन्ध मे अभी तक सरकार



लोहड़ी उत्स्व एवं श्री गुरु गोविंद सिंह जी की 352 वीं जयंती पर्व

लोहड़ी एवं श्री गुरु गोविन्द सिंह जी की 352 वीं जयंती पर्वडॉ शोभा भारद्वाजलोहड़ी का पर्व एवं खालसा पन्थके संस्थापक गुरु गोविंद सिंह जी की 352 वी जयंती एक दिन मनाई जा रही है प्रधानमंत्री जी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कई केन्द्रीय मंत्रियों एवं पूर्व प्रधान मंत्री डॉ मनमोहन सिंह जी कीउपस्थिति में उनक



हाथ की छोटी ऊँगली में छुपे हैं पर्सनैलिटी के कई राज़, जाने क्या कहती है आपकी पिंकी फिंगर

कहते हैं हाथों की लकीरें इंसान की किस्मत से जुड़ी होती हैं और वैसे भी भारत में लोगों को अपना भविष्य जानने में बहुत दिलचस्पी होती है। तक की अपने ही नेचर औऱ अपनी ही बातों को उन्हें दूसरों से जानने का बहुत मन करता है। ऐसे में बहुत से लोग हैं जो हस्त विद् का ज्ञान जानने वालों के पास जाते हैं। वह लोग जो



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x