हैं



दोस्त का प्यार

ओ मेरे दोस्त मत रूठ जाना,ये शरीर बेजान हो जायेगा २ तू जिए हजारो साल मेरी उमर तुझे लग जाये ,पता नही मेरे मरने का तुफान कब आयेगा।



मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम

मैं ही सही हूँ, सबसे बड़ा भ्रम : I'm right, The biggest fallacyमैं ही सही हूँ ""तस्वीरें दीवारों से ही नहीं, दिल से भी उतर जाती हैं उनकी , जिन्हें अपने पर खुदा होने का गुरुर होता है। बस जाती हैं यादें दिलों में उनकी , जिन्होंने दिलों को फ़तेह किया होता है। न रहता है ता



कुंडली भाग्य या ये रिश्ते हैं प्यार के: बेस्ट स्पिन ऑफ शो | आई डब्लयू एम बज

आप उन सभी सोप ओपेरा प्रेमियों से पूछ सकते हैं जो एक दर्जन से अधिक शो देखते हैं और यदि उनका कोई पसंदीदा शो है, तो वे हर रोज उनका अनुसरण करते हैं, और अगर यह बताने के लिए पूरी तरह से कठिन विकल्प है, तो निश्चित रूप से उनके मन में एक जवाब होगा।हमेशा ऐसा होता है कि एक दैनिक शो



ये रिश्ते हैं प्यार के: कुणाल और कुहू के रिश्ते को मिली मंजूरी | आई डब्लयू एम बज

स्टार प्लस का लोकप्रिय शो ये रिश्ता क्या कहलाता है के निर्देशक कुट द्वारा निर्मित दर्शकों को लुभावने नाटक से प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। हमने पहले श्वेता (पलक परसवानी) के जन्मदिन की पार्टी में एक विशाल नाटक के बारे में बताया था। श्वेता ने कुणाल (ऋत्विक अरोड़ा), कुहू



भाभीजी घर पर हैं: 5 बार अनीता-विभूति ने रोमांटिक बॉलीवुड ट्रैक पर रोमांस किया

यह एक सर्वविदित तथ्य है कि भाभीजी घर पर है की कहानी में, विभूति हमेशा अनीता को किसी न किसी तरह प्रभावित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनके लिए ऐसा करना संभव नहीं है। लेकिन किसी को यह स्वीकार करना होगा कि इस जोड़ी का रोमांस लोकप्रिय बॉलीवुड गीतों से पूरी तरह से अलग है। यह उन बहुत ही गीत हैं जो



भाभीजी घर पर हैं: 5 बार अनीता-विभूति ने रोमांटिक बॉलीवुड ट्रैक पर रोमांस किया | आई डब्लयू एम बज

यह एक सर्वविदित तथ्य है कि भाभीजी घर पर है की कहानी में, विभूति हमेशा अनीता को किसी न किसी तरह प्रभावित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनके लिए ऐसा करना संभव नहीं है। लेक



शंघाई सहयोग संगठन 2019

शंघाई सहयोग संगठन 2019 डॉ शोभा भारद्वाज श्री नरेंद्र मोदी दुबारा भारत के प्रधानमंत्री बनने के बाद शंघाई सहयोग संगठन की दो दिन चलने वाली समिट में हिस्सालेने के लिए किर्गिस्तान के बिश्केक गये यहाँ मोदी जी ने चीन के राष्ट्राध्यक्षजिनपिंग से द्विपक्षीय वार्ता कर उन्हें भारत दौरे के लिए आमंत



' 2019 का चुनाव ' के अपने अलग तरह के रंग

' 2019 का चुनाव' के अपने अलग तरह के रंग डॉ शोभा भारद्वाज अबकी बार सात चरणों में चुनावहुये और लम्बे खिचे जितना मोदी जी समर्थक मोदी – मोदी के नारे लगते थे उतना हीराहुल गाँधी ने अपने समर्थको से नारा लगवाया चौकीदार उत्तर ‘चोर है’ देश के सबसे बड़े लोकतंत्रके प्रधानमंत्री जिन पर भ्रष्टाचार का एक भी



चोर की परिभाषा ?

चोर की परिभाषा ?डॉ शोभा भारद्वाजएक प्रसिद्ध चैनल में गरमा गर्म बहस चल रही थी सभी उत्साहित थे ‘भारत सरकार की कूटनीतिक विजय’ पाकिस्तानी आतंकी मसूर अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किया गया चीन ने अपना वीटो वापिस ले लिया |बीच –बीच में नारे लगाये जा रहे थे है हरेक उत्साहित था भारत की कूटनीतिक विजय बहस खत्म



चुनाव जीतने के हथकंडे

चुनाव जीतने के हथकंडे डॉ शोभा भारद्वाज लोकसभा केचुनावो का सीजन चल रहा है पहला चरण समाप्त हो गया अब दूसरे चरण का चुनाव हो रहा है| चुनाव जीतने केतरीके अब पहले जैसे नहीं रहे चुनाव आयोग की कोशिश रही है निष्पक्ष रूप सेचुनाव कराये जा सकें ,चुनावों में धन का अपव्यय न हो योग्य व्यक्तिचुनाव लड़ने



ईरानी खानम मुझे जीना सिखा गयी

ईरानी खानम मुझे जीना सिखा गयी पार्ट - 2 डॉ शोभा भारद्वाज इंकलाब ने हमारे सपने तोड़ दिए ईरान में बदअमनी फैल रही थी योरोपियन डाक्टरपहले ही जा चुके थे पाकिस्तानी डाक्टर जाह्दान के रास्ते अपने देश लौट गये भारतीयडाक्टरों के लिए उनके सिफारतखाने ने एक साथ निकालने का इंतजाम किया डाक्टर साहबसबसे बाद में



वजन कम करना चाहती हैं तो ऐसे करें वौकिंग

वजन कम करना चाहती हैं तो ऐसे करें वौकिंगवजन कम करने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते हैं. जिम, डाइटिंग, एक्सरसाइजेज और भी ना जाने क्या क्या.https://healthtoday7.blogspot.com/वजन कम करने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते हैं. जिम, डाइटिंग, एक्सरसाइजेज और भी ना जाने क्या क्या. पर क्या आपको पता है कि केवल व



फिल्म निर्माता सूरज बड़जात्या के पिता राज कुमार बड़जात्या का निधन

मुम्बई में राजश्री प्रोडक्शन के राजकुमार बड़जात्या का देहांत हो गयाअधिक जानकारी के लिए: https://hindi.iwmbuzz.com/television/news/filmmaker-sooraj-barjatyas-father-raj-kumar-barjatya-passes-away-2/2019/02/21



फिदायीन आतंकी

फिदायीन, डॉ शोभा भारद्वाज विश्व धीरे – धीरे आतंक वादकी गिरफ्त में घिरता जा रहा है |आतंकवाद एक ऐसी हिंसात्मक गतिविधि है जो शान्ति काल में भीचलती रहती है, परिणाम घातक होता है आतंकवाद के पोषक की नीयत आर्थिक ,धार्मिक राजनीतिक व्यवस्था एवं शन्ति कोभंग कर अधिक से अधिक नुक्सान पहुंचा कर आम नागरिकों में भय



मैं तेरे साथ जी न सका ,अकेला मर तो सकता हूँ

मैं तेरे साथ जी नहीं सका, अकेलामर तो सकता हूँ डॉ शोभा भारद्वाज रिसेटेलमेंट कालोनी के छोटेप्लाट में बने चार मंजिला घर में हा –हाकार मचा था उस घर के जवान बेटे ने फांसीलगा ली थी घर का कमाऊ बेटा तीन भाई पाँच बहनों का भाई अंधे पिता ,बीमार माँ कासहारा जिसने भी सुना हैरान रह गया फांसी के बाद लम्बी गर्दन



कसैले पन का कसाव

(कसैलेपन का कसाव) मेड़मफोटो खीचेंगी यह लाईन अभद्रता भरी लाईन या अभद्रता की प्रतीक थी। एक चाटा भरी आवाजके साथ प्रतीक वर्दियों से घिर गया। किसी के कमर मे काली बेल्ट पैरो मे काले जूतेजिसमे चेरी की पोलिस ही चमक रही थी। किसी के कमर मे बंधी लाल बेल्ट पैरो मे लालजूता वह दरोगा या कह लो सब इंस्पेक्टर यह ला



मुक्तक

वो हमारे पास जब भी आते हैं हमारे खास हैं अहसास ये करते हैसौ -सौ दुआएं सामने सलामती की,पीछें बर्बादी की योजना बनाते हैं



ये TV स्टार किड्स जिन्होंने कमाई में कई बॉलीवुड स्टार्स को पीछे छोड़ा , नंबर 3 को देख की कमाई जानकार उड़ जायेंगे होश

टीवी शोज़ मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन है। डेली आने वाले टीवी सीरियल और शोज़ के बिना हम एंटरटेन नहीं हो पाते। ये टीवी सीरियल हमारे डेली रूटीन में शामिल है। हम अपने पसंदीदा टीवी शो देखने के लिए अपने सभी ज़रूरी काम वक़्त पर निपटा लेते हैं। ताकि हमारा कोई भी एपिसोड छूट न जाए। तो



19 नवम्बर अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस और भारत

19 नवम्बर अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस ‘भारत में’ ? डॉ शोभा भारद्वाज 19 नवम्बर को अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस मनाने का चलन 1960 से चल रहा है | पुरूष दिवस की विशेष रूप से शुरुआत त्रिनिदाद एवं टोबागो में की गयी थी अब यह 70 देशों में मनाया जाता है भारत में भी 19 नवम्बर 2007 के दिन सेव इंडियन



हमें लेखक क्यों बनना चाहिए? एक लेखक का भविष्य क्या होना चाहिए?

दोस्तों आज हर व्यक्ति पढ़-लिख कर नौकरी के क्षे़त्र में एकऊंचा औदा पाना चाहता है। कोई डॉक्टर बनना चाहता है, कोई पुलिस, कोई वकील तो कोई इंजीनियर। लेकिनएक लेखक के पहलू पर बहुत कम लोग ही ध्यान देते हैं। लेखक बनना एक गर्व की बात है। क्योंकि यह भी एक प्रकार की कला है जो हर क



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x