लताजी की कुंडली क्या कहती है ?

https://duniaabhiabhi.com/what-does-latajis-horoscope-say/



१२ वर्षों बाद होगा अद्भुत चमत्कार, इन ८ राशियों को मिलेगा फल

लगभग १२ वर्षो के बाद शनि और बृहस्पति का मिलन एक ही राशि में होता है | इस बार गुरु की राशि धनु में वर्षो के बाद यह मिलन होगा | धनु राशि में पहले से शनि और केतु विद्यमान हैं | और बृहस्पति के अजाने के बाद तीनो गृह एक साथ हो जायेंगे| इस संयोग पर राहु और मंगल की दृष्टि पूर्ण र



गुरु का राशी परिवर्तन ...

https://duniaabhiabhi.com/transit-of-guru-griha-what-can-happen-in-your-life/



गुरु का धनु में गोचर

गुरु का धनु में गोचर देवगुरुबृहस्पति की उपासना ज्ञान, विज्ञान, बुद्धि, धर्म और अध्यात्म के साथ-साथ भाग्य वृद्धि, विवाहतथा सन्तान सुख की प्राप्ति के लिए की जाती है | किसीव्यक्ति की कुण्डली में गुरु पिता का कारक भी होता है और किसी कन्या की कुण्डलीमें पति के लिए भी गुरु को देखा जाता है | साथ ही माना जा



राम मंदिर एक ज्योतिषीय विश्लेषण ....

https://duniaabhiabhi.com/astrology-analysis-of-ram-temple/



ग्रह डालते हैं जीवन पर असर, इनके अनुसार करें बिजनेस

ग्रह डालते हैं जीवन पर असर, इनके अनुसार करें बिजनेसअगर आप एक बिजनेस मैन है और आपका बिजनेस ठीक से फल फूल नहीं रहा है तो इसके पीछे उसके ग्रह की स्थिति हो सकती है। आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि किसी भी व्यवसाय के पीछे कोई एक ग्रह जरूर होता है। अगर वह ग्रह अच्छा है तो व्यवस



शुक्र का तुला में गोचर

शुक्र का तुला राशि में गोचर कल यानी शुक्रवार चार अक्तूबर अश्विनशुक्ल षष्ठी को सूर्योदय से पूर्व पाँच बजकर चौदह मिनट पर तैतिल करण और सौभाग्ययोग में समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारकशुक्र मित्र ग्रह



जानिए आपकी जन्मकुंडली से कब होगी बीमारी या, बीमारी / रोग का प्रकार , समय और निदान

प्रिय दर्शकों/पाठकों,आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी ,अनियमित जीवनशैली, अनियमित खानपान कई रोगो और समस्याओ को जन्म दे रहे हैं।किसी भी जातक की जन्म कुण्डली से इस बात को जानने में बहुत सहायता मिलती है कि व्यक्ति को कब , क्यों और किस प्रकार के रोगो की सम्भावना है. इसी प्रकार नक्षत्रों का भी रोग विच



लव राशिफल :- 26 सितम्बर (गुरुवार) किस राशि को मिलेगा प्रेमी का साथ

२६ सितम्बर को प्रेम करने वाले किन राशियों को मिलेगा सितारों का साथप्रेम, रोमांस , वैवाहिक दांपत्य जीवन वालो के लिए केसा रहेगा आज का दिन।मेष :- आज आपका मन किसी बातो को लेकर विचलित हो सकता है। आपके जीवनसाथी को धन लाभ या किसी और प्रकार से लाभ



मंगल का कन्या में गोचर

मंगल का कन्या में गोचरकल 25 सितम्बरयानी आश्विन कृष्ण एकादशी को प्रातः छह बजकर चौंतीस मिनट के लगभग मंगल अपने मित्र सूर्यकी सिंह राशि से निकल कर शत्रु ग्रह बुध की राशि कन्या में प्रस्थान कर जाएगा |मंगल इस समय उत्तर फाल्गुनी नक्षत्र पर होगा तथा अस्त होगा | इस प्रस्थान के समय बालवकरण और शिव योग होगा | क



Astro World 2019 Exhibition में मेरी कुछ झलकियां

हमारी परामर्श/सलाह/एडवाइज सेवाएं आज 19,20 एवम 21 जुलाई 2019 (शुक्रवार से रविवार) तक मेरी परामर्श सेवाएं ...स्टाल नम्बर #AH,Astro World 2019 Exhibition,कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया,कनॉट प्लेस, नई दिल्ली में उपलब्ध रहेंगी।संपर्क करें--आचार्य अमित तिवारी - 09893016120...ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास



ज्योतिष - परामर्श सेवाएं, दिल्ली में

19,20 एवम 21 जुलाई 2019 (शुक्रवार से रविवार) तक मेरी परामर्श सेवाएं ...नई दिल्ली में उपलब्ध रहेंगी।आज से दिल्ली प्रवास/विश्राम..22 जुलाई 2019 शाम तक।👍👍💐💐💐कमरा नम्बर - 104.होटल पूनम इंटरनेशनल,3169/70, Sangatrashan,बाँके बिहारी मन्दिर के निकट,पहाड़गंज, नई दिल्ली-110055..फोन नम्बर -(011) 41519884👍



नक्षत्र एक विश्लेषण

नक्षत्रों के गुण हमने अपने पिछले अध्यायों में नक्षत्रों की नाड़ी, योनि, गण, वश्य औरतत्वों के विषय में बात की | नक्षत्रों का विभाजन तीन गुणों – सत्व, रजस और तमस – केआधार पर भी किया जाता है | इन तीनों ही गुणों की आध्यात्मिक तथा दार्शनिक दृष्टिसे चर्चा तो इतनी विषद हो जाती है कि जिसका कभी अन्त ही सम्भव



मंगल का कर्क में गोचर

मंगल का कर्क में गोचरआज आषाढ़ कृष्ण षष्ठीको रात्रि ग्यारह बजकर बाईस मिनट के लगभग मंगल अपने शत्रु गृह बुध की मिथुन राशिसे निकल कर राशि कर्क में प्रस्थान कर जाएगा – जहाँ कल ही बुध का भी गोचर हुआ है | इसप्रस्थान के समय गर करण और प्रीति योग होगा तथा मंगल इस समय पुनर्वसु नक्षत्र परहोगा | बुध वहाँ पहले ही



सूर्य का मिथुन में गोचर

सूर्य का मिथुन में गोचर आज सायं पाँच बजकर उन्तालीस मिनट केलगभग भगवान भास्कर अपने शत्रु गृह शुक्र की वृषभ राशि से निकल कर बुध की मिथुनराशि में प्रविष्ट हो जाएँगे, जहाँ उनके लिए विचित्र परिस्थिति बनी हुई है | एक ओरउनका मित्र ग्रह मंगल वहाँ गोचर कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर एक शत्रु ग्रह राहु कागोचर भी व



नक्षत्र - एक विश्लेषण

नक्षत्रों की नाड़ियाँपिछले लेख में हमने बात कीप्रत्येक नक्षत्र की संज्ञाओं और उनके आधार पर जातक के अनुमानित कर्तव्य कर्मों की| नक्षत्रों का विभाजन नाड़ी, योनि और तत्वों के आधार पर किया गया है | तो आज“नाड़ियों” पर संक्षिप्त चर्चा…प्रत्येक नक्षत्र की अपनी एकनाड़ी होती है – या यों कह सकते हैं कि प्रत्येक न



नक्षत्रों की संज्ञा के अनुसार कर्तव्य कर्म

नक्षत्रोंकी संज्ञा के अनुसार कर्तव्य कर्म पिछले लेखों में बात कर रहे थे कि 27 नक्षत्रों में प्रत्येकनक्षत्र में कितने तारे (Stars) होते हैं, प्रत्येक नक्षत्र के देवता (Deity) तथा स्वामी अथवा अधिपति ग्रह (Lordship)कौन हैं, प्रत्येक नक्षत्र को क्या संज्ञा दी गई है| नक्षत्रों की संज्ञा से उनकी प्रकृति



सफलता का मार्ग - कुंडली से जानें

सफलता का मार्ग - कुंडली से जानें सफलता का स्वाद कौन नहीं चखना चाहता? हर व्यक्ति सफल होने की कामना रखता है, इसके लिए प्रयास भी करता है परन्तु सभी यह नहीं जानते कि सफलता किस प्रकार हासिल की जा सकती। हम अपने आसपास प्रतिदिन ऐसे सैकड़ों उदाहरण देखते है कि कुछ लोगों को सफलत



इन 5 राशियों पर होगी गौरी पुत्र गणेश की असीम कृपा, होगा भाग्योदय, दूर होंगे सभी संकट

ग्रहों की स्थिति कब बदल जाये कुछ कहा नहीं जा सकता, ज्योतिष की मानें तो रोज़ाना किसी न किसी ग्रह में परिवर्तन ज़रूर होता है जिसकी वजह से 12 रशियन प्रभावित होती हैं। तो आइये जानते हैं पं दयानन्द शास्त्री से कि किन-किन राशियों पर है गौरी पुत्र गणेश की असीम कृपा और साथ ही कैसा रहेगा आपका आज का दिन । मेष व



शुक्र का मकर राशि में गोचर

शुक्र का मकर राशि में गोचर कल फाल्गुनकृष्ण षष्ठी को वणिज करण और ध्रुव योग में रात्रि 22:46 के लगभग समस्त सांसारिक सुख,समृद्धि, विवाह, परिवारसुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारक शुक्र धनु राशि से निकल कर अपने परममित्र ग्रह शनि की मकरराशि में प



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x