www.bsebinteredu.in Bihar Board 12th Admit Card 2020 डाउनलोड करें

Bihar Board Inter Admit Card 2020 Released www.bsebinteredu.in: Hello Friends, Bihar Board Inter Admit Card 2020 jaari kar diya gya hai jise aapke dwara ab download kiya ja sakta hai aur ise download karne ki puri jankari aap sabhi ko is article me di ja rahi hai. Aapko p



छात्रों अपना कैरियर चौपट मत कीजिये

छात्रों अपना कैरियर चौपट मतकीजिये डॉ शोभा भारद्वाज किसी भी छोटे बच्चों सेपूछिए बड़े होकर आप क्या बनोगे वह तुरंत उत्तर देंगे डाक्टर ,नर्स ,इंजीनियर फाईटरपायलट ,कलक्टर ,पुलिस का बड़ा आफिसर’ इंजीनियर,आर्मी आफिसर , साईंटिस्ट नेता यारियल्टी शो में डांसर या गायक |एक प्रवासी भारतीय नासा के साईंटिस्ट दम्पत्त



फौजी की आत्मा देती है सरहद पर पहरा

मृत्यु के पश्चात भी फौजी की आत्मा आन ड्यूटीजी हाँ आप जी ने सही पढ़ा एक फौजी के शहीद होने के बावजूद भी उसकी आत्मा कर रही है सिक्किम में भारत चीन बाॅडर पर अपनी ड्यूटी यह आत्मा ना सिर्फ सरहद पर पहरा देती है बल्कि दुश्मन की हर गतिविधि की खबर पहले हि सांकेतिक रूप में भारत



मोहरा.....!

मोहरा.....!फिर वही शोर ,भीतर , बाहरदौड़ है ,अजीब -सी कश्मकश है !कुछ दिख रहा है , कुछ दिखाया जा रहा है।फिसल रहा है समय, हाथ से रेत की तरह ,शतरंज की बिसात लगी हैहाथी ,घोड़े ,वज़ीर और राजा मस्त चल रहे हैं ,पिस रहा है तो केवल मोहरा !उसका वक्त कब आएगा ?क्या वह कभी अपनी बात क



लघुकथा ...........स्विच आफ

किसी के प्रति आकर्षण कभी भी सम्मोहन में बदल सकता है ।रुचियां हमेशा हमसफर ढूँढ़ती रहती हैं । प्यार वो समुंदर है जिसमें हर उम्र समा जाती है ।प्यार शक्ति है तो कमजोरी भी यही बनता है ।______________________________________________________लघुकथास्विच आफ " इतने दिन से कहां थीं ? "" होना कहां है ,घर पर ही



जीवन में असफलता के 10 मुख्य कारण...

जीवन में असफलता के 10 मुख्य कारण... क्या आप बार-बार अपने जीवन में असफलता प्राप्त कर रहे हैं? क्या आप सोचने लगे हैं कि आपकी असफलता का मुख्य कारण आपका भाग्य है? अगर हाँ ! तो इस पोस्ट के द्वारा असफलता के 10 मुख्य कारण को पढ़ें और अपने जीवन में failure के सही कारणों को समझें। हो सकता



लहरों जैसे बह जाना

लहरों जैसे बह जाना✒️मुझको भी सिखला दो सरिता, लहरों जैसे बह जानाबहते - बहते अनुरागरहित, रत्नाकर में रह जाना।बड़े पराये लगते हैंस्पर्श अँधेरी रातों मेंघुटनयुक्त आभासित होलहराती सी बातों मेंजब तरंग की बलखातीशोभित, शील उमंगों कोक्रूर किनारे छूते हैंकोमल, श्वेत तमंगों कोबंद करो अब और दिखावे, तटबंधों का ढह



लहरों जैसे बह जाना

लहरों जैसे बह जाना ✒️मुझको भी सिखला दो सरिता, लहरों जैसे बह जानाबहते - बहते अनुरागरहित, रत्नाकर में रह जाना।बड़े पराये लगते हैंस्पर्श अँधेरी रातों मेंघुटनयुक्त आभासित होलहराती सी बातों मेंजब तरंग की बलखातीशोभित, शील उमंगों कोक्रूर किनारे छूते हैंकोमल, श्वेत तमंगों कोबंद करो अब और दिखावे, तटबं



पति का शौक पूरा करने के लिए पत्नी ने किया ऐसा काम रह जाएंगे आप हैरान !

भारत एक अजीबोगरीब देश हैं, यहां टैलेंट की कमी नहीं है। कोई किसी अच्छे काम में अपना टैलेंट दिखाता है तो कोई फालतू के काम में लेकिन सोशल मीडिया के जरिए वे अपना टैलेंट दिखाते जरूर हैं। ऐसा ही एक वाक्या हरियाणा में हुआ जब एक महिला अपने पति की जरूरतों और दूसरे शौक को पूरा करने के लिए ऐसा काम करने लगी जिस



जुबा चुप क्यो?

जुबा चुप क्यो?आपकी खामोश जुबा ने ,महफ़िल की नज़रों में चोर बना दिया|ताकते रहे आपकी नज़रों को, कभी तो इधर उठेगी, कुछ कहेंगी|ता उम्र साथ देने का वादा करती रही, खुशियों के फूल भरती रही|खुशियों के फूलो को संभाला बहुत, आपकी एक मुस्कान के लिए|साथ जीने मरने के वादे करते रहे तुमसे, रोज प्यार पाने के लिए |लड़ते



गीतिका

नफरत नहीं उर में रखें, अब प्रेम की बौछार हो। इक दूसरे की भावना का अब यहाँ सत्कार हो।। अब भाव की अभिव्यक्ति का,ये सिलसिला है चल पड़ा। ये लेखनी सच लिख सके ,जलते वही अँगार हो ।। ये रूठने का सिलसिला क्यों आप अब करने लगे । अनुराग से तुमको मना लें ये हमें अधिकार हो। जीवन चक्र का सिलसिला यूँ अनवरत चल



विजयादशमी और अपराजिता देवी

विजयादशमी और अपराजिता देवीचितिरूपेण या कृत्स्नमेतद्व्याप्य स्थिता जगत् ।नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः ॥ॐसर्वविजयेश्वरी विद्महे शक्तिः धीमहि अपराजितायै प्रचोदयातआज तक समस्त हिन्दू समाज माँ भगवती के नौ रूपों – शैलपुत्री,ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्माण्डा, स्कन्दमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महा



विप्र धेनु सुर संत हित लीन मनुज अवतार

विप्र धेनु सुर संत हित लीन्ह मनुज अवतार डॉ शोभा भारद्वाज रावण के भय से सम्पूर्ण ब्रह्मांड थर्राने लगा दस सिर बीस भुजाओं एवं ब्रह्मा जी से अमरत्वका वरदान प्राप्त राक्षस राज रावण निर्भय निशंक विचर रहा था हरेक को युद्ध मेंललकारता |रावण का पुत्र मेघनाथमहत्वकांक्षी ,रावण के समान बलशाली पिताको समर्पित



तने दरख्तों के

तने दरख्तों के शाखों से ही झुकने लगेपानी नहीं बचा कुँए सूखने लगे।मौलवी के सताए हुए इंसान यहाँहै ग़ौर कि अल्लाह पे ही थूकने लगे।ये मुमक़िन न था कि आम आएंगे कभीबोए गए थे कांटें सो उगने लगे।वो गा रहा था बदहालियाँ किसानों कीअचानक ही मंत्रियों सर दुखने लगे।बढ़ते हुए काफ़िलें मजहबों



जान अभी बाकी हैं

जान अभी बाकी हैं | हरि को नहीं देखा इंसान बनाते हुए|इंसान को देख हैं हरि को बनाते हुए |अमीरों की लकड़ियाँ उनकी अस्थिमंजर हैं|उनकी अस्थिमंजर गरीबो की छत्र छाया हैं |गौर से देखा उनको चौक-चौराहो मे बैठे हुए|सवार ट्रक मे ढ़ोल लंगाड़ो मे रंग गुलाल उड़ाते हुए|जल समाधि की वजह से उनकी काया बदल गई|बची अस्थिमंजर



कदम नाचते है।

कदम नाचते है।बचपन की बातें अक्सर दोहराई जाती हैं जो कभी भूलती नही वह दिमाग के किसी कोने में यादों की फटी चादर से झाँकती रहती हैं। जब भी मौका मिलता झिरी से दिखने वाले छेद से बाहर निकल कर नए नए किस्सो को पैर दे कर वापस कही गुम हो जाते है फिर कभी लौट कर आने के लिए। मौसम वही सुहाना जो मन को भाए दिमाग क



ये रिश्ता क्या कहलाता है एक्टर मोहसिन खान अपनी इस पुरानी तस्वीर में पहचाने नहीं जा रहे हैं | आई डब्लयू एम बज

स्टार प्लस के शो ये रिश्ता क्या कहलाता है से कार्तिक के नाम से मशहूर मोहसिन खान टेलीविजन पर स्टाइल के असली सितारे हैं।वह अपनी शैली में एकदम सही और एक्यूरेट है, कि आप उनकी शैली के खिलाफ कभी भी शिकायत नहीं कर सकते।मोहसिन और उनकी केमिस्ट्री उनकी ऑन स्क्रीन लव शिवानी जोशी के



अनुच्छेद 370 (2) एवं (3) समाप्त! लेकिन उपबंध (1) क्या 370 का भाग नहीं?

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश के इतिहास में राष्ट्रीय सुरक्षा व अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि से वर्ष 1971 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सबसे बड़ा कदम उठाकर पाकिस्तान को युद्ध में बुरी तरह से पटकनी देकर बंग्लादेश का निर्माण किया था। भारतीय सेना ने उक्त युद्ध में दो लाख से अधिक पाकिस्तानी सैनिको



अपने पैरों खड़ी।

अपने पैरों खड़ी।समझ स्कूल,कालेज, शैक्षिक संस्थानों की पढ़ाई।घर, गाँव गली में पढ़-लिखकर शहर में हुई बड़ी।कर विश्वास अपने से, हो गई अपने पैरों खड़ी।भागदौड़ कर भीड़ में, पकड़ती हूँ शहर की रेल। शहर से कमा कर वापस आना, नही है कोई खेल।हँसती मुस्कराती ऑफिसों में, दिनों को गुजारती।आ घर, गिर बिस्तर में, दिन की थकी उ



कुमकुम भाग्य: पूरब ने ऋतिक और दिशा की शादी होने का अनुमान लगाया | आई डब्लयू एम बज

बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा निर्मित ज़ी टीवी के शो कुमकुम भाग्य में पिछले कुछ हफ्तों में काफी ड्रामा देखने को मिला है। यह शो अपने रोमांचक ट्विस्ट और टर्न से दर्शकों को प्रभावित करने में कभी विफल नहीं होता। जैसा कि हम जानते हैं कि, रिब्बू मेहरा ने दिशा (रूचि सावरन) के नए दोस



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x