-



गुस्से में झुंझलाकर या बस यूँ ही कुछ ऐसा कह जाते हैं जो हमें नहीं कहना चाहिए|हिंदी और इंग्लिश में

आज का प्रेरक प्रसंगहमारे दिन प्रतिदिन के जीवन में कई बार ऐसा होता है कि हम या तो बहुत गुस्से में झुंझलाकर या बस यूँ ही कुछ ऐसा कह जाते हैं जो हमें नहीं कहना चाहिए|एक बार एक किसान ने अपने पडोसी को भला बुरा कह दिया, पर जब बाद में उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह एक संत के पास गया| उसने संत से अपने शब्



‘‘चीन’’ का नाम ‘‘क्यों’’ नहीं लिया ? भारतीय? राष्ट्रीय? कांग्रेस!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘अचानक’ ‘‘लेह’’ (लद्दाख) की 11000 फुट की उंचाई पर स्थित अग्रिम चौकी ‘‘नीमू’’ पंहुचकर सैनिकों के बीच ‘‘दम’’ भर कर सेना की हौसला अफजाई की। यह कहकर कि ‘‘बहादुरी और साहस शांति की जरूरी शर्ते है, दुश्मन ने हमारे जवान की ताकत व गुस्से को देखा है‘‘। उक्त दौरे के बाद कांग्रेस क



भारत-चीन संघर्ष के निहितार्थ

विषय-भारत-चीन संघर्ष के निहितार्थचीन और भारत के बीच सप्ताह भर का तनाव इस सप्ताह घातक हो गया। यहाँ हम एक दूरस्थ हिमालयी क्षेत्र में होने वाली झड़पों के बारे में जानते हैं जो पड़ोसियों के बीच संबंधों को काफी खराब कर सकती हैं। और चीन के बीच तनाव कोई नई बात नहीं है। दोनों देश-जो दुनिया की सबसे लंबी अचिह



कोविड-19 और ऑनलाइन शिक्षा

कोविड-19 और ऑनलाइन शिक्षाCOVID-19 महामारी के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिये लागू किये गए लॉकडाउन के कारण नौकरी, धंधा, कारोबार, व्यापार और व्यवसाय के साथ - साथ स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय की शिक्षा प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो रही है। विशेष रूप से व्यावसायिक, चिकित्सकीय



‘‘आंकड़ों’’ के ‘‘खेल’’ की ‘‘बाजीगरी’’ द्वारा ‘‘कोरोना’’ पर ‘‘राजनीति’’क्यों?

कोरोना वायरस को भारत में आए 4 महीने पूर्ण हो चुके हैं। हमारे देश में प्रथम मरीज 30 जनवरी को केरल के ‘‘त्रिशूर’’ में आया था। ‘‘कोरोना’’ (कोविड़-19) राष्ट्रीय महामारी और आपदा के रूप में, हमारे देश के लिये एक अत्यंत चिंता का विषय था। इसलिए सत्ता और विपक्ष के साथ देश की संपूर्ण जनता 30 जनवरी को एक साथ खड़



कोरोना का कहर

मनुष्य पर छाई है छिपी अंधेरा, रूप धारण कर वाईरस कोरोना ।इसका अर्थ है मनुष्य पर भारी , क्योंकि है ये महामारी ।अब मानव की दशा क्या होगी ?क्या कोरोना की विदाई होगी ?देख दृश्य मन विचलित हो उठता, क्या यही है सभ्य की कृपा ।क्या यह , मानव जीवन सिहर उठेगा ?या संसार पुनः हिलस उठेगा ?



Jeetenge Hum Song Lyrics Hindi – Dhvani Bhanushali New Song

बड़े-बड़ो ने सुर लगाया जोर लगाया सारा हम उस देश के वासी है जो देश कभी ना हारा बड़े-बड़ो ने सुर लगाया जोर लगाया सारा हम उस देश के वासी है जो देश कभी ना हारा हा बोल मेरी आवाज में तू आवाज मिला के यारा हा बोल मेरी आवाज में तू आवाज मिला के यारा पुरे सांग क लिरिक्स देखने के लिए निचे लिंक पर क्लिक करे Jeetenge



सोनिया - राहुल बस यही करती है भाजपा

जगमगाते अपने तारे गगन पर गैर मुल्कों के ,तब घमंड से भारतीय सीने फुलाते हैं .टिमटिमायें दीप यहाँ आकर विदेशों से ,धिक्कार जैसे शब्द मुहं से निकल आते हैं ...... नौकरी करें हैं जाकर हिन्दुस्तानी और कहीं ,तब उसे भारतीयों की काबिलियत बताते हैं .करे सेवा बाहर से आकर गर कोई यहाँ ,हमारी संस्कृति की विशेषता ब



08 अप्रैल 2020

दूर ही रहना

प्यारे देशवासियों,आप सभी जानते हैं इन दिनों हमारा देश कोरोना वायरस जैसी महामारी से जूझ रहा है। यह एक ऐसी भयानक बीमारी है जो एक इंसान से दूसरे में और धीरे-धीरे समाज में फैलती है। आपस में ज़्यादा मिलने जुलने और संपर्क बढ़ने से इसका वायरस बहुत तेजी से फैलता है। सिर्फ एहतियात बरतकर ही इस बीमारी से बचा जा



ये लोग, खुद भी मरेंगे, हमको भी मारेंगे

आज 22 मार्च 2020 को, 'जनता कर्फ्यू' का आवाहन हुआ है, और देश ने तय किया की हम अपनी बालकनी या दरवाजों पे ख



सुबह जल्द ही मुस्कुराहट भरी होगी !

इस रात की सुबह जल्द ही मुस्कुराहटभरी होगी ! आज फिर ,उम्मीद को ओढ़े, सुबह बालकनी में बैठ गई ,पिछले कुछ दिनों की तरह, आज भी तो थी ... हर तरफ़ वही ख़ामोशी !बचपन भी तो सहम गया था ...इक्का- दुक्का लोग ही बाहर थे, टहलते हुए,रुक- रुक कर आती पक्षियों कीचहचहाहट प्रदूषण रहित, साफ़ हवा मगर मीठी- सी हलचल के बिना ..



एक आधुनिक पौराणिक कहानी

एक “आधुनिक” पौराणिक कहानीआप सभी नेपौराणिक कहानियों मेंपढ़ा हीहोगा किदेवताओं औरदानवों काबार बारयुद्ध होताथा, औरबार बारदेवता हारतेहुए, भगवान् (अर्थात भगवान् विष्णु ) के दरबारमें गुहारलगते थे–त्राहि माम,त्राहि माम.भगवान् फिरकिसी नएदेवी यादेवता कीरचना करकेदेवताओं कोशक्ति प्रदानकरते थे.देवता विजयीहोते थेऔ



kundali online

Do you want your Free Kundali Online? Well, Future Point is the only name that you should be concerned with when it comes to genuine astrological revelations and remedies for negating the problems slated to appear ahead in time! So don't wait and start your journey of knowing what the stars & planet



प्रेगा न्यूज़ और प्रेगनेंसी टेस्ट किट क्या है

यह किट किसी भी अच्छे मेडिकल दुकान पर आसानी से मिल जाता है



आजादी आजादी किससे आजादी कैसी आजादी

आजादी आजादी किससे आजादी कैसी आजादी ?डॉ शोभा भारद्वाज 15 अगस्त 1947 को आजाद भारत मेंतिरंगा फहराया गया था वतन आजाद हुआ था फिर आजादी के नारे क्यों ? इंकलाब ज़िंदाबादक्यों? कैसी आजादी चाहिए? क्या पड़ोसी देश चीन या पाकिस्तान जैसी? या 56 मुस्लिमदेशों जैसी वहाँ किसी को नागरि



मुहांसे या पिंपल्स के कारण

कील-मुहांसे पोर्स क्लॉग



अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता? दंगा धरना प्रदर्शन ,सड़क बंद मैनेजमेंट गुरुओं की कारस्तानी का एक नमूना शाहीन बाग़

अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता ? दंगा ,धरना प्रदर्शन सड़क बंद मैनेजमेंट गुरुओं की कारस्तानी काएक नमूना शाहीन बाग़ डॉ शोभा भारद्वाज देश विरोधी नारे , गांधी जी,अम्बेडकर के चित्र संविधान की कापी दिखाते,कभी -कभी राष्ट्रीय गान का ड्रामा सब भारत के गौरव तिरंगे की आड़ में ?



PM-UDAY- एप्लीकेशन फाइल मे देरी

PM-UDAY ( पी एम–उदय) ! प्रधानमंत्री-अनधिकृत कॉलोनी दिल्ली आवासअधिकार योजना ! दिल्ली की 1731 अनधिकृत कॉलोनियों ( कच्चीकॉलोनी) को इस योजना का लाभ मिला है। इन्हीं कोलोनिंयों मेंसे एक नाम न्यू मॉडर्न शाहदरा, पॉकेट-२ दिल्ली-32 का भी है Ɩ दिल्ली अनधिकृत कालोनियों में दिल्ली की लगभग 2 करोड़ आबादीका



ईरान एवं ट्रम्प सरकार के बिगड़ते रश्ते

ईरान एवं ट्रम्प सरकार के बिगड़ते रिश्ते ( कोम की मस्जिद पर लहराया लहराया लाल झंडा) शोभा भारद्वाज पहली बार ईरान के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट मेहराबाद ( इमाम खुमैनी अंतर्राष्ट्रीयएयरपोर्ट )से बाहर निकलते ही वहाँ लगे बहुत बड़े बोर्ड पर नजर पड़ी लिखा था ‘वीएक्सपोर्ट रिवोल्यूशन ‘ दूसरी तरफ के बोर्ड में



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x