मैं क्यों विरोध नहीं करूं

आखिर मैं क्यों ना करूं विरोध, इन राष्ट्रद्रोहियों का; स्वार्थ प्रेरित हो राष्ट्र की सुरक्षा भी, दांव पे लगा देते हैं जो।ऐसे लोगों का विरोध क्यों ना करूं मैं,जो सरकार का विरोध करने हेतु हाथ मिला लेते हैं , देश के दुश्मनों से।विरोध मैं अवश्य करूंगा, उन कथित विद्वानों का



लूटने से बचो।

लूटने से बचो।मंदिरों को अक्सर लूटा गया, महलो में क़ब्जे किए।पूंजीपतियों को जमीदारी, गरीबों को गुलाम बनाया।मध्यमवर्ग जब उग्र हुआ तो उन्हें, फाँसी में लटकाया।जाति धर्म रंग भेद-भाव से, मानव मे दो फ़ाक कराया।ऊँच नीच जोड़ करनी संग, भाई भाई को भड़काया।कर ओछी-ओछी राजनीति देश को भृष्ट बनाया।कर बटवारे देश के चार



जीने की चाहत

जीने की चाहत<!--/data/user/0/com.samsung.android.app.notes/files/clipdata/clipdata_200815_041714_693.sdoc-->लॉकडाऊन लगा कर, जान बचा लिया तुमने।जीते जी बाहर निकाल प्रवासियों को, मार दिया तुमने।घर कैद कर लोगो की, जीने की चाहत बढ़ा दिया तुमने।अपने परायों के प्यार की, औकाद दिखा दिया तुमने।शहर में प्रवासि



यह कैसा नियम है ? ( ईद मुबारक के अवसर पर संसमरण )

यह कैसा नियम है ?(ईद मुबारक के अवसर पर संसमरण)डॉ शोभा भारद्वाज विदेश में रहने वाले भारतीयों एवं पाकिस्तानियों के बीच अच्छे सम्बन्ध बन जाते है कारण भाषा एक से सुख दुःख | ईरान के प्रांत खुर्दिस्तान की राजधानी सनंदाज में पठान डाक्टर हुनरगुल उनकी पत्नी सूफिया के साथ



भारतीय राजनीति में ‘सवालों’ के ‘जवाब’ के ‘उत्तर’ में क्या सिर्फ ‘सवाल’ ही रह गए हैं?

भारतीय राजनीति का एक स्वर्णिम युग रहा है। जब राजनीति के धूमकेतु डॉ राम मनोहर लोहिया, अटल बिहारी बाजपेई, बलराम मधोक, के. कामराज, भाई अशोक मेहता, आचार्य कृपलानी, जॉर्ज फर्नांडिस, हरकिशन सिंह सुरजीत, ई. नमबुरूदीपाद, मोरारजी भाई देसाई, ज्योति बसु, चंद्रशेखर, तारकेश्वरी सिन्हा जैसे अनेक हस्तियां रही है।



सफाई कर्मचारियों के हक और अधिकारों की दास्तां को बयां करती हुई नरेंद्र वाल्मीकि की कविता 'आखिर कब तक'

आखिर कब तकआखिर कब तककरते रहोगे अमानवीय कामढोते रहोगे मलमूत्रमरते रहोगे सीवरों मेंनिकालते रहोगे गंदी नालियाँढोते रहोगे लाशेंआखिर कब तकसहोगे ये जुल्मकब तक रहोगेखामोश ?सुनो सफाईकर्मियों !अब बजा दोबिगुलइन गंद



होली की शुभकामनाएं

सभी हिन्दी सपरिवार को मेरी तरफ से होली एवं रंगोली की ढेर सारी बधाई व हार्दिक शुभकामनाएं



सफलता

कभी मत रहो आश्रित किस्मत पर केवलकरो तुम मेहनत, तभी होंगे तुम सफलपहले तुम्हारे काम अटकते हुए दिखेंगेपहले तुम्हारे मार्ग भटकते हुए दिखेंगेकुछ समझ में न आए तभी जब तुम्हेंमन से ताकत खिसकते हुए दिखेंगेधीरे - धीरे बाद में तुम जाओगे संभलकरो तुम मेहनत, तभी होंगे तुम सफलछांव धूप से तुम्हे डराती हुई आयेगीसुस्



दुनिया सर झुकाती है रसूख देखकर इसका 🇮🇳

तिरंगा शान है अपनी ,फ़लक पर आज फहराए ,फतह की ये है निशानी ,फ़लक पर आज फहराए ................................................रहे महफूज़ अपना देश ,साये में सदा इसके ,मुस्तकिल पाए बुलंदी फ़लक पर आज फहराए ..............................................मिली जो आज़ादी हमको ,शरीक़ उसमे है ये भी,शाकिर हम सभी



कोस कोस पर बदले पानी

वर्ष 2020 की हार्दिक शुभकामनाएँ कोस कोस परबदले पानी, चार कोस पर बानी भारत मेंविभिन्न प्रान्तों व समुदायों के नववर्षआज 2019 का अन्तिम दिन है – दिसम्बर माह का अन्तिम दिवस... और कल वर्ष 2020का प्रथम दिवस - पहली जनवरी – जिसे लगभग हर जगह नव वर्ष के रूप मेंमनाया जाता है | सबसे पहले तो सभी को कलसे आरम्भ हो



जीवन में असफलता के 10 मुख्य कारण...

जीवन में असफलता के 10 मुख्य कारण... क्या आप बार-बार अपने जीवन में असफलता प्राप्त कर रहे हैं? क्या आप सोचने लगे हैं कि आपकी असफलता का मुख्य कारण आपका भाग्य है? अगर हाँ ! तो इस पोस्ट के द्वारा असफलता के 10 मुख्य कारण को पढ़ें और अपने जीवन में failure के सही कारणों को समझें। हो सकता



दीपावली पर सौभाग्य कविता

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w



उल्लू पर बैठी लक्ष्मी.....

वसुंधरा के हर कोने को जगमग आज बनायेंगे ,जाति-धर्म का भेद-भूलकर मिलकर दीप जलाएंगे ........................................................................पूजन मात्र आराधन से मात विराजें कभी नहीं ,होत कृपा जब गृहलक्ष्मी को हम सम्मान दिलायेंगें ..............................



करवा चौथ के पावन पर्व की शुभकामनाएं

🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷 *जय श्रीमन्नारायण*🌹 *श्री राधे कृपा हि सर्वस्वम* 🌷 🌛🌛🌛🌛🌛🌛🌛🌛 *आद्या शक्ति पराम्बा माँ भगवती की अंशस्वरूपा मातृ शक्तियों को करवा चौथ व्रत की हार्दिक शुभकामनाएँ*🌳☘🦜🌳🌲☘🏵💐 सभी मात्र शक्तियों को आज पावन करवा चौथ व्रत की हार्दिक शुभकामनाओं सहित मंगल कामना हम



रामानंद सागर को राम जी ने ही चुना

आज दशहरा है .जहाँ देखो रामलीला और रामायण की धूम है .आज बहुत से फिल्म निर्देशक और निर्माता रामायण की लोक प्रियता को भुनाने के मूड में हैं और राम के चरित्र से जुड़े इस कथानक पर आधारित धारावाहिकों व् फिल्मों की बाढ़ सी आ गयी है किन्तु यदि हम इन सभी की गुणवत्ता का आकलन कर



तिरंगा शान है अपनी, फ़लक पर आज फहराये।

तिरंगा शान है अपनी ,फ़लक पर आज फहराए ,फतह की ये है निशानी ,फ़लक पर आज फहराए ....रहे महफूज़ अपना देश ,साये में सदा इसके ,मुस्तकिल पाए बुलंदी फ़लक पर आज फहराए .....मिली जो आज़ादी हमको ,शरीक़ उसमे है ये भी,शाकिर हम सभी इसके फ़लक पर आज फहराए ....क़सम खाई तले इसके ,भगा देंगे फिरंगी को ,इरादों को दी मज़बू



गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा: अंतरा और अक्षत का संगीत | आई डब्लयू एम बज

ज़ी टीवी का प्रसिद्ध शो गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा (वेद राज शून्य स्क्वेयर) अपने दिलचस्प ड्रामे से दर्शकों को टीवी स्क्रीन से जोड़े रखता है।जैसा कि हमने इससे पूर्व आई डब्लू एम बज्ज.कॉम द्वारा आप सभी को खबर दी थी कि अक्षत और गुड्डन (कनिका मन) को अंतरा से प्रॉपर्टी के पेपर वा



सुषमा जी भारत माता की वीर कर्तव्यमयी निष्कामभाव पूर्ण देश पर समर्पित एक महान देवी

शब्दों की कमी भाव को समझ जाइए । जय हिंद आत्मन: शांति भवति: भारत माँ की गोद में ॐ शांति शांति शांति !



गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा: अक्षत ने किया अंतरा को स्वीकार, क्या होगा गुड्डन का? | आई डब्लयू एम बज

ज़ी टीवी का लोकप्रिय शो गुड्डन तुमसे ना हो पायेगा (वेद राज की शून्य स्क्वायर) अपनी मनोरंजक कहानी के साथ दर्शकों का मनोरंजन करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। हाई वोल्टेज ड्रामा दर्शकों को चल रहे एपिसोड से रूबरू करा रहा है। प्लॉट के अनुसार, अंतरा (दलजीत कौर) ने अक्षत (निशा



डेर्मोकाम लोशन- कारण ,इस्तेमाल,सावधानी,दुष्प्र्भाव

डेर्मोकाम लोशन- कारण ,इस्तेमाल,सावधानी,दुष्प्र्भाव डेर्मोकाम लोशन दवा का उपयोग शुष्क, खुरदरी, पपड़ीदार, खुजली वाली त्वचा और त्वचा की जलन के उपचार या रोकथाम के लिए मॉइस्चराइज़र के रूप में किया जाता है। डेर्मोकाम लोशन पराबैंगनी विकिरण



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x