प्रेगनेंसी

1


प्रसवपूर्व देखभाल क्या है? इसके क्या उद्देश्य हैं और कब लें अपॉइंटमेंट डॉक्टर्स से !

गर्भावस्था के दौरान माँ व उसके बच्चे की सुरक्षा के लिए नियमित जांच व देखभाल प्रसवपूर्व देखभाल कहलाती है। प्रेगनेंसी के समय बहुत-सी बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। गर्भावस्था के दौरान प्रसवपूर्व देखरेख आपको और आपके गर्भस्थ शिशु को स्वस्थ रखने में मदद करती है। प्रे



टेस्ट ट्यूब बेबी और नॉर्मल शिशु में क्या फ़र्क है ?

बच्चे न होना (बांझपन) एक ऐसी समस्या है जो एक महिला को मानसिक रूप से परेशान कर देती है। बच्चे की चाहत और असफलताओं के दौर से गुज़रने पर एक महिला अंदर से कमजोर हो जाती है। ऐसे में निसंतान दंपत्ति के लिए ज़िंदगी में आशा की किरण है आईवीएफ तकनीक, जिसका आविष्कार लगभग चालीस वर



भारत में टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च कितना है?

चिकित्सीय विज्ञान में इन विट्रो फ़र्टिलाइज़ेशन यानी आईवीएफ तकनीक उन महिलाओं के लिए वरदान है जो माँ बनने की चाह रखते हुए भी गर्भावस्था का सुख नहीं ले पाती है। आईवीएफ तकनीक यानि टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया, बांझपन के उपचार में काफी कारगर



महिलाओं के लिए आईयूआई उपचार से पहले किए जाने वाले टेस्ट और जांच!

आईयूआई की प्रक्रिया की ओर रूख करने से पहले डॉक्टर की ओर से महिला को कई तरह के टेस्ट करने की सलाह दी जाती है। ये टेस्ट इसलिए किये जाते हैं ताकि प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरह की समस्या न हो और ट्रीटमेंट सफल हो सके।1. सामान्य स्क्रीनिंग टेस्ट - संक्रामक, आनुवंशिकसंक्राम



एम्ब्र्यो फ्रीजिंग के बारे में जाने !

एम्ब्र्यो फ्रीजिंगएम्ब्र्यो फ्रीजिंग एक चिकित्सीय प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक भ्रूण (शुक्राणुओं द्वारा फर्टिलाइजड अंडे) को एक प्रयोगशाला में तरल नाइट्रोजन में प्रीज़र्व किया जाता है। इसके बाद यह सुनिश्चित किया जाता है कि भ्रूण अगले कुछ वर्षों तक सस्पेंडेड एनीमेशन की स्थिति में रहे। भ्रूण को पाँच से



नॉर्मल डिलीवरी या सामान्य प्रसव की प्रक्रिया के चरण

सामान्य प्रसव के तीन चरण और सामान्य डिलीवरी में कितना समय लगता है :1. सामान्य डिलीवरी का पहला चरणसामान्य डिलीवरी के पहले चरण के तीन फेज़ निम्न हैं :अर्लि या लेटेंट फेज़पहली गर्भावस्था में लेटेंट फेज़ छह से दस घंटे तक रहता है। कुछ मामलों में यह अधिक लंबा या कम समय का भी हो सकता है। इस चरण में सर्विक्स (



आईयूआई उपचार के प्रकार और उपचार से पहले किए जाने वाले टेस्ट!

आईयूआई ट्रीटमेंट एक सामान्य प्रजनन उपचार है। कई जोड़े जिन्हें गर्भधारण करने में परेशानी हो रही है, वे आईवीएफ से पहले आईयूआई से गर्भधारण का विकल्प आज़माते हैं। आईयूआई के उपचार के प्रकार निम्न हैं : इंट्रासर्विकल इनसेमिनेशनसबसे पुरानी और सबसे सामान्य कृत्रिम गर्भाधान प्रक्रिया में से एक है। जिसमें गर्भ



प्रेगनेंसी किट खरीदने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें क्या हैं?

प्रेगनेंसी टेस्ट किट खरीदने से पहले निम्नलिखित बातों पर ध्यान रखे:किसी भी अच्छी मेडिकल स्टोर से या भी ऑनलाइन, प्रेगनेंसी किट को खरीदनी चाहिए। विशेषज्ञयों के अनुसार प्रेगनेंसी किट ऐसे स्टोर से खरीदनी चाहिए जिस दुकान में प्रेगनेंसी किट की बिक्री अधिक हो,जिससे पुरानी प्रेगनेंसी किट मिलने की संभावना बहु



प्रेगनेंसी टेस्ट का महत्व क्या होता है?

प्रेगनेंसी टेस्ट का महत्व क्या होता है?महिलाओं के द्वारा गर्भावस्था टेस्ट करवाना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। एक बार जब गर्भावस्था परीक्षण में महिलाओं के गर्भधारण का पता चल जाता है,तो तब महिलाओं को महिला उसके अनुसार अपनी रोज की जीवनशैली में परिवर्तन कर सकती है।इसके साथ ही साथ गर्भधारण का पता लगाने



आईवीएफ व टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है ? आईवीएफ की जरूरत किसे होती है ?

आईवीएफ़ जिसे बहुत से लोग टेस्ट ट्यूब बेबी के नाम से भी जानते हैं। आईवीएफ उन दम्पत्तियों के लिए वरदान है जो कई कारणों से बच्चे का सुख प्राप्त नहीं कर पाते हैं। आईवीएफ़ एक प्रकार की सहायक प्रजनन तकनीक है। इस तकनीक में सबसे पहले अधिक अंडों के उत्पादन के लिए महिला के गर्भा



प्रेगनेंसी में गैस बनने की समस्या से पाएं छुटकारा || Gas Problem During Pregnancy In Hindi

प्रेग्नंसी के दौरान महिलाएं बहुत नाजुक दौर से गुजरती हैं और इस दौरान उन्हें बहुत सी समस्याएं भी होती है. इनमें चक्कर आना, थकावट, अपच, कब्ज या फिर गैस की समस्या हो जाती है. गैस की समस्या से गर्भवती महिला की तकलीफ और भी बढ़ जाती है और इससे उन्हें दर्द भी ज्यादा होता है और प्रेग्नेंट महिलाओं में ऐसी सम



प्रेग्नेंसी टिप्स से रखें अपना खास ख्याल || Pregnancy Care Tips IN Hindi

एक महिला के लिए मां बनना सबसे बड़ा सपना होता है और इस दौरान उसने अपना खास ख्याल नहीं रखा तो उन्हें बहुत ज्यादा परेशानी होती है. ज्यादातर महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान अपना वैसा ख्याल नहीं रख पाती हैं जैसा उन्हें असल में रखना चाहिए. उन्हें पता ही नहीं होता है कि गर्भवस्था के दौरान उन्हें अपना ख्याल कै





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x