1


महाबलीपुरम में दो प्राचीन संस्कृतियों का मिलन आपसी रिश्तों की मजबूत कड़ी साबित होगा

महाबली पुरम में दो प्राचीनसंस्कृतियों का मिलन आपसी रिश्तों की मजबूत कड़ी साबित होगा ? डॉ शोभा भारद्वाज तमिलनाडू की राजधानी चेन्नई से 60किलोमीटर दूर महाबलीपुरम प्राचीन ऐतिहासिक शहरों में से एक ,बंगाल की खाड़ी केकिनारे स्थित प्राचीन बन्दरगाह था |सातवीं सदी में इसकी स्थापना पल्लव वंश के शक्तिशाली राजा



चीन के सामने ...

https://duniaabhiabhi.com/now-new-preparations-in-front-of-china-2041-2/



‘‘नौ सौं चूहे खाकर बिल्ली हज को चली’’

विश्व के 195 देशों में भारत निश्चित रूप से एक अनूठा स्थान लिये हुये है। शायद इसका एक बहुत बड़ा कारण हमारी पीढि़यों से चली आ रही खुबसूरत सांस्कृतिक धरोहर एवं विरासत है। हमारे देश की संस्कृति में इतनी (एकता में अनेकता) विभिन्नतायें है, जो सदैव जीवन्त बनी रहकर और अंततः एक मुहावरे के रूप में प्रसिद्ध ह



क्या सुरक्षा परिषद में चीन का वीटो भारत की कूटनीतिक हार थी ?

क्या चीन का वीटो भारत की कूटनीतिक हार थी डॉ शोभा भारद्वाज फ़्रांस अमेरिका एवं ब्रिटेन ने 27 फरवरी को सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने वीटो के अधिकार का प्रयोग किया | अमेरिका फ्रांस एवं ब्रिटेन द्वारा क्षुब्ध होकर जैश के प्रमुख मसूद अजहर को फिर से अंतर्राष्



पानी को अच्छे स्वास्थ्य का स्रोत बनाने के 5 तरीके

आयुर्वेद विज्ञान में साफ और ताजे पानी को अमृत के समान माना गया है, साफ और ताजा पानी आपके मन, शरीर और त्वचा को सुन्दर और स्वस्थ बनाता है । आज हम आपको वो पांच तरीके बताएंगे जिससे आप अपने पानी की सेहत को और अधिक बढ़ा सकते हैं तुलसी तुलसी कसारा है, जिसका मतलब है कि यह खांसी और सर्दी का दोनों का इलाज करत



भारत और चीन नए रक्षा एमओयू का मसौदा तैयार करने के लिए सहमत , स्टैंडऑफ से बचने के लिए बेहतर सैन्य संचार

पीटीआई ने गुरुवार को सूचना दी की,भारत और चीन ने रक्षा एक्सचेंजों और सहयोग पर समझौता करने के एक नए द्विपक्षीय ज्ञापन का मसौदा तैयार करने पर सहमति व्यक्त की है और दोकलम जैसे स्टैंडऑफ से बचने के लिए अपने सेनाओं के बीच बातचीत में वृद्धि की



माँ कहाँ गई

माँ कहाँ गई आज माँ को गुज़रे हुए साल होने को आया। धीरे-धीरे सबनॉर्मल होने लगा था।सब काम धंधे पहले की ही तरह चलने लगे थे। एक दिन गीता (मेरी पत्नी) सफाई करते समय माँ की अलमारीको भी जो अस्त व्यस्त पड़ी थी, ठीक करने लगी जिसमे माँके पुराने कपड़े रखे थे।मैं उस समय वहीं खड़ा था। गीता मां का वह पीला सूट तहाने ल



नालायक

शादी करके, घर में कलह करके, अलग होकर, मुझे रुलाकर आज चार साल बादघर से अलग होने के बाद बड़े बेटे का फ़ोन आया वह कुछ कहना ही चाहता था कि मैं आदतनशुरू हो गया, नालायक तेरी हिम्मत कैसेहुई, फ़ोन करने की तू तो उसी दिनही मर गया था हमारे लिए, जिस दिन ये घर छोड़ कर गयाथा, वो कुछ कहना ही चाहता था किमैंने फ़ोन पटक द



दिल का टुकड़ा

नाम : आलोक फोगाट जन्म स्थान : मेहरौली (दिल्ली)फ़ोन : 9953986953, 9958003160 दिल का टुकड़ा आज शादी को 23सालहो गए। याद आता है---शादी में पहली बार जब उससे परिचय हुआ ससुर जी ने बताया येमेरे भाई, जो गांव में रहते हैं, उनका बेटा राहुल, हमा



भारत-चीन युद्ध की कुछ तस्वीरें, जो न सिर्फ़ बोलती हैं बल्कि चीख-चीखकर सवाल खड़े करती हैं

1962... कोई भी भारतीय चाहकर भी ये साल और इससे जुड़ी घटना नहीं भूल सकता.1962 यानी कि युद्ध. भारत-चीन युद्ध, जिसे Sino-Indian War भी कहा जाता है. वो युद्ध जो टल सकता था, अगर रक्षा मंत्री वी.के.मेनन लेफ्टिनेंट जनरल थोराट की युद्ध होने की आशंका वाली बात को नज़रअंदाज़ न करते.



क्या नेहरू के रक्षा मंत्री रहे वी के मेनन की अय्याशी के कारण भारत 1962 में चीन से हार गया?

चीन के साथ लड़ाई में भारत क्यों हारा? क्या इसके पीछे नेहरू और उनके कुछ ‘करीबियों’ का ‘करेक्टर’ जिम्मेदार था? क्या नेहरू के रक्षा मंत्री रहे वी के मेनन ‘केरेक्टर’ के ढीले थे? क्या इन लोगों की अय्याशी भारत को भारी पड़ी? क्या इन्होंने अपनी अय्याशी के कारण भारत को हरवा दिया?



ढिश्कयाऊँ.... ढिश्कयाऊँ.... !! (माप में रहना, हमारा साहब विदेश से आने के बाद, ‘हूँकारेंगे’ तो तुम्हारे ड्रेगन की हवा निकल जाएगी !!!)

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML></o:RelyOnVML> <o:AllowPNG></o:AllowPNG> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>



इन चीनी कंपनियों का माल खरीद आप भारत का धन चीन में भेजते है, ऐसा होने से रोकिये, शेयर जरूर कीजिये - Dainik Bharat

ये ऊपर तस्वीर में कुछ कंपनियों के लोगो हैये तमाम कम्पनियाँ चीन की कम्पनियाँ है और भारत में मोबाइल बेचने का धंधा कर रही हैये कम्पनियाँ हैलिनोवो, जीयोनी, LETV, Xiaomi, ओप्पो, वीवो, वन प्लस, कूलपैड इत्यादिये तमाम कंपनिया भारत में रोजाना हज़ारो और लाखों की संख्या में मोबाइल और



दिवाली का भारतीय अर्थशास्त्र एवं चीन संग आधुनिक व्यापार!

दोनों शब्दों का इन दिनों खूब तालमेल नज़र आ रहा है. मीडिया से लेकर सोशल मीडिया और भारत से लेकर चीन तक इस उहापोह पर कड़ी नज़र भी रखी जा रही है. इस बात में रत्ती भर भी संदेह नहीं होना चाहिए कि वगैर राष्ट्रीय भावना के कोई राष्ट्र लंबे समय तक जीवित नहीं रह सकता और हमारे त्यौहार निश्चित रूप से लोगों को सामाज



व्यापार के सहारे आर्थिक शक्ति बनता चीन

व्यापार के सहारे आर्थिक शक्ति बनता चीन आज पूरे देश में चीनी माल को प्रतिबंधित करने की मांग जोर शोर से उठ रही है। भारतीय जनमानस का एक वर्ग चीनी माल न खरीदने को लेकर समाज में जागरूकता फैलाने में लगा है वहीं दूसरी ओर समाज के दूसरे वर्ग का कहना है कि यह कार्य भारत सरकार का है । जब सरकार चीन से नए अर्थि



एक पाती आदरणीय रविश जी के नाम डॉ नीलम महेंद्र की कलम से

प्रिय रवीश जी , आपका चीनी माल खरीदने का आग्रह करता आलेख पढ़ा तो कुछ विचार मेरे मन में भी उत्पन्न हुए सोचा पूछ लूँ । जिन लोगों को आप सम्बोधित कर रहे हैं उनके पास तो स्वयं आप ही के शब्दों में "खबरों का कूड़ेदान " यानी अखबार और चैनल देखने का वक्त ही नहीं होता और न ही फेसबुक औ



70वें स्वतन्त्रता दिवस की ‘नई सुबह’ लाल किले से पाकिस्तान के खिलाफ मोदी जी की हुंकार (बलूचिस्तान ) पार्ट 1

70वें स्वतन्त्रता दिवस की ‘नई सुबह’ लाल किले से पाकिस्तान के खिलाफ मोदी जी की हुंकार (बलूचिस्तान ) डॉ शोभा भारद्वाज 3 जून 1947 भारत के विभाजन प्लान के अनुसार हिंदुस्तान और पाकिस्तान दो राष्ट्रों का नि



खेचरी मुद्रा द्वारा अमृत पान

खेचरी मुद्रा एक सरल किन्तु अत्यंत महत्वपूर्ण विधि है ।जब बच्चा माँ के गर्भ में रहता है तो इसी अवस्था में रहता है। इसमें जिह्वा को मोडकर तालू के ऊपरी हिस्से से सटाना होता है । निरंतर अभ्यास करते रहने से जिह्वा जब लम्बी हो जाती है । तब उसे नासिका रंध्रों में प्रवेश कराया जा सकता है । तब कपाल मार्ग एवं



नवगीत: संसद की दीवार पर

संजीव *संसद की दीवार पर दलबन्दी की धूल राजनीति की पौध पर अहंकार के शूल *राष्ट्रीय सरकार की है सचमुच दरकार स्वार्थ नदी में लोभ की नाव बिना पतवारहिचकोले कहती विवश नाव दूर है कूल लोकतंत्र की हिलाते हाय! पहरुए चूल *गोली खा, सिर कटाकर तोड़े थे कानून क्या सोचा था लोक का तंत्र करेगा खून?जनप्रतिनिधि करते रहे





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x