भारती



गीता - कर्म की तीन संज्ञाएँ

गीता - कर्मयोग – कर्म की तीन संज्ञाएँगीता के जीवन-दर्शन के अनुसार मनुष्य बहुत महान है और असीमशक्ति का भण्डार है |वास्तव में गीता एक ऐसा पवित्र ग्रंथ है जो मनुष्य को सदैव आगे बढ़ने की प्रेरणादेता है | मृत्यु के संभावित भय कोदूर कर हमें कर्तव्यपरायण होने की शिक्षा देता है | मनुष्य को बताता है कि बिना



Guru Purnima 2019 -गुरु मंत्र की महिमा

हर परम्परा का अपना एक गुरु मंत्र होता है और किसी भी मंत्र को गुप्त रूप से और मौखिक रूप से एक गुरु द्वारा संप्रेषित किया जाता है जो उस व्यक्ति के लिए एक गुरु-मंत्र बन जाता है, जिसके लिए इसका संचार किया जाता है



October 2019- List of Hindu Festivals and Holidays in October Month

इस बार अक्टूबर का पूरा महीना व्रत-त्यौहार के नाम है. हिन्दू पंचांग के अनुसार इस महीने में बड़े-बड़े त्यौहार और व्रत मनाये जायेगे. इस महीने में बड़े पर्व में नवरात्रि, दशहरा, दीपावली जैसे त्यौहार है. महीने के शुरुआती दिनों में ही माँ दुर्गा के नवरात्री उत्सव मना रहे है. नवरात



"रविवार का सृजन (टूटता परिवार)"

*गुम हो गए संयुक्त परिवार**एक वो दौर था* जब पति, *अपनी भाभी को आवाज़ लगाकर* घर आने की खबर अपनी पत्नी को देता था । पत्नी की छनकती पायल और खनकते कंगन बड़े उतावलेपन के साथ पति का स्वागत करते थे । बाऊजी की बातों का.. *”हाँ बाऊजी"* *"जी बाऊजी"*' के अलावा दूसरा जवाब नही होता था ।*आज बेटा बाप से बड़ा हो गया



चीन के सामने ...

https://duniaabhiabhi.com/now-new-preparations-in-front-of-china-2041-2/



हॉकी का जादूगर राष्ट्रप्रेम से राष्ट्रीयखेल तक ! भारत रत्न एक विश्लेषण एक खोज ?

कोई विशिष्ट स्थान अथवा व्यक्ति से संबंध नहीं आप कई प्रकार की लाभान्वित व्यक्तित्व की श्रेणियों से इसे प्रायोजित कर सकते हैं,उदाहरण के लिए कोई राजनीतिक संगठन के श्रीमान जो हर आयोजन को निज-स्वार्थ प्रयोजन में परिवर्तित कर कुछ जड़शब्दों को चेतन भाव के अभाव में प्राकृतिक पुष्पांजलि अर्पित कर जनता समूह क



तु भारत की शान है

तु भारत की शान है तु भारत की मान हैतु ही भारतवासी के लिए भगवान् हैहमारा भारतीय सेना महान है।जब जब देश मे खतरा मंडरायातु उठ खड़ा हुआ क्योंकि भारत मे बस एक तु ही महान है।बस एक तु ही भारत का जान है।तु भारत की शान है।जब जब कश्मीर पर कोई अत्याचार हुआतू उसका मुँह तोड़ जबाव दिया।इन्सान के रूप मे तु



पर्यावरण संरक्षण गौ वंश का सही प्रोयग

मृत्यु अंतिम सत्य तो अन्त्येष्टि जीवन का आखिरी संस्कार है। इसके लिए लकड़ी की चिता पर अंतिम संस्कार की मान्यता अब पर्यावरण के लिए नुकसानदेह साबित होने लगी है और हजारों की संख्या में पेड़ कटने से जीवन के लिए खतरा दिन-ओ-दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि विद्युत शव दाह गृह का विकल्प दिया गया लेकिन यह विकल्प



एक सैनिक पर प्रतिदिन कितना खर्च करती है इंडियन आर्मी? जानिए

भारतीय सेना के प्रति हर भारतवासी एक सॉफ्ट कॉर्नर रखता है क्योंकि उनकी वजह से ही हम अपने घरों में चैन की नींद सोते हैं। भारतीय सेना हर देशवासियों के दिल में बसती है और उनके बारे में हम आम नागरिकों को कुछ बातें पता होनी चाहिए। धूप, बरसात और ठंड में सैनिकों को रहने की ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन हर हाल म



Black & White Era में कुछ ऐसी दिखाई देती थी भारतीय रेल, देखिए तस्वीरें

देश में पहली पैसेंजर ट्रेन मुंबई (तब बंबई) से ठाणे के बीच साल 1853 में चलाई गई थी। तब से लेकर आज तक ये भारत की लाइफ लाइऩ बनी हुई है। कहीं भी आने और जाने या फिर माल ढोने के लिए सभी की पहली पसंद रेल ही हुआ करती थी। आज हम आपको भारतीय रेल



2019 के चुनाव अभियान में मर्यादाएं तार तार

2019 के इलेक्शन संपन्न हुए-गणतांत्रिक प्रक्रियाका एक मील का पत्थर. सारी गहमा-गहमी, उत्तेजना, भाषण, सभाएं इत्यादि कीअभी के लिए तो इति हुई.परन्तु गणतंत्र में चुनाव तो आम बात है और फिरचुनाव होंगे और होते रहेंगे. सभी (आम नागरिक) इस बात से सहमत होंगे किप्रतिस्पर्धता जो गणतंत्र में एक स्वस्थ घटना होनी चाह



Kranti Ki Mashal Kavy sangrah by kavi Hansraj Bhartiya क्रान्ति की मशाल साझा कविता संग्रह की पुस्तक समीक्षा

क्रान्ति की मशाल : क्रांतिकारी परिवर्तन की अभिव्यक्तिहंसराज भारतीय हिन्दी साहित्य में एक उभरता हुआ नाम है। उनकी रचनाये निरन्तर अनेको पत्र - पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रहती हैं। जिनमे कुछ पत्रिकाओं के नाम इस प्रकार है - अमृत पथ, डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, राजधर्म, समय के



बिगड़े नेताओं के ‘‘बिगडे़ बोल’’-‘‘विवादित बोल’’! फायदा-नुकसान कितना!

भारतीय राजनीति में हमेशा से ही ‘‘बयानवीर’’ मीडिया में सुर्खिया पाते रहे है। विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के कुछ नेतागण अपने बेवाक बयानों के माध्यम से सुर्खियाँ बटोरनें के उदे्श्य से ऐसे बयान देते रहते है, जिसके परिणाम स्वरूप उनकी छाप एक चर्चित चेहरे की होकर वे माने जाने



भारतीय संबिधान की मौलिक कर्तब्य

दोस्तों क्या आप जानते है की भारतवर्ष की संबिधान दुनिआ का सबसे लम्बा तथा लिखित संबिधान है जिसमे वर्त्तमान 404 अन्नुछेद और 10 मुख्य सुचिया अंतर्गत है . सं 1950 के 26 जनुअरी से कार्यकरी होने वाली वाले भारतीय संबिधान में बहुत सारी विशेषताए हमें देखने मिलते है . इस



महिला दिवस : फ्लाइंग ऑफिसर भावना कंठ ने रचा इतिहास, लड़ाकू विमान मिग 21 को अकेले उड़ाने वाली दूसरी महिला अफसर बनी

8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस है। तो आइये इस अवसर पर जानते हैं देश की उन बेटियों के बारे में जिन्होंने अपनी प्रतिभा के दम पर ना सिर्फ एक मुकाम पाया बल्कि लाखों भारतीयों की रॉल मॉडल बन गई है।फ्लाइंग ऑफिसर भावना कंठ वायुसेना की फ्लाइंग ऑफिसर भावना कंठ ने एक नया इतिहास रच दिया है. वह वायुसेना की



देशप्रेम-राष्ट्रभक्ति-राष्ट्रवाद को ढूढ़ता मेरा प्यारा देश!

इस लेख का ‘‘शीर्षक’’ देख कर बहुत से लोगों को हैरानी अवश्य होगी और आश्चर्य होना भी चाहिये। पर बहुत से लोग इस पर आखें भी तरेर सकते है। यदि वास्तव में ऐसा हो सका तो, मेरे लेख लिखने का उद्देश्य भी सफल हो जायेगा। एक नागरिक, बल्कि यह कहना ज्यादा उचित होगा एक भारतीय पैदाईशी ही स्वभावगतः देशप्रेमी होता है।



अभिनंदन ही नहीं पाक में 24 और भी एयर फ़ोर्स अफसर हैं युद्धबंदी, लेकिन पाक करता हैं इंकार

इमरजेंसी की हालत में इंडियन एयर फोर्स के पायलट अभिनंदन को विमान से इजेक्ट करना पड़ा. जिसके चलते वह गलती से दुश्मन देश पाकिस्तान के इलाके में पहुंच गए. इसके बाद पाक सेना ने उन्हें पकड़ लिया.हालांकि अभिनंदन के मामले में अच्छी बात ये है कि समय से पाकिस्तान ने मान लिया कि अभिनंदन उनके कब्जे में हैं. लेक



भारतीय अर्थ वयवस्था

राम जी की चिड़ियाँ राम जी का खेत, आओ मेरी चिड़ियों भर भर खाओ पेट. ( भारतीय अर्थ व्यवस्था ) " आलिम "



रात को 12 बजे विश करने से बर्थडे शुभ नहीं बल्कि बन जाता है बेहद अशुभ, जानिए क्या है वजह

साल में सबसे प्यारा एक ही दिन मन जाता है जो की होता है बर्थडे का दिन यानि जिस दिन हम पैदा होते हैं। हर किसी के लिए अपना बर्थडे बेहद खास होता है। इस दिन को और भी ज्यादा खास बनाने के लिए हर कोई हर संभव कोशिश करता है। रात 12 बजे ही बर्थडे विश या बर्थडे पार्टी की शुरूआत हो जाती है। बर्थडे से ज्यादा इस ब



मैं कट्टर नहीं हूं

मैं कट्टर नहीं हूं स्वयं को भारतीय कहना, मानव कहना कट्टरता नहीं है; अपनी जड़ों से जुड़े रहना; जो समूचे विश्व को एक माने, एक कुटम्ब माने, ऐसी जड़ों से जुड़े रहना कट्टरता नहीं है।



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x