इनाम

1


पहले के दास आज के संत-योगी

पहले के दास आज के संत-योगी आज के संतो व योगी मे बहुत फर्क हैं। पहले का दास राजा के अधीन होकर अपनी रचनाओं से उन्हे सब कुछ बता देते थे। इनाम पाकर अपने आप को धन्य समझते थे। आज के योगी संत, राजा बनकर भी कुछ नहीं हासिल कर पाते। भगवान को, वह अपना आईना समझते हैं, और उसमे अपना बंदरो की तरह बार-बार चेहरा द



3 कदम और....

इस महीने न्यू वर्ल्ड कॉमिक्स पब्लिकेशन द्वारा आयोजित प्रतियोगिता और इंडियन कॉमिक्स फैंडम अवार्ड्स 2016 में वेबकॉमिक और फैन- वर्क केटेगरी में 2 पोल(वोट) आधारित पुरूस्कार जीते. इन माध्यमो के बहाने कुछ नए अनुभव जीकर और नए मित्र बनाकर अच्छा लगा .





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x