पर्



नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध कोरी रजनीति

नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध कोरी राजनीतिडॉ शोभा भारद्वाज‘अनेक बुद्धिजीवी जिनमें मुस्लिम भी शामिल हैं ’नें मुस्लिन समाज को समझाने की कोशिश की है नागरिकता संशोधन विधेयक का किसी भी भारतीय की नागरिकता से कोई सम्बन्ध नहीं है फिर भी विरोध प्रदर्शन के बहाने तोड़फोड़ हिंसा क्यों ?मुस्लिम समाज कई राजनीतिक



बाल दिवस : बच्चों, तुम्हें गंदे स्पर्श, पकड़ और अश्लील इशारों को समझना होगा...

मेरे बच्चों,सचेत रहना... बस कल ही गुड़िया मुझसे यह सवाल पूछ रही थी, 'मम्मी यौन उत्पीड़न का मतलब क्या होता है?' मैने खुद को संयत करने की कोशिश की थी। मैं अपने चेहरे पर 'जोएल' (बेटा) की आंकती हुई नज़र को महसूस कर सकती थी। वह मेरे भीतर चलते द्



कैसे रुके वायु प्रदूषण :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*पंचतत्त्वों से बने मनुष्य को इस धरा धाम पर जीवन जीने के लिए मनुष्य को पंचतत्वों की आवश्यकता होती है | रहने के लिए धरती , ताप के लिए अग्नि , पीने के लिए पानी , सर ढकने के लिए आसमान , एवं जीवित रहने के लिए वायु की आवश्यकता होती है | मनुष्य प्रत्येक श्वांस में वायु ग्रहण करता है | श्वांस लेने के लिए



पवित्र मास कार्तिक ...

https://duniaabhiabhi.com/holy-month-karthik-the-perfect-occasion-for-merit/



विप्र धेनु सुर संत हित लीन मनुज अवतार

विप्र धेनु सुर संत हित लीन्ह मनुज अवतार डॉ शोभा भारद्वाज रावण के भय से सम्पूर्ण ब्रह्मांड थर्राने लगा दस सिर बीस भुजाओं एवं ब्रह्मा जी से अमरत्वका वरदान प्राप्त राक्षस राज रावण निर्भय निशंक विचर रहा था हरेक को युद्ध मेंललकारता |रावण का पुत्र मेघनाथमहत्वकांक्षी ,रावण के समान बलशाली पिताको समर्पित



समय गणना की वैदिक पद्धति

तिथि के लिए आकाश-दर्शन तथा वेधशाला का प्रयोग(वैदिक पञ्चाङ्गपद्धति में वेधशाला तथा दृक् गणना की उपयाेगिता)------------हरितालिका तृतीया (तीजा) पर्व सेप्टेम्बर १ तारिख (भाद्र १५ आदित्यवार) को अथवा २ तारिख (भाद्र १६ सोमवार) को मनाना चाहिए इस विषय में विज्ञों के बीच विवाद चल रहा है । इस प्रसङ्ग में वैदि



Archana Ki Rachna: Preview "देखो फिर आई दीपावली"

देखो फिर आई दीपावली, देखो फिर आई दीपावलीअन्धकार पर प्रकाश पर्व की दीपावली नयी उमीदों नयी खुशियों की दीपावली हमारी संस्कृति और धरोहर की पहचान दीपावली जिसे बना दिया हमने "दिवाली"जो कभी थी दीपों की आवलीजब श्री राम पधारे अयोघ्या नगरीलंका पर विजय पाने के बादउनके मार्ग में अँ



राधाष्टमी :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*संपूर्ण सृष्टि का सार प्रेम को कहा गया है | प्रेम क्या होता है ?? प्रेम में क्या प्राप्त होता है ?? यदि इसका दर्शन करना हो तो श्री राधारानी का जीवन चरित्र अवश्य देखना चाहिए | जिनके नाम के बिना भगवान कृष्ण का नाम अधूरा माना जाता है , जिनकी पूजा किए बिना भगवान श्री कृष्ण नहीं प्राप्त हो पाते हैं , ऐस



पर्यूषण पर्व - दशलाक्षण पर्व

पर्यूषण पर्व - दशलाक्षण पर्वमित्रों !भाद्रपद कृष्ण द्वादशी से भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी तक चलने वाला श्वेताम्बर जैनसम्प्रदाय का अष्टदिवसीय पर्यूषण पर्व कल संपन्न हुआ है और आज यानी भाद्रपद शुक्लपञ्चमी से दिगंबर जैन सम्प्रदाय के दशदिवसीय पर्यूषण पर्व अर्थात क्षमावाणी पर्व औरदशलाक्षण पर्व का आरम्भ हो चुका



भाद्रपद शुक्ल पञ्चमी

भाद्रपद शुक्लपञ्चमीकल रविवार को भाद्रपद शुक्ल द्वितीया यानीहरतालिका तीज का व्रत है | उसके बाद सोमवार से श्री गणेश चतुर्थी से गणपति कीउपासना का दशदिवसीय पर्व आरम्भ हो जाएगा | मंगलवार को भाद्रपद शुक्ल पञ्चमी – जो किऋषि पंचमी के नाम से जानी जाती है | और मंगलवार से ही दिगम्बर जैन सम्प्रदाय कादशदिवसीय पर



पर्यावरण संरक्षण गौ वंश का सही प्रोयग

मृत्यु अंतिम सत्य तो अन्त्येष्टि जीवन का आखिरी संस्कार है। इसके लिए लकड़ी की चिता पर अंतिम संस्कार की मान्यता अब पर्यावरण के लिए नुकसानदेह साबित होने लगी है और हजारों की संख्या में पेड़ कटने से जीवन के लिए खतरा दिन-ओ-दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि विद्युत शव दाह गृह का विकल्प दिया गया लेकिन यह विकल्प



बेपनाह प्यार: प्रगति ने रघबीर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बानी के बारे में उत्तेजित किया | आई डब्लयू एम बज

कलर्स टीवी का प्रसिद्ध शो बेपनाह प्यार बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा प्रोड्यूस में काफी ड्रामा देखा जा रहा है जहा दर्शकों के सामने आ चुका है कि प्रगति (इशिता दत्ता) की असली पहचान बानी ही है।अब प्रगति रघबीर (पर्ल वी पूरी) का सच सभी के सामने लाने के लिए हर कोशिश कर रही है।हमने



क्या-क्या नहीं करता है पेड़ दिनभर...

दिनकर की धूप पाकर भोजन बनाता है पेड़ दिनभर,लक्ष्यहीन अतरंगित असम्पृक्त को भटकन से उबारता है पेड़ दिनभर। चतुर्दिक फैली ज़हरीली हवा निगलता है पेड़ दिनभर, मुफ़्त मयस्सर प्राणवायु उगलता है पेड़ दिनभर। नीले शून्य में बादलों को दिलभर रिझाता है पेड़ दिनभर, आते-जाते थके-हारे परि



इस एप्लीकेशन से आप 25000 तक पर्सनल लोन ले सकते हैं।

दोस्तों हम में से कई लोगों को पर्सनल लोन लेना होता है मगर हमारे पास उसको लेने के लिए इनकम प्रूफ नहीं होता है इसलिए हम लोन नहीं ले पाते हैं। दोस्तों अगर आपको बिना इनकम प्रूफ के ऑनलाइन पर्सनल लोन लेना है तो आप सही जगह पर आए हैं हम ऐसे पोस्ट लिखते रहते हैं जिनमें बिना इनकम प्रूफ के आप आसानी से पर्सनल ल



पेड़-पौधे प्रकृति की आत्मा और प्राकृतिक सुंदरता के घर होते हैं

हमारा घर चार मंजिला इमारत के भूतल पर स्थित है। प्रायः भूतल पर स्थित सरकारी मकानों की स्थिति ऊपरी मंजिलों में रहने वालों के जब-तब घर भर का कूड़ा-करकट फेंकते रहने की आदत के चलते किसी कूड़ेदान से कम नहीं रहती है, फिर भी एक अच्छी बात यह रहती है कि यहां थोड़ी-बहुत मेहनत मशक्कत कर पेड़-पौधे लगाने के लिए जगह न



कैलाश पर्वत के बारे में कुछ ऐसी बातें जो आपको नहीं पता होगी।

कैसे हो दोस्तों आज मैं आपसे कैलाश पर्वत के बारे में बताने वाला हूं ऐसे कुछ रहस्य है कैलाश पर्वत के बारे में जो आज तक सुलझाए नहीं गए हैं। कैलाश पर्वत पर चढ़ने वाली पर्वतारोहियों के पैर कोन रोक देता है ? यह दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत नहीं है फिर भी क्यों यह अजय है ? क्या



होम कपोस्टिंग

प्रत्येक गृहस्थी में रोज सब्जियों व फलों के छिलके फेंके जाते हैं जोकचरे के साथ पर्यावरण में गन्दगी फैलाते हैं; गैस पैदा करते हैं और सड़ कर नष्ट होजाते है. थोड़े से ही ध्यान और कष्ट से इन छिलकों को घर में ही compost में बदलसकते हैं. यह कम्पोट आपके घरेलु बाग़ में ही काम आ



बेपनाह प्यार SPOILER ALERT: रघुबीर को प्रगति से प्यार हो जायेगा | आई डब्लयू एम बज

बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा निर्मित कलर्स का शो बेपनाह प्यार अपने गहन ट्रैक के साथ सभी साज़िशों को दिखा कर रहा है। जबकि बड़ी माँ की वापसी, जो कि देवराज (आशीष कौल) की पहली पत्नी है, ने हमें आश्चर्यचकित कर दिया है कि क्या यह चरित्र ऐसा दिखता है, या वह वो है जो रघुबीर (पर्ल वी



पर्ल वी पूरी ने नागिन ३ के को स्टार्स सुरभी ज्योति, करिश्मा तन्ना, अनीता हसनंदानी के साथ मनाया अपना जन्मदिन | आई डब्लयू एम बज

टीवी की धड़कन पर्ल वी पूरी जिन्होंने कलर्स के शो नागिन ३ में माहिर के किरदार से सबका मनोरजंन किया और अब दर्शकों को कलर्स के बेपनाह प्यार से मनोरंजित कर रहे है अब और एक वर्ष बड़े हो गए है।अभिनेता ने सोनी टीवी के शो दिल कि नजर से खूबसरत से डेब्यू किया था। उनके सफल अभिनय की



पर्यावरण अधिकारी

प्रकृति की, स्तब्धकारी ख़ामोशी की, गहन व्याख्या करते-करते, पुरखा-पुरखिन भी निढाल हो गये, सागर, नदियाँ, झरने, पर्वत-पहाड़, पोखर-ताल, जीवधारी, हरियाली, झाड़-झँखाड़,क्या मानव के मातहत निहाल हो गये?नहीं!... कदापि नहीं!!औद्योगिक क्राँति, पूँजी का ध्रुवीकरण, बेचारा सहमा सकुचाया मा



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x