महाभारत युद्ध और जीत किसकी ?

महाभारत युद्ध और जीत किसकी? यह एक प्रश्न चिन्ह है उस समाज पर , उस युद्ध पर और आज वही इतिहास फिर से दोहराया जा रहा है. चीरहरण से बढ़कर बात अब बलात्कार तक पहुँच गई है, समाज के सम्मानित तब भी चुप थे और अब भी. शकुनि नीति आज कामया



मनुष्य योनि में मानव जीवन का सद्पयोग - सिलिकॉन वैली छोड़ कर रहे आर्गेनिक खेती |

वर्तमान भारतीय शिक्षा व्यबस्था जो की ब्रिटिश हुक़ूमत के समयानुसार भारतीय मूल्यों व् सभ्यता-संस्कृति को सामान्य भारतीय जन-मानस के मन-मष्तिस्क में स्वयं का ही परिहास कराकर पच्छिमी भौतिक वैज्ञानिक शिक्षा को ही सर्वमान्य परपेछित कर आज के भारतीय युवा-वर्ग को सीमित बौद्धिक छमताओ में किसी श्रापबंध से बांध



अचानक पेड़ पर साईं बाबा की ऊभरी आकृति, देखने के लिए लगी भीड़, फिर सामने आया सच

भारत में धर्म व आस्था के प्रति हिन्दुओं की संवेदनशीलता:- हमारे भारत देश के लोगों की भावनाएं भक्ति व धर्म के प्रति काफी संवेदनशील होती हैं। विशेष करके जब कभी धर्म की बात आती है तो भगवान के प्रति आस्था को लेकर काफी संवेदनशीलता देखने को मिलती है। अक्सर आप भक्ति, धर्म और भगवान से संबंधित किसी प्रकार के



करगिल विजय दिवस: 11 दुश्मनों को मारकर शहीद होने वाले इस जवान की दिलचस्प है कहानी

साल 1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच एक जंग हुई जिसे कारगिल युद्ध का नाम दिया गया और फिर भारत ने पाकिस्तान पर जीत हासिल की। इसी के जश्न में 26 जुलाई को कारहिल युद्ध की जीत की खुशी में विजय दिवस मनाया जाता है। इस जंग में एक नहीं बल्कि कई जवान शहीद हुए थे। एक मीडिया रि



हिमा दास भारत की शान

हिमा दास भारत की शानपाँच गोल्ड जितकर अपनी आधी कमाई असम में बाढ़ पीड़ितों की मदद में लगाने पर भी इस महान खिलाड़ी की मीडिया में कोई चर्चा तक नहींवाह रे देश के अंधे मीडिया हीरोइनो की हि बोल्डनेस को हि केवल महत्व देना।हारने के बाद भी क्रिकेटर सुर्खियों में हैं, और दुसरी तरफ हिमा दास लगातार एक महीने में



एक सैनिक पर प्रतिदिन कितना खर्च करती है इंडियन आर्मी? जानिए

भारतीय सेना के प्रति हर भारतवासी एक सॉफ्ट कॉर्नर रखता है क्योंकि उनकी वजह से ही हम अपने घरों में चैन की नींद सोते हैं। भारतीय सेना हर देशवासियों के दिल में बसती है और उनके बारे में हम आम नागरिकों को कुछ बातें पता होनी चाहिए। धूप, बरसात और ठंड में सैनिकों को रहने की ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन हर हाल म



Black & White Era में कुछ ऐसी दिखाई देती थी भारतीय रेल, देखिए तस्वीरें

देश में पहली पैसेंजर ट्रेन मुंबई (तब बंबई) से ठाणे के बीच साल 1853 में चलाई गई थी। तब से लेकर आज तक ये भारत की लाइफ लाइऩ बनी हुई है। कहीं भी आने और जाने या फिर माल ढोने के लिए सभी की पहली पसंद रेल ही हुआ करती थी। आज हम आपको भारतीय रेल



हूणों की उत्पत्ति के विषय में विभिन्न मत प्राच्य और पाश्चात्य इतिहासकारों के हवाले से...

हूणों की उत्पत्ति के विषय में विभिन्न मत- शकृत,शबर,पोड्र,किरात,सिंहल,खस,द्रविड,पह्लव,चिंबुक, पुलिन्द, चीन , हूण,तथा केरल आदि जन-जातियों की काल्पनिक व्युत्पत्तियाँ- महाभारत ,वाल्मीकि रामायण तथा पुराणों के सन्दर्भों से उद्धृत करते हुए चीन के इतिहास से भी कुछ प्रकाशन किया है।यद्यपि ब्राह्मणों द्वारा



सत्यमेव धिकतम?

दोस्तों, आज हम देख रहे हैं की एक पुराण पेड़ समूल उखाड़ने के लिए विदेश-दुश्मन-जाने-अनजाने सभी से गठबंधन कर लिया गया है .ये पेड़ इसलिए नहीं पुराण की ये कोई धर्म है? ये तो अपितु इसलिए पुराना है क्यूंकि भारत की 300 वर्षों की गुलामी और 700 वर्ष



2019 के चुनाव अभियान में मर्यादाएं तार तार

2019 के इलेक्शन संपन्न हुए-गणतांत्रिक प्रक्रियाका एक मील का पत्थर. सारी गहमा-गहमी, उत्तेजना, भाषण, सभाएं इत्यादि कीअभी के लिए तो इति हुई.परन्तु गणतंत्र में चुनाव तो आम बात है और फिरचुनाव होंगे और होते रहेंगे. सभी (आम नागरिक) इस बात से सहमत होंगे किप्रतिस्पर्धता जो गणतंत्र में एक स्वस्थ घटना होनी चाह



इंदिरा गांधी के विषय में वो 9 बातें जिन्होंने बदला भारत का इतिहास

इंदिरा गांधी को अपने संपूर्ण जीवन में कई रूपों में जाना जाता था। 70 के दशक के दौरान भारत की लौह महिला, एकमात्र महिला प्रधानमंत्री, कांग्रेस की आत्मा। वह जवाहर लाल नेहरू की बेटी थीं और अपनी विरासत बनाने के लिए भारतीय इतिहास में सबसे अधिक स्मरणीय नामों में से एक रहीं। हालांकि ये इंदिरा गांधी के विषय म



भारत का वो वीर बहादुर जिसने पाकिस्तान के दो टुकड़े करने में निभाई थी अहम भूमिका

भारत की जल या थल सेना हो या वायु सेना हो इसके इतिहास से लेकर आजतक ऐसे वीर पैदा हुए हैं, जिनकी गाथाएं अमर हैं। साथ ही, ये गाथाएं सदियों तक याद की जाएंगी। ऐसे ही एक अमर वीर की कहानी हम आपको बताएंगे जिनकी बहादुरी के किस्से हर भारतीय को जानना चाहिए। फील्ड मार्शल सैम होर्मूसजी फ्रामजी जमशेदजी मानेकशॉ, जि



पाकिस्तान में हिंदी पाठशाला - दुर्लभ और दिलचस्प लेकिन धार्मिक कट्टरता

भारत और पाकिस्तान सांस्कृतिक एवं भाषाई सभ्यताओं से आज भी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. बंटवारे के बाद भारत ने अपनी प्राचीन सभ्यता को बनाए रख कर एक बेहतर लोकशाही बनने की ओर कदम बढाएं वहीँ पाकिस्तान ने हर वो कदम उठाया कि जिससे वह भारत से खुद को अलग बता सके.दुःख की बात है, सैंतालीस के पहले रावलपिंडी, लाहौर



Kranti Ki Mashal Kavy sangrah by kavi Hansraj Bhartiya क्रान्ति की मशाल साझा कविता संग्रह की पुस्तक समीक्षा

क्रान्ति की मशाल : क्रांतिकारी परिवर्तन की अभिव्यक्तिहंसराज भारतीय हिन्दी साहित्य में एक उभरता हुआ नाम है। उनकी रचनाये निरन्तर अनेको पत्र - पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं। जिनमे कुछ पत्रिकाओं के नाम इस प्रकार है - अमृत पथ, डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, राजधर्म, समय के



बिना पुरुष के महिला हुई गर्भवती जाने कैसे?

आपको हमारे लेख का शीर्षक पढ़कर थोड़ा अटपटा सा लगा होगा लेकिन यकीन मानिए यह पूरी तरह से मुमकिन है और सच भी है। चलिए अब आपकी आशंका को हम दूर कर देते है और बताते है कि आखिर यह कैसे संभव हो सकता है? आपने सेरोगेट मदर का नाम तो सुना ही होगा अगर नहीं तो हम इस प्रक्रिया और जानकारी के बारें आज इस लेख में आपक



बिगड़े नेताओं के ‘‘बिगडे़ बोल’’-‘‘विवादित बोल’’! फायदा-नुकसान कितना!

भारतीय राजनीति में हमेशा से ही ‘‘बयानवीर’’ मीडिया में सुर्खिया पाते रहे है। विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के कुछ नेतागण अपने बेवाक बयानों के माध्यम से सुर्खियाँ बटोरनें के उदे्श्य से ऐसे बयान देते रहते है, जिसके परिणाम स्वरूप उनकी छाप एक चर्चित चेहरे की होकर वे माने जाने



लोकसभा चुनाव: बिग बॉस 11 की प्रतियोगी सपना चौधरी कांग्रेस में शामिल हुईं, हेमा मालिनी को टक्कर दे सकती हैं

बिग बॉस 11 की प्रतियोगी सपना चौधरी कांग्रेस में शामिल2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और हर बीतते दिन के साथ राजनीतिक गर्मी बढ़ती जा रही है।खेल और मनोरंजन की दुनिया की लोकप्रिय हस्तियों ने भी राजनीतिक खेल में उतर चुके हैं। क्रिकेटर गौतम गंभीर के बीजेपी में शामिल होने के बाद, अब बिग बॉस 11 की



आखिर देश को क्या हो गया है।

‘‘पुलवामा’’ में हुई बड़ी वीभत्स आंतकी घटना में 40 सैनिकों के शहीद हो जाने की प्रतिक्रिया स्वरूप पाकिस्तान में घुस कर बालाकोट में किये गये हवाई हमलों के द्वारा ‘‘जैश-ए-मोहम्मद’’के आंतकवादी कैम्प (प्रशिक्षण शिविर) को नष्ट करने के बाद सम्पूर्ण देश ने एक जुट होकर सेना व सरकार को बधाई दी थी। कांग्रेस सहि



मेरे देश का किसान

किसी ने उसे हिंदु बताया,किसी ने कहा वो मुसलमान था,खुद को मौत की सजा सुनाई जिसने,वो मेरे देश का किसान था।जिसकी उम्मीदाें से कहीं नीचा आसमान था,मुरझाकर भी उसका हौंसला बलवान था,जब वक्त ने भी हिम्मत और आस छोड़ दी,उस वक्त भी वो अपने हालातों का सुल्तान था।किस्मत उसकी हारी हुई बाजी का फरमान था,बिना मांस की



भारतीय संबिधान की मौलिक कर्तब्य

दोस्तों क्या आप जानते है की भारतवर्ष की संबिधान दुनिआ का सबसे लम्बा तथा लिखित संबिधान है जिसमे वर्त्तमान 404 अन्नुछेद और 10 मुख्य सुचिया अंतर्गत है . सं 1950 के 26 जनुअरी से कार्यकरी होने वाली वाले भारतीय संबिधान में बहुत सारी विशेषताए हमें देखने मिलते है . इस



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x