बॉलीवुड

'बाॅलीवुड हस्तियों का खेलों को बढ़ाने के लिए आगे आना बेहतर लेकिन खिलाडि़यों को आगे लाने की हो पहल'

योगगुरु और प्रतिद्वंद्वी व्यवसायियों को शीर्षासन करने को मजबूर कर देने वाले स्वामी रामदेव ने आज राजधानी दिल्ली में कहा कि खेलों को प्रमोट करने के लिए सलमान जैसी हस्तियों का आगे आना खेलों के भविष्य के लिए फायदेमंद होगा। हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि इस तरह के फैसलों से खिलाडि़यों का



जल संकट पर राजनीति और बॉलीवुड! Water, drought, Politics and Bollywood, Hindi आर्टिकल

...  देश में 33 करोड़ लोग आज सूखे की मार झेलने को मजबूर हैं और ऐसे आंकड़े हमारे प्रशासन पर ही नहीं, हमारे समाज पर सवाल खड़ा कर रहे हैं. देश के 660 जिलों में से 256 जिले सूखाग्रस्त हैं, तो भारत के 11 राज्यों ने खुद को सूखाग्रस्त इलाका घोषित भी कर दिया है. अकेले महाराष्ट्र के, 44 हजार में से 14 हजार ७०८



फिल्म एक नजर में : दी जंगल बुक

मोगली की कहानी से शायद ही कोई अनजान हो,नब्बे के दशक का यह चरित्र जिसनेदूरदर्शन पर प्रसारित होकर उस पीढ़ी इ हर बच्चे के बचपन कभी न भुल सकनेवाला तोहफादिया था !आज की पीढ़ी उस क्रेज को समझ ही नहीं सकती जब ढेरो केबल चैनल के बजाय केवल एकचैनल हुवा करता था l  विडिओ गेम्स ,मोबाईल्सऔर सैकड़ो प्रोग्राम्स के अम्बा



पुरानी अदाओं से शाहरुख़ और सलमान को रिझा रही हैं सनी लियोन, चर्चा है बॉलीवुड में गरम

दुनिया भर में पोर्न स्टार के लिए मशहूर रहीं अमेरिकन स्टार सनी लियोन अपनी जिस अदाकारी के लिए मशहूर हुई थी उन्हीं अदाओं के बल पर आज वह बॉलीवुड की सीढ़ियां कदम से कदम मिलाकर चढ़ती जा रही हैं. पहला मौका है जब किंग खान उर्फ़ शाहरुख खान के साथ स्क्रीन पर पोर्न स्टार लियोन एक डांस में दिखेंगी.नई दिल्ली : दुनि



बेमिसाल अभिनय की प्रतिमूर्ति थीं हिंदी फिल्मों की ट्रेजेडी क्वीन मीना कुमारी (पुण्यतिथि पर श्रधांजलि)

हिंदी फिल्मों कीप्रख्यात अभिनेत्री एवं दुखांत फिल्मों में भावुक एवं बेजोड़ अभिनय हेतु ट्रेजेडीक्वीन के खिताब से पुकारी जाने वाली उम्दा हीरोइन मीना कुमारी का असली नाम माहजबींबानो था और 1 अगस्त 1932 को ये बंबई (वर्तमान में मुंबई) में पैदा हुई थीं। उनकेपिता अली बक्श भी फिल्मों में और पारसी रंगमंच के एक



फिल्म एक नजर में : बैटमैन वर्सेज सुपरमैन : डौन ऑफ़ जस्टिस .

भारत कॉमिकस अभी भी बच्चो की चीज मानी जाती है ,जबकि पाश्चात्य देशो में यह काफी उपर उठ चुकी है और वहा यह संस्कृति का हिस्सा है l कॉमिक्स चरित्रों की लोकप्रियता ही है के हर साल अच्छी खासी तादाद में सुपरहीरो फिल्मे सिल्वर स्क्रीन पर दस्तक देती है और सफलता के परचम लहराती है ,( अफ़सोस बॉलिवूड को अभी भी प्य



हम तुम फिल्म का मजेदार सदाबहार गीत है लड़की क्यों न जाने क्यों लड़कों सी नहीं होती (रानी मुखर्जी बर्थडे स्पेशल विडियो)

साल 2004 की फिल्म हम तुम न केवल सुपरहिट रही वरन इसका गीत-संगीत भी बेहद हिट रहा| इसफिल्म के सभी गीत लिखे आज के प्रख्यात गीतकार प्रसून जोशी ने और संगीत दियाजतिन-ललित की जोड़ी ने| आइये देखें सुनें और सराहें इस फिल्म के सदाबहार मजेदार गीतलड़की क्यों न जाने क्यों लड़कों सी नहीं होती को जिसमें शान के साथ आवा



हिंदी फिल्मों की बेहद सशक्त अभिनेत्री हैं रानी मुखर्जी (जन्मदिवस पर विशेष)

राजा की आयेगीबारात, गुलाम, कुछ कुछ होता है, हर दिल जो प्यार करेगा, साथिया, चलते चलते,  हम तुम,  वीर ज़ारा,  युवा, बंटी और बबली, ब्लैक, कभी अलविदा ना कहना,  सांवरिया, लागा चुनरी में दाग,  नो वन किल्डजेसिका,  तलाश-द आंसर लाइजविद इन,  बांबे टाकीज और मर्दानीजैसी फिल्मों में अपने दमदार अभिनय का जलवा दिखान



हिंदी फिल्मों के जाने-माने अभिनेता शशि कपूर को जन्मदिन की सहृदय बधाई

हिन्दी फिल्मोंमें लोकप्रिय कपूर परिवार के सदस्य एवं नामचीन अभिनेता शशि कपूर का जन्म 18 मार्च, 1938 को हुआ| शशि कपूर का असली नाम बलबीर राज कपूरहै। पिता पृथ्वीराज कपूर इनको छुटिट्यों के दौरान स्टेज पर अभिनय करने के लिएप्रोत्साहित करते रहते थे। इसी का नतीजा रहा कि शशि के बड़े भाई प्रख्यात अभिनेताराजकपू



...तो तय हो गया, बॉलीवुड की एक और जोड़ी की राहें 18 साल बाद अब होंगी जुदा

18 वर्षों का साथ निभाने के बाद बॉलीवुड अभिनेता-निर्माता अरबाज खान और कलाकार मलाइका अरोड़ा के तलाक को लेकर लंबे समय से अटकलों का बाज़ार गर्म रहा लेकिन अब इस पर मुहर लगती दिख रही है. माना जा रहा है दोनों के बीच अब तलाक़ होना तय है. चर्चा है कि मलाइका ने तलाक़ की अर्ज़ी डाल दी है. इस पर अरबाज के पिता और जा



लंडन हैज फॉलेन ( फिल्म समीक्षा )

फिल्म एक नजर में : लंडन हैज फॉलेन .कुछ अरसे पहले दो फिल्मे एक ही विषय पर आई थी , ओलंपियसहैज फॉलेन ,और रोलेंड एम्मरिक की ‘’व्हाईट हाउस डाउन ‘’ जिनमे अमरीका एवं  व्हाईट हाउस पर हुवा हमला केंद्र में था ,दोनों में से ओलम्पियस हैज फॉलेन शानदार बनी थी , उसी की अगली कड़ी है ‘’लंडन हैज फॉलेन’’कहानी : अमरीकी



हमेशा तुमको चाहा और चाहा कुछ भी नहीं, गीत ही नहीं इसका फिल्मांकन भी बेजोड़

यूं तो शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय की अमर कृति देवदास पर बहुत सारी फ़िल्में बनीहैं लेकिन २००२ में शाहरुख़ खान, ऐश्वर्या रॉय और माधुरी दीक्षित की यादगार भूमिकाओंसे सजी फिल्म देवदास प्रख्यात फिल्मकार-निर्देशक संजय लीला भंसाली के शानदारनिर्देशन हेतु याद की जाती है| इस फिल्म का संगीत आज भी अत्यंत लोकप्रिय है|



25 जनवरी 2015

"बॉलीवुड" हमारे नए जनरेशन की बर्बादी का एक बड़ा कारण

हमारे नए जनरेशन की बर्बादी का एक बड़ा कारण "बॉलीवुड" ही है.. पूरी तरह इस्लामिक हो चुके बॉलीवुड में फिल्मों को सुपर-हिट कराने के दो ही तरीके रह गए है एक 'नग्नता' और दूसरा 'हिन्दू धर्म का अपमान' ये 'बॉलीवुड' की ही मेहरबानी है जो 'सन्नी लीओन' नाम की एक वेश्या हमारे देश के युवाओं द्वारा गूगल सर्च में सब



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x