ka



rubber man of india- जसप्रीत सिंह -

इस लेख में आप जसप्रीत सिंह (rubber man of india jaspreet singh kalra ) कालरा यानि रबर मैन ऑफ़ इण्डिया के बारे में पढ़ेंगे -rubber man of india रबर मैन ऑफ़ इण्डिया -jaspreet singh kalra जसप्रीत सिंह कालरा को भारत का रबर मैन कहा जाता है ,जसप्रीत सिंह कालरा पंजाब ,लुधियाना के रहने वाले हैं | माना जाता है



भीमराव अंबेडकर जयंती एवं उनका जीवन परिचय -

डॉ भीमराव अंबेडकर dr bheemrao ambedkar - इस लेख में आप अम्बेडकर जी की जीवन और आंबेडकर जयंती के बारे में पढ़ेंगे (ambedkar jayanti in hindi )-डॉ भीमराव अम्बेडकर को बाबासाहेब के नाम से भी जाना जाता है, अम्बेडकर जी उनमें से एक है, जिन्होंने भारत के संविधान को बनाने में अप



चित्तौड़गढ़ किले का रोचक इतिहास - CHITTAURGARH FORT HISTORY IN HINDI

चित्तौड़गढ़ किले का इतिहास- इस लेख में आप पढ़ेंगे (CHITTAURGARH FORT HISTORY IN HINDI) चित्तौड़गढ़ के भव्य किले के बारे में -चित्तौड़गढ़ किला एक भव्य और सुन्दर किला है , जो राजपुताना और किले के निर्माणकर्ता यानि मौर्यों के साहस की कहानी बयां करता है ,राजस्थान के चित्तौड़गढ़



प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की पूरी जानकारी

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना- pradhanmantri Kaushal Vikas Yojana in Hindi -इस लेख में आप kaushal vikas yojana के बारे में पढ़ेंगे -मानव कल्याण यानि आम आदमी के हित के लिए बहुत सी योजनाएं सरकार द्वारा चलायीं जाती हैं , उनमे से ही एक है प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना-(pradhanmantri Kaushal Vikas Yojana)



प्रधानमंत्री सुकन्या योजना 2020

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samridhi yojna) - जिसे प्रधानमंत्री समृद्धि योजना भी कहा जाता है -चलिए आपको बताते हैं ,सुकन्या योजना(sukanya yojna)के बारे में विस्तार से - सुकन्या समृद्दि योजना (sukanya yojna)-हमारे देश में ऐसे न जाने कि



भारत सरकार की 100+सरकारी योजनाएं जिनका आप लाभ उठा सकते हैं

सरकारी योजनाएं (government schemes in hindi)- सरकारी योजनायें सरकार द्वारा निकाली गयी स्कीम्स होती हैं ,आप सरकारी योजनाओं (sarkari yojana) के बारे में जानना चाहते हैं ,तो य



भारत के युवा सन्यासी स्वामी विवेकानंद की जीवनी

स्वामी विवेकानंद (swami vivekananda in hindi) - इस लेख में आप साहित्य, दर्शन और इतिहास के प्रकाण्ड विव्दान और भारत के एक युवा सन्यासी स्वामी विवकानंद के बारे में पढ़ेंग-स्वामी विवेकानंद भारत के एक युवा सन्यासी थे जिन्होंने अपने विचारों स



संत कबीर दास के दोहे हिंदी अर्थ सहित | kabir ke dohe in hindi

कबीर के दोहे हिंदी अर्थ सहित (kabir ke dohe in hindi )कबीर दास ने अपने दोहों से विश्व में अनेक परेशानियों और मुश्किलों को हल किया है,चाहे जीवन में कोई भी चिंता हो या असमंजस हो, आप हमेशा कबीर के दोहे (kabir das ke dohe) पढ़कर अपना मन शांत



परियों की कहानी हिन्दी में । परियों की खूबसूरत कहानी। Pari Story in Hindi 2019.

परियों की कहानी परीलोक में परियों की एक राजकुमारी थी। वह छोटे बच्चों से बहुत प्यार करती थी। एक दिन राजकुमारी नई तय किया कि बच्चों के स्कूल के सबसे स्वस्थ बच्चे को ढेर सारे तोहफे और वरदान देगी।राजकुमारी अपने उड़नखटोले पर बैठ कर बच्चों के स्कूलों का निरिक्षण करने लगी। र



"Archana Ki Rachna" A Hindi Poetry Blog based based on life. : Preview "धुंध "

तुझ में उलझा हूँ इस कदर केअब कुछ भी सुलझता नहीं हर तरफ एक धुंध सी हैजो तेरे जातेकदमो से उठी है इसमें जीने की घुटनको मैं बयां कर सकता नहींहर जरिया बंद कर दियातुझ तक पहुंचने कापर एक तेरे ख्यालको कोई दरवाज़ारोक पाता नहींमैं जानता हूँ के तून आएगा अब कभीमेरा हाल भी पूछने क



Archana Ki Rachna: Preview ""पिता ""

लोग कहते हैं , मैं अपने पापा जैसे दिखती हूँ,एक बेटे सा भरोसा था उनको मुझपरमैं खुद को भाग्यशाली समझती हूँ।मैं रूठ जाती थी उनसे, जब वो मेरे गिरने पर उठाने नहीं आते थेपर आज समझती हूँ , वो ऐसा क्यों करते थेआज मैं अपने पैरों पे हूँ , उसी वजय सेदे कर सहारा वो मुझे हमेशा के लि



Archana Ki Rachna: Preview "कुछ कही छूट गया मेरा "

तुम अपना घर ठीक सेढूंढना ,कुछ वहींछूट गया मेराढूंढ़ना उसे , अपने किचन मेंजहाँ हमने साथ चाय बनाई थीतुम चीनी कम लेते होये बात तुमने उसे पीने के बाद बताई थीउस गरम चाय की चुस्की लेकरजब तुमने रखा था दिल मेरातुम अपना किचन ठीक सेढूंढना , कुछ वही छूट गया मेराढूंढना उसे , उस परदे



Archana Ki Rachna: Preview "तेरी याद "

मैंने घर बदला औरवो गलियाँ भी फिर भी तेरी याद अपने संग इस नए घर में ले आया एक मौसम पार कर मैं फिर खड़ी हूँ, उसी मौसम की दस्तक पर, वही गुनगुनाती ठंड और हलकी धुंध,जिसमे कभी तू मुझे आधी रात मिलने आया वो एक पल में मेरा बेख़ौफ़ हो कुछ भी कह जाना ,और फिर तुझे अजनबी जान कसमसा जाना



Archana Ki Rachna: Preview "नियति का खेल "

जब हम बुरे समय सेगुजरते हैं अपने ईश्वर को यादकरते हैं सब जल्दी ठीक हो जाये यही फरियाद करते हैं भूल कर उस ईश्वरका जीवन संघर्ष हम सिर्फ अपनी बातकरते हैंचलो आओ याद दिलातीहूँ एक रोचक बातजो तुम सब को भी है यादजब उस ईश्वर नेअवतार लिया धरती पेतो वो भी दर्द से अछूता न थाकहने को



Archana Ki Rachna: Preview "पुनर्विचार"

क्या कोई अपने जीवन सेकिसी और के कारणरूठ जाता है ? के उसका नियंत्रण खुद अपने जीवनसे झूट जाता है? हां जब रखते हो,तुम उम्मीद किसीऔर से,अपने सपने को साकार करने कीतो वो अक्सर टूट जाता हैजब भरोसा करते हो किसी पेउसे अपना जान कर,खसक जाती हैपैरों तले ज़मीन भीजब वो "अपना"अपनी मत



Archana Ki Rachna: Preview "नव प्रभात "

रात कितनी भी घनी हो सुबह हो ही जाती है चाहे कितने भी बादलघिरे होसूरज की किरणें बिखरही जाती हैंअंत कैसा भी होकभी घबराना नहींक्योंकि सूर्यास्त का मंज़रदेख कर भीलोगो के मुँह सेवाह निकल ही जाती हैरात कितनी भी घनी होसुबह हो ही जाती हैअगर नया अध्याय लिखना होतो थोड़ा कष्ट उठाना ह



Archana Ki Rachna: Preview "बदला हुआ मैं "

जब भी अपने भीतर झांकता हूँ खुद को पहचान नहीं पाता हूँ ये मुझ में नया नया सा क्या है ?जो मैं कल था , आज वो बिलकुल नहींमेरा वख्त बदल गया , या बदलाअपनों ने हीमेरा बीता कल मुझे अब पहचानता, क्या है ? मन में हैं ढेरो सवालशायद जिनके नहीं मिलेंगे अ



Archana Ki Rachna: Preview "कुछ दिल की सुनी जाये "

चलो रस्मों रिवाज़ों को लांघ करकुछ दिल की सुनी जाये कुछ मन की करी जाये एक लिस्ट बनाते हैं अधूरी कुछ आशाओं कीउस लिस्ट की हर ख्वाहिश एक एक कर पूरी की जाये कुछ दिल की सुनी जाये कुछ मन की करी जाये कोई क्या सोचेगा कोई क्या कहेगा इन बंदिशों से परे हो के थोड़ी सांसें आज़ाद हवा मे



Archana Ki Rachna: Preview "उमीदों का खेल"

क्या ज़्यादा बोझिल है जब कोई पास न हो या कोई पास हो के भीपास न हो ?कोई दिल को समझा लेता है क्योंकि,उसका कोई अपनाहै ही नहींपर कोई ये भुलाये कैसेजब उसका कोई अपनासाथ हो के भी साथ न होजहाँ चारो ओर चेहरोंकी भीड़ हो अपनापन ओढ़ेअपनी ज़रूरत पर सब दिखेपर गौर करना, जब तुमने पुकारातो



Archana Ki Rachna: Preview "गाडी के दो पहिए"

मैं स्त्री हूँ , और सबकासम्मान रखना जानती हूँ कहना तो नहीं चाहतीपर फिर भी कहना चाहती हूँ किसी को ठेस लगे इस कविता सेतो पहले ही माफ़ी चाहती हूँ सवाल पूछा है और आपसेजवाब चाहती हूँक्या कोई पुरुष, पुरुष होने का सहीअर्थ समझ पाया हैया वो शारीरिक क्षमता को हीअपनी पुरुषता समझ



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x