14 फरवरी (वेलेन्टाइन डे) पर विशेष जानिए क्यों प्रेम और वासना के देवता "कामदेव" को,कोई नहीं बच पाया जिनके तीरो से........

सनातन (हिन्दू) धर्म में कामदेव, कामसूत्र, कामशास्त्र और चार पुरुषर्थों में से एक काम की बहुत चर्चा होती है। खजुराहो में कामसूत्र से संबंधित कई मूर्तियां हैं। अब सवाल यह उठता है कि क्या काम का अर्थ सेक्स ही होता है? नहीं, काम का अर्थ होता है कार्य, कामना और कामेच्छा से। वह सारे कार्य जिससे जीवन आनंदद



घर या दुकान (कार्यस्थल) पर वास्तु अनुसार यहाँ मन्दिर होने से होती हैं माँ लक्ष्य प्रसन्न, होती है धन की बरसात, बनते हैं बिगड़े काम.....

यह सच है कि ईश्‍वर सर्वव्यापी हैं और वे हमेशा सबका कल्याण ही करेंगे, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि दिशाओं के स्वामी भी देवता ही हैं। अत: आवश्यक है कि पूजा स्थल बनवाते समय भी वास्तु के कुछ नियमों का ध्यान रखा जाए।वास्तु विज्ञान के अनुसार देवी-देवताओं की कृपा घर पर बनी रहे, इसके लिए पूजाघर वास्तुदोष से



बजरंग बाण का क्या महत्व है?

बजरंग बाण. जिस भी घर,परिवार में बजरंग बाण का नियमित पाठ,अनुष्ठान होता है वहां दुर्भाग्य, दारिद्रय,भूत-प्रेत का प्रकोप और असाध्य रोग,शारीरिक कष्ट कभी नहीं सताते। बजरंग बाण में पूरी श्रद्धा रखने और निष्ठापूर्वक उसके बार बार दोहराने से हमारे मन में हनुमान जी की शक्तियां जमने लगती हैं। शक्ति के विचारों



जाने किन- किन राशियों पर रहेगी माँ लक्ष्मी की असीम कृपा, साथ ही क्या है आपका भाग्यांक

ग्रहों की स्थिति कब बदल जाये कुछ कहा नहीं जा सकता, ज्योतिष की मानें तो रोज़ाना किसी न किसी ग्रह में परिवर्तन ज़रूर होता है जिसकी वजह से 12 रशियन प्रभावित होती हैं। तो आइये जानते हैं पं दयानन्द शास्त्री से कि किन-किन राशियों पर है माँ लक्ष्मी की असीम कृपा और साथ ही कैसा रहेगा आपका आज का दिन । मेष आपको



मंदिर जाना केवल धर्म के लिए ही नहीं बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए भी है फायदेमंद, पढ़े क्यों……

मंदिर जाना शिव धर्म के लिए ही नहीं बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए भी है फायदेमंद, पढ़े क्यों……आमतौर पर मंदिर में जाना धर्म से जोड़ा जाता है। लेकिन मंदिर जाने के कुछ वैज्ञानिक दृष्टिकोण से स्वास्थ्य लाभ भी हैं। ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री बताते हैं कि यदि हम रोज मंदिर जाते हैं तो इससे कई तरह की ह



मन्वन्तर क्या हैं?

मन्वन्तर एक संस्कॄत शब्द है, जिसका संधि-विच्छेद करने पर = मनु+अन्तर मिलता है। इसका अर्थ है मनु की आयु. प्रत्येक मन्वन्तर एक विशेष मनु द्वारा रचित एवं शासित होता है, जिन्हें ब्रह्मा द्वारा सॄजित किया जाता है। मनु विश्व की और सभी प्राणियों की उत्पत्ति करते हैं, जो कि उनकी आयु की अवधि तक बनती और चलती र



क्या सीखें रामायण में वर्णित शबरी प्रसंग से

त्याग, संघर्षपूर्ण जीवन, नि: स्वार्थ सेवा और निष्काम भक्तिरामायण और रामचरित मानस में भगवान श्रीराम की वनयात्रा में माता शबरी का प्रसंग सर्वाधिक भावपूर्ण है। भक्त और भगवान के मिलन की इस कथा को गाते सुनाते बड़े-बड़े पंडित और विद्वान भाव विभोर हो जाते हैं। माता शबरी का त्याग और संघर्षपूर्ण जीवन, नि: स्व



कौन था सहस्त्रार्जुन ?

राम ने रावण को युद्ध में परास्त किया था ये तो सब जानते हैं लेकिन राम से पहले भी एक योद्धा ने युद्ध के दौरान रावण को परास्त किया था। उस महान योद्धा का नाम था सहस्त्रार्जुन।सहस्त्रार्जुन को महाराज कार्तवीर्य अर्जुन भी कहा जाता है। चंद्रवंशी क्षत्रियों में सर्वश्रेठ हैहयवंश एक उच्च कुल के क्षत्रिय हैं।



क़र्ज़ से हैं परेशान तो अपनाये ये उपाय, हो जायेंगे क़र्ज़ मुक्त, घर में होगी बरकत ही बरकत

कर्ज या ऋ़ण का होना जिंदगी को मुश्किल में डाल देता है। कर्ज मुक्त जीवन ही सबसे खुशहाल जीवन होता है।कई बार जरूरी चीजों के लिए हमें कर्ज लेने पड़ जाते हैं लेकिन ये कर्ज खत्म होने का नाम नहीं लेता है। कई बार कर्ज लेने के बाद उसे लौटाना व्यक्ति को भारी पड़ता है और उसकी पूरी जिंदगी कर्ज चुकाते-चुकाते खत्



प्रेम के भूखे हैं भगवान

तुलसी दास कहते हैं- 'भाव-अभाव, अनख-आलसहुं, नाम जपत मंगल दिषी होहुं।' भाव से, अभाव से, बेमन से या आलस से, और तो और, यदि भूल से भी भगवान के नाम का स्मरण कर लो तो दसों दिशाओं में मंगल होता है। भगवान स्वयं कहते हैं, भाव का भूखा हूं मैं, और भाव ही इक सार है, भाव बिन सर्वस्व भी दें तो मुझे स्वीकार नहीं! ऐ



सोमवती अमावस्या के दिन ये उपाय करने से दरिद्रता होगी दूर, घर में आएगी सुख सम्बृद्धि, बरसेगा अपार धन

जब सोमवार को अमावस्या होती है तो उसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है। ऐसी अमावस्या का शास्त्रों में काफी अधिक महत्व बताया गया है। इस दिन किये जाने वाले उपायों का शीघ्र फल प्राप्त होता हैं। यहां हम आपको सोमवती अमावस्या के दिन किए जाने वाले कुछ विशेष उपाय बताने जा रहे हैं। इन्हें करने से गरीबी और दरिद्रता



उद्यापन :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! *सनातन धर्म में समस्त मानव जाति को सुखी बने रहने के अनेकानेक उपाय बताये गये हैं | वैसे तो मनुष्य को सुख एवं दुख उसके आचरण के अनुसार ही प्राप्त होते हैं | हमारे ऋषियों ने प्रत्येक मनुष्य को सुखी रहने के लिए धर्म का पालन करने का निर्देश दिया है | धर्मपालन के कई अंग हैं उ



नाम का प्रभाव :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! *मानव जीवन में दुख एवं सुख की अनुभूति समय समय पर होती रहती है | जीवन में दुख के दिन किसी के लिए पहाड़ से होते हैं तो किसी के लिए मात्र साधारण बात | जिस तरह रात के बाद दिन आता है ठीक वैसे ही दुख के बाद सुख आता है पर हम कुछ मामूली मगर बड़े काम के उपायों से इन अनचाहे दुखो



शुक्र की बदलती चाल का क्या प्रभाव पड़ेगा आपकी राशि पर जानिए......

ज्योतिष में शुक्र को धन समृद्धि मान-सम्मान सौंदर्य का ग्रह माना गया है। ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार, जीवन में ऐश्वर्या की प्राप्ति के लिए शुक्र ग्रह का मजबूत होना बहुत जरूरी है. शुक्र के राशि परिवर्तन से हर राशि के लोगों की आर्थिक स्थिति, स्वास्थ्य, प्यार, पारिवारिक जीवन, भोग विल



इन 7 राशियों पर होगी बजरंगबली की कृपा, होगा कष्टों का नाश, चमकेगी किस्मत, मिलेगी सफलता

ग्रहों की स्थिति कब बदल जाये कुछ कहा नहीं जा सकता, ज्योतिष की मानें तो रोज़ाना किसी न किसी ग्रह में परिवर्तन ज़रूर होता है जिसकी वजह से 12 रशियन प्रभावित होती हैं। तो आइये जानते हैं पं दयानन्द शास्त्री से कि किन-किन राशियों पर है की हनुमान जी असीम कृपा और साथ ही कैसा रहेगा आपका आज का दिन । मेषआज के दि



ऐसे लक्षण वाले व्यक्ति होते हैं जन्म से ही अमीर, मिट्टी भी छूने पर बन जाती है सोना

ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति अपनी किस्मत खुद बनाता है क्योंकि व्यक्ति द्वारा किए गए कर्म के अनुसार वह अपनी किस्मत बदल सकता है लेकिन इस दुनिया में बहुत से व्यक्ति ऐसे हैं जो कड़ी मेहनत करते हैं और अच्छे कर्म भी करते हैं इसके बावजूद भी उनकी किस्मत नहीं बदल पाती है। आम भाषा में ये भी कहा जाता हैं कि हर



सनातन धर्म :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! *सृष्टि के आदिकाल में जब धरती पर जीव का प्रादुर्भाव हुआ तब से ही इस धराधाम पर सनातन धर्म स्थापित हुआ है | सनातन का अर्थ है शाश्वत , अर्थात जिसका कोई आदि या अन्त न हो | सनातन धर्म की दिव्यता का आंकलन इसी बात से लगाया जा सकता है कि वरितमान में संसार भर में जितने धर्म / प



तिल चतुर्थी :-- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! *हमारे भारत देश में नित्य प्रति त्यौहार एवं पर्व मनाए जाते हैं | यहाँ कोई ऐसा दिन नहीं है जिस दिन कोई पर्व न हो | वर्ष के बारहों महीने के प्रत्येक दिन कोई ना कोई पर्व अवश्य होता है जिसे हम भारतवासी पूर्ण श्रद्धा से मनाते हैं | इसी क्रम में आज माघ मास की कृष्ण पक्ष की च



Kumbh 2019: तस्वीरों में देखें मॉरीशस पीएम प्रविंद जुगनाथ का कुंभ दर्शन

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ गुरूवार को पत्नी कोविता रामदीन के साथ कुंभ आए हैं। हम आपको उनके कुंभ दर्शन की फोटोज दिखाएंगे। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद्र जुगनाथ ने पत्नी कविता जुग नाथ के साथ त्रिवेणी बांध स्थित बड़े हनुमान मंदिर में पूजन किया। वाराणसी से वह वि



जब एक नागा साधु ने तोड़ दिया महान सिकंदर का घमंड…बाद में साधु के पैरों में गिरकर रोया सिकंदर

एलेक्जेंडर जब भारत आया तो वह कई इलाकों को जीतने और साम्राज्य को विस्तार देने के बाद भी संतुष्ट नहीं था। उसे एक ज्ञानी व्यक्ति की तलाश थी। वह चाहता था कि वह भारत से किसी ज्ञानी व्यक्ति को अपने साथ ले जाए। कुछ लोगों के बताने पर वह एक संत की खोज में अपनी फौज के साथ एक नगर मे



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x