बेहतर नींद पाने के लिए अपनाएं यह उपाय

नींद लेना सिर्फ शरीर को आराम देने के लिए ही जरूरी नहीं होता, बल्कि यह बेहतर स्वास्थ्य की कुंजी है। आमतौर पर देखने में आता है कि लोग तनाव या काम के बोझ तले देर रात तक जागते रहते हैं और फिर उसका विपरीत असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो रात को सोते तो हैं, लेकिन फिर भी सुब



उल्टियां कर देती हैं सफर का मजा किरकिरा, अपनाएं यह उपाय

घूमना तो हर किसी को पसंद होता है। परिवार के सदस्यों व दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करते हुए नई जगह पर घूमना यकीनन किसी के लिए भी जीवन के बेहतरीन लम्हों में से एक होता है। लेकिन वहीं बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें घूमना तो पसंद होता है लेकिन फिर भी वह उससे बचते हैं। इसका मुख्य कारण होता है सफर के द



तन-मन दोनों के लिए वरदान समान है मेडिटेशन

आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में जब हर व्यक्ति किसी न किसी कारणवश तनाव में रहता है तो उसका सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ता है। यही तनाव व्यक्ति को बीमार या यूं कहें कि बहुत बीमार बनाने के लिए काफी है। दवाईयों के सहारे खुशहाल जीवन नहीं व्यतीत किया जा सकता। इसलिए इन सभी परेशानियों से बचने का एक आसान और असरदार



फिट रहने के लिए बच्चों को बनाएं अपना एक्सरसाइज पार्टनर

खुद को चुस्त व तंदरूस्त बनाए रखने के लिए एक्सरसाइज करना बेहद आवश्यक है। व्यायाम सिर्फ वजन कम करने का ही काम नहीं करता, बल्कि इससे शरीर को अन्य कई तरह के लाभ होते हैं। जैसे बाॅडी की स्टेंथ व स्टेमिना बढ़ता है और शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से काम करते हैं। आमतौर पर देखने में आता है कि लोग शुरूआत में तो



काली मिर्च है बहुत कमाल की

आज के समय में लोगों की गलत लाइफस्टाइल कई तरह की बीमारियों की वजह बनती हैं। अमूमन किसी भी तरह की परेशानी होने पर लोग दवाईयों का ही सहारा लेना पसंद करते हैं लेकिन अगर आप चाहें तो बिना दवाईयों के भी बहुत सी छोटी-छोटी परेशानियों को आसानी से दूर कर सकते हैं। खासतौर से, आपकी किचन में मौजूद काली मिर्च एक ऐ



संतरे के छिलकों को ना करें फेकने की भूल, होंगे यह नुकसान

सर्दियों में लोग संतरे का सेवन काफी अधिक मात्रा में करते हैं, लेकिन अक्सर देखने में आता है कि संतरा खाने के बाद लोग इसके छिलके को यूंही बाहर फेंक देते हैं| पर क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि संतरे की ही तरह उसके छिलके भी सेहत व सौंदर्य दोनों के लिए बेहद लाभदाई होते हैं| तो चलिए आज हम आपको संतरे के



पेट में हो गई है गैस, अपनाएं यह उपाय

आज के समय में जिस तरह का खानपान अपनाते हैं उस सीधा असर पाचन तंत्र पर दिखाई देता है| पेट की सभी परेशानियों में सबसे ज्यादा लोग गैस से परेशान रहते हैं| कभी कभी लंबे समय तक भूखे रहने के कारण या एकदम हैवी भोजन करने की वजह से खाना सही तरह से नहीं पच पाता और व्यक्ति को अपच पेट में गैस या पेट में दर्द



इन समस्याओं को चुटकियों में दूर करता है अदरक

सर्दियों के मौसम में अदरक का सेवन काफी मात्रा में किया जाता है। फिर चाहे बात सुबह की चाय की हो या फिर दोपहर के खाने की, अदरक के बिना भोजन का वह स्वाद ही नहीं आता। इतना ही नहीं, ठंड के मौसम में अदरक का सेवन शरीर के तापमान को भी बनाए रखने का काम करता है। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि अदरक एक बे



सर्दियों में अवश्य करें गुड़ का सेवन, मिलेंगे यह जबरदस्त लाभ

ठंड के मौसम में खान-पान में काफी बदलाव आ जाता है। इस कड़कड़ाती ठंड में लोग मीठा खाना ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा मीठा सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता। अगर आपको इस मौसम में अक्सर मीठे की तलब लगती है तो डाइट में रिफांइड शुगर के स्थान पर गुड़ को जगह दें। गुड़ में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नी



सिरदर्द दूर करने के लिए दवाई नहीं, करें यह योगासन

आज के समय में लोग हर छोटी-बड़ी बीमारी के उपचार के लिए दवाईयों पर निर्भर रहते हैं लेकिन वास्तव में जरूरत से ज्यादा दवाईयों का सेवन स्वास्थ्य को हानि पहुंचाता है। ऐसी बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं हैं, जिनका उपचार बिना दवाईयों के भी किया जा सकता है। ऐसी ही एक स्वास्थ्य समस्या है, सिरदर्द की समस्या। वर्तमा



गलत खान-पान नहीं, इन कारणों से भी बढ़ता है वजन

आज के समय में अधिकतर लोग अपने बढ़ते वजन से परेशान है और इसके लिए खान-पान की गलत आदतों व लाइफस्टाइल को जिम्मेदार ठहराते हैं, पर वास्तव में सिर्फ खान-पान ही वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार नहीं होता। ऐसी भी बहुत सी चीजें होती हैं, जो वजन बढ़ाती हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ कारणों के बारे में-दवाईयों का स



पीरियड में दर्द से राहत दिलाते हैं यह आसान नुस्खे

मासिक धर्म हर स्त्री के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है, लेकिन फिर भी बहुत सी महिलाओं को पीरियड के दौरान असहनीय कष्ट व पीड़ा का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर महिलाएं माहवारी के दर्द के दौरान पेनकिलर्स लेती हैं या सिर्फ आराम करना ही पसंद करती हैं। वहीं कुछ महिलाएं इस असहनीय दर्द के साथ चार-पांच दिन गुजार



इन भोजन को एक साथ खाना पड़ सकता है सेहत पर भारी

भोजन को यदि शरीर का ईंधन कहा जाए तो गलत नहीं होगा। भोजन का काम सिर्फ पेट भरना ही नहीं होता, बल्कि इसके जरिए शरीर को वह सभी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं, जो शरीर के सही प्रकार से कार्यसंचालन के लिए आवश्यक होते हैं। इतना ही नहीं, अगर भोजन का चयन और उसका सेवन करते समय कुछ बातों का ध्यान दिया जाए तो कई तर



मैं रथ का टूटा हुआ पहिया हूं - डॉ. धर्मवीर भारती | Hindi Poem | Dharmvir Bharti

श्री धर्मवीर भारति हिंदी साहित्य के प्रयोगवादी कवि थे | डॉ. भारति हिंदी की साप्ताहिक पत्रिका 'धर्मयुग' के प्रधान संपादक थे। भारत सरकार द्वारा 1972 में डॉ. धर्मवीर भारती को पद्मश्री से सम्मानित किया गया। रथ का टूटा हुआ पहिया हूं धर्मवीर भारति की सर्वश्रेस्ट और लोकप्रिय कविताओं में से एक है | महाभारत



Guest Post : Guest posting के ज़रिये कैसे अपने ब्लॉग को बनायें NO. 1 - In HIndi

Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह



Beginner Guide: जानें क्या है ब्लॉगिंग और इससे कैसे करें कमाई - What is Blogging in Hindi

क्या आप जानते हैं ब्लॉग (Blog) क्या होता है ?ब्लॉगिंग (Blogging) कैसे करते हैं ?ब्लॉगिंग के कितने प्लेटफार्म होते हैं?ब्लॉग से पैसे कैसे कमायें ?हर हिंदी ब्लॉगर (Hindi Blogger) के मन में ये सवाल आते है। पर क्या आप इन सवालों के जवाब जानते हैं, अगर नहीं तो इस आर्टिकल को



कुछ कुछ - किस्त तीसरी ( व्याकरण - भाषा की, जीवन की : मैं और हम )

***** कुछ कुछ - किस्त तीसरी ***** *** व्याकरण - भाषा की, जीवन की *** ** मैं और हम *



Beginner Guide : अपनी वेबसाइट/ ब्लॉग की Traffic को बढ़ाने के लिए follow करें ये 9 टिप्स- IN HINDI

अपने हिंदी ब्लॉग (Hindi blog) और वेबसाइट (website) के ट्रैफिक को कैसे बढ़ायें ? यह 9 टिप्स आपके ब्लॉग के ट्रैफिक को न केवल बढ़ाएगा बल्कि गूगल पेज रैंक पर ऊपर भी लाएगा। आजकल हर हिंदी लेखक हिंदी ब्लॉगिंग (Hindi blogging) का इस्तेमाल कर रहा



रविंद्रनाथ टैगोर की प्रसिद्ध कहानियां - भिखारिन (Bhikharin story in hindi by Rabindranath Tagore) अन्धी प्रतिदिन मन्दिर के दरवाजे पर जाकर खड़ी होती,

रविंद्रनाथ टैगोर की प्रसिद्ध कहानियां - भिखारिन (Bhikharin story in hindi by Rabindranath Tagore)अन्धी प्रतिदिन मन्दिर के दरवाजे पर जाकर खड़ी होती, दर्शन करने वाले बाहर निकलते तो वह अपना हाथ फैला देती और नम्रता से कहती- "बाबूजी, अन्धी पर दया हो जाए।"वह जानती थी कि मन्दिर में आने वाले सहृदय और श्रद्ध



काबुलीवाला - रवींद्रनाथ टैगोर | Rabindranath Tagore story in hindi - Kabuliwala

रविंद्रनाथ टैगोर की प्रसिद्ध कहानियां - काबुलीवाला (Kabuliwala story in hindi by Rabindranath Tagore)मेरी पाँच वर्ष की छोटी लड़की मिनी से पल भर भी बात किए बिना नहीं रहा जात



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x