ख़्वाब

1


मिलन

मिलने के ख्वाब की ख़ुशी, मिलकर क्यों गम में बदल जाती है, उनसे बिछड़ने का एहसास ही ख़ुशी को गम में बदल देता है. (आलिम)



तुम से मिलने को जी चाहता है.

तुम से मिलने को जी चाहता है. ना हकीकत से भाग सकता हूँ, ना ख्वाबों में जी सकता हूँ, ना जाने क्यों फिर भी तेरे ख्वाबों में जीने को जी चाहता है. हकीकत में मिलना मुमकिन ना सही, ख़्वाबों में आना कुछ कम तो नहीं.



बिखरो मेरे ज़ज़्बातों

बिखरो मेरे ज़ज़्बातों✒️बिखरो मेरे ज़ज़्बातोंतुम तो धीरे-धीरे,करुण स्वरों को मेरे अब तकहर जीवित ठुकराया है।रखा सुरक्षित जिन्हें जन्म से, हीरे-मोती से शृंगारितचक्षु तले निशि-दिन, संध्या को, रखा सवेरे भी सम्मानित;स्वर्ण सलाखों के पिंजर में, मुझे छोड़कर क्यों जाते हो?मुड़कर देखो रंज-रुदन को, उपहासों से क्या प



भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा- कुमार विश्वास

Hindi poem - Kumar vishwasभ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामाभ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामाहमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामाअभी तक डूबकर सुनते थे सब किस्सा मुहब्बत कामैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामाकभी कोई जो खुलकर हंस लिया दो पल तो हंगामाकोई ख़्वाबों में आकर बस लिया द



ग़ज़ल दर्द को दिल में छुपाना आ गया

Ghazal - --The pain came to be hidden in the heart. Stop tears smile .. It has happened to steal Ishq's chain of heart too. The dream is to be decorated in the nain and then the songs came to murmur. They came to know the difficulties of the road floor, and they also increased. Cutting the chest Him





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x