1


उत्तराखंड के इस शहर में हनुमान चालिसा पढ़ने पर पुलिस ने की हाथापाई, जानिए इसकी पूरी सच्चाई

हनुमान चालिसा हिंदू धर्म में बहुत ही फेमस है, अक्सर लोगों को जब डर लगता है तो वे हनुमान चालिसा पढ़कर अपने आपको तसल्ली देते हैं कि बजरंगबली हमारे साथ हैं। उनके होने का एहसास ही हमारे डर को भगा देता है और हम चैन से रहने लगते हैं। इसे हम किसी भी जगह पर कर सकते हैं और इसमें कोई डर की बात भी नहीं है और इ



श्री हनुमान चालीसा || Hanuman Chalisa

भारतीय संस्कृति में हिंदू धर्म की प्रधानता है और लोग सबसे ज्यादा बजरंगबली को पूजते हैं। ऐसा कहा जाता है कि उनका अक्श आज भी है जो हमें दिखाई तो नहीं देते लेकिन उनका होना बहुत से लोगों ने महसूस किया है। सीरियल और फिल्मों में हम सबने हनुमान जी की शक्ति को बखूबी देखा है और सुंदरकांड में भी उनकी शक्तियों



वोटर्स में हनुमान बल

चुनाव परिणामों ने दिखा दिया -वोटर्स को वही नेता पसंद है जो सुख-दुःख में साथहो, उसी की भाषा में बोले। देश हित में शीघ्र,उचितव् कठोर निर्णय लेने में भी न हिचके। करोड़ों वोटर्स नेEVM-VVPAT की पारदर्शिता को सलाम किया। जिसकों लेकर जनता के बीच जनाधार खोचुके नेता सवाल उठात



हनुमाना जयन्ती की हार्दिक शुभकामनाएँ

हनुमान जयन्तीकल चैत्र पूर्णिमा... विघ्नहर्तामंगलकर्ता हनुमान जी की जयन्ती… जिसे पूरा हिन्दू समाज भक्ति भाव से मनाता है... आजरात्री सात बजकर सत्ताईस मिनट से लेकर कल सायं चार बजकर बयालीस मिनट तक चैत्रशुक्ल पूर्णिमा है… मान्यता है कि सूर्योदय काल में हनुमान जी का जन्म हुआ था | कलसूर्योदय पाँच बजकर पावन



बजरंग बाण का क्या महत्व है?

बजरंग बाण. जिस भी घर,परिवार में बजरंग बाण का नियमित पाठ,अनुष्ठान होता है वहां दुर्भाग्य, दारिद्रय,भूत-प्रेत का प्रकोप और असाध्य रोग,शारीरिक कष्ट कभी नहीं सताते। बजरंग बाण में पूरी श्रद्धा रखने और निष्ठापूर्वक उसके बार बार दोहराने से हमारे मन में हनुमान जी की शक्तियां जमने लगती हैं। शक्ति के विचारों



हनुमानजी की ये 11 मुखी मूर्तियां करती हैं अलग-अलग मनोकामनाओं की पूर्ति

प्रत्येक व्यक्ति को हनुमानजी की भक्ति करना चाहिए। कलियुग में हनुमान ही एकमात्र जाग्रत देव हैं। उनका चारों युग में प्रताप है। उनकी भक्ति से व्यक्ति के भीतर साहस और आत्मविश्‍वास का संचार होता है। हनुमानजी की भक्ति हर संकट से बचाती है। भक्तों ने अपनी भक्ति के चलते हनुमान



मंगल को जन्मे, मंगल ही करते, मंगलमय भगवान, जय हनुमान

॥दोहा॥श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि ।बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि ॥बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवन-कुमार ।बल बुधि बिद्या देहु मोहिं हरहु कलेस बिकार ॥॥चौपाई॥जय हनुमान ज्ञान गुन सागर ।जय कपीस तिहुँ लोक उजागर ॥१॥राम दूत अतुलित बल धामा ।अञ्जनि-पुत्र



हनुमान मूर्ति तोड़ने पहुंची थी दर्जनों मशीनें, धरती पर पहुंचे गुस्साए बजरंग बली ने मचा दिया कोहराम

इस साल जनवरी में शाहजहांपुर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया था। यहां बजरंग बली की करीब 130 साल पुराने मंदिर को तोड़ने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। भगवान हनुमान की मूर्ति को हटाने के लिए लगाई गई 3 भारी-भरकम क्रेन और कई मशीनों की हालत खराब हो गई। बताया गया कि करीब तीन दिनों



तुलसीदास जयंती

सम्पूर्ण भारतवर्ष में गोस्वामी तुलसीदास के स्मरण में तुलसी जयंती मनाई जाती है| श्रावण मास की सप्तमी के दिन तुलसीदास की जयंती मनाई जाती है| इस वर्ष यह 17 अगस्त 2018 के दिन गोस



बन जा तू हनुमान

जो पाप-पुण्य से सदा परे है, जो लाभ-हानि से है अविचल।सुख-दुख जिसके सदा बराबर, जन्म-मरण में है सम वो तो। जिसका ना है मान, ना अपमान कर्मयोग में लगा है जो, वही है हनुमान । आ उठ चल अब दौड़ लगा, छोड़ के सारे तू अभ



दांपत्य का द्रोणगिरि

भगवान राम ने अयोध्या लौटकर राजपाट संभाल लिया था. अयोध्या की जनता बेहद प्रसन्न थी कि आखिर रामराज्य आ ही गया. वैसे जो लोग भरत के राज्य में अपनी सेटिंग बिठा चुके थे, रामराज्य में भी खुश थे. आखिर राजा ही तो बदला था, बाकि सारे महकमे तो वैसे



रावण के महिमांडन का खंडन

रावण के महिमामंडन का खंडन आजकल सोशल मिडिया पर एक चलन बहुत तेजी से चल पड़ा है , रावण के बखान..!! वो एक प्रकांड पंडित था जी....उसने माता सीता को कभी छुआ नहीं जी....अपनी बहन के अपमान के लिये पूरा कुल दाव पर लगा दिया जी.....!!!मेरे कुछ मित्र ब्राह्मण होने के कारण



यहां भक्तों का इलाज करते हैं भगवान 'हनुमान', शेयर करें और स्वयं देखें इनकी कृपा !!!

एक ऐसा मंदिर है जहां भगवान हनुमान डॉक्‍टर के रूप में पूजे जाते हैं. मान्यता है कि इस मंदिर के हनुमान स्वयं अपने एक भक्त का इलाज करने डॉक्टर बनकर पहुंचे थे. इस मंदिर से लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. श्रद्धालुओं का मानना है कि, डॉ. हनुमान के पास सभी प्रकार के रोगों का



राम नाम महिमा अमित,अपार तूने ही फैलायी। शिव रूप छोड़,हनुमान बन भक्ति सबको सिखायी।।

बजरंगबली भला तेरी महिमा कहो किसने न जग गायी।शरण आया जो तेरी हर मुश्किलों से निजात पायी।।राम नाम महिमा अमित,अपार तूने ही फैलायी।शिव रूप छोड़,हनुमान बन भक्ति सबको सिखायी।।अष्ट-सिद्धि,नव-निधि प्राप्त कर  जग हित लगायी।हर घडी राम-राम बस यही एक अलख जगायी।।समस्त कामना से दूर तूने बस राम उर लौ लगायी।याद दिला





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x