home

उल्टियां कर देती हैं सफर का मजा किरकिरा, अपनाएं यह उपाय

घूमना तो हर किसी को पसंद होता है। परिवार के सदस्यों व दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करते हुए नई जगह पर घूमना यकीनन किसी के लिए भी जीवन के बेहतरीन लम्हों में से एक होता है। लेकिन वहीं बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें घूमना तो पसंद होता है लेकिन फिर भी वह उससे बचते हैं। इसका मुख्य कारण होता है सफर के द



काली मिर्च है बहुत कमाल की

आज के समय में लोगों की गलत लाइफस्टाइल कई तरह की बीमारियों की वजह बनती हैं। अमूमन किसी भी तरह की परेशानी होने पर लोग दवाईयों का ही सहारा लेना पसंद करते हैं लेकिन अगर आप चाहें तो बिना दवाईयों के भी बहुत सी छोटी-छोटी परेशानियों को आसानी से दूर कर सकते हैं। खासतौर से, आपकी किचन में मौजूद काली मिर्च एक ऐ



इन समस्याओं को चुटकियों में दूर करता है अदरक

सर्दियों के मौसम में अदरक का सेवन काफी मात्रा में किया जाता है। फिर चाहे बात सुबह की चाय की हो या फिर दोपहर के खाने की, अदरक के बिना भोजन का वह स्वाद ही नहीं आता। इतना ही नहीं, ठंड के मौसम में अदरक का सेवन शरीर के तापमान को भी बनाए रखने का काम करता है। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि अदरक एक बे



पीरियड में दर्द से राहत दिलाते हैं यह आसान नुस्खे

मासिक धर्म हर स्त्री के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है, लेकिन फिर भी बहुत सी महिलाओं को पीरियड के दौरान असहनीय कष्ट व पीड़ा का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर महिलाएं माहवारी के दर्द के दौरान पेनकिलर्स लेती हैं या सिर्फ आराम करना ही पसंद करती हैं। वहीं कुछ महिलाएं इस असहनीय दर्द के साथ चार-पांच दिन गुजार



सर्दियों में खांसी-जुकाम ने कर दिया है परेशान, अपनाएं यह बेजोड़ नुस्खे

कपकपाती ठंड अपने साथ कई तरह की बीमारियां लेकर आती हैं। खासतौर से, इस मौसम में खांसी-जुकाम होना बेहद आम है। फिर चाहे बात बच्चों की हो या बड़ों की, हर किसी को इस सर्दी के मौसम में खांसी-जुकाम उन्हें अपनी जद में ले ही लेता है। यह एक आम बीमारी होने के बावजूद भी काफी तकलीफदेह होती है। नाक बंद होने की स्थि



भाई तू फिकर न कर



तीन बहुएँ - Teen Bahuein, hindi short story by Mithilesh Anbhigya

कैसी हो रश्मि! मार्च में पड़ने वाले अपनी देवरानी के बच्चे के बर्थडे पर आनंदी उसके घर आयी थी. ठीक हूँ दीदी, आप कैसी हैं! मैं भी ठीक हूँ, रागिनी आ गयी है. आने ही वाली है, फोन आया था उसका. गाँव से आकर बड़े शहर के अलग-अलग हिस्सों में रहने वालीं तीन संपन्न बहुओं में रागिनी सबसे छोटी थी. शाम को केक कटने के



थैंक यू पापा - Thank You Papa, short story in hindi by Mithilesh

जब मैंने पापा को 'थैंक यू' कहा तो वह भावुक हो गए. उन्हें यह शब्द सुने कई साल हो गए थे शायद! हाँ, अपनी आर्मी की नौकरी में उन्होंने खूब 'थैंक यू' खूब सुना है. कभी खाली समय में वह अपने सूटकेस को खोलते हैं, तो उनके सर्टिफिकेट देखकर हैरानी होती है. एनसीसी के बेस्ट कैडेट से लेकर, बेस्ट टीम लीडर, बेस्ट मोट



डॉक्टर की रिपोर्ट - Short Story by Mithilesh in Hindi on Doctors, Reports and Hospitals

रिपोर्ट में तो 'एचआईवी पॉजीटिव' के लक्षण दिख रहे हैं, लिफाफे से लैब के कागज़ों को निकालकर देखते हुए उस डॉक्टर ने कहा! अवधेश को काटो तो खून नहीं. हज़ारों युवकों की तरह, वह बिहार के एक गाँव से नोएडा आया था. मन उसका भी काम में नहीं लगता था, लेकिन उसके बाबूजी ने उसे जबरदस्ती शहर भेज दिया. गाँव पर उसका घर





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x