भूखे बच्चों को रोटी खिलाने के लिए तंगहाली में कुली बन गया देश का यह नेशनल हॉकी खिलाड़ी

हॉकी के मैदान पर गोल दागने वाले नेशनल खिलाड़ी तारा सिंह का नया पता है अंबाला रेलवे स्टेशन। रेलवे में खेल कोटे से उन्हें मुलाजिम होना था पर वे कुली बनने को मजबूर  नई दिल्लीः अंबाला रेलवे स्टेशन पर अगर कोई नौजवान कुली आपसे मिले और पूछे कि बाबूजी कहां सामान ले चलना है तो जरा उसका नाम जरूर पूछ लीजिएगा।



टॉयलेट ब्रेक नहीं मिला तो खिलाडिय़ों ने किया प्रदर्शन

वर्ष के तीसरे ग्रैंड स्लैम विबलडन में उस समय अजीबो-गरीब स्थिति पैदा हो गई जब पुरुष युगल वर्ग के मुकाबले में उरुग्वे के पाब्लो क्यूवास को मैच के बीच में टॉयलेट ब्रेक न मिलने पर उन्होंने कोर्ट पर बैठकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुरुष युगल के तीसरे दौर में पाब्लो और उनके जोड़ीदार स्पेन के मार्सेल ग्रैनोलर



बाहरी परत (कहानी) - मोहित शर्मा ज़हन

ओलम्पिक 800 मीटर दौड़ क्वालीफाइंग राउंड में रमन ने गिर कर भी रस पूरी की और क्वालीफाई किया। हालांकि, गिरने के दौरान रमन की कुछ पसलियां टूट गईं, और अंदरूनी चोटें लगी। अन्य राउंड के दौरान यह अपडेट दुनियाभर में दर्शकों को मिली। उन्हें यह भी बताया गया कि रमन ने फाइनल राउंड  में दौड़ने का फैसला लिया है। इस



खेलें खेल

जिलाधिकारी महोदय ने प्रत्येक गाँव में खेल मैदान विकसित करने की आवश्यकता पर जोर दिया।हलचल सी शुरू हुई बच्चों में,हाथ पैर फैला कसरत चालू कर दी।कोई क्रिकेट मैच की तो कोई गिल्ली डन्डा ही खेलता नज़र आता।अभी तक किसी के खाली पड़े खेत या बाग में खेलते थे,अब अपना खेल मैदान होने जा रहा है।सब बहुत खुशी से चयनि



सरकार नहीं, भाग्य के भरोसे जिंदगी से जंग लड़ रहे हैं देश का मान बढ़ाने वाले खिलाडी शाहिद

गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती मास्को ओलंपिक के गोल्ड मेडीलिस्ट हॉकी लीजेंड मोहम्मद शहीद को यूँ सरकार से कोई देखने नहीं आया.  नई दिल्ली : गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती मास्को ओलंपिक के गोल्ड मेडीलिस्ट हॉकी लीजेंड खिलाडी मोहम्मद शहीद को यूँ सरकार से कोई देखने नहीं आया. लेकिन शाम होते-होत



कुर्सी का खेल (व्यंग)

चाहे भोजन करने के लिए कुर्सियों का जंग हो या नेताओं के बीच सत्ता का लेकिन कुर्सी का खेल बड़ा ही निराला है कोई मेज के लिए झगड़ा क्यों नहीं करते क्या खास बात है कुर्सी में इसे तो ऐसे ही समझ लेना चाहिए कि आज से ही मोदी क्यों इलाहाबाद जाकर अपनी कुर्सी पक्का करने में जुट गयें हैं |ये दूसरो को बेकार और अप



शतरंज के खिलाड़ी

वाजिदअली शाह का समय था। लखनऊ विलासिता के रंग में डूबा हुआ था। छोटे-बड़े, अमीर-गरीब, सभी विलासिता में डूबे हुए थे। कोई नृत्य और गान की मजलिस सजाता था , तो कोई अफीम की पीनक ही के मजे लेता था। जीवन के प्रत्येक विभाग में आमोद-प्रमोद को प्राधान्य था। शासन विभाग में, साहित्य क्षेत्र में, सामाजिक व्यवस्था



हरभजन सिंह को फिर आया गुस्सा, बॉल नहीं पकड़ी तो साथी खिलाड़ी को कहे अपशब्द

IPL सीजन के 29 वें मैच में हरभजन सिंह एक बार फिर से साथी खिलाड़ी से भिड़ गएIPL सीजन के 29 वें मैच में हरभजन सिंह एक बार फिर से साथी खिलाड़ी से भिड़ गए. पुणे में राईजिंग पुणे और मुंबई इंडियन्स के बीच खेले जा रहे मैच के दौरान हरभजन सिंह की साथी खिलाड़ी अंबाती रायड़ू से जमकर भिड़ंत हो गई. खबर है कि छोट



'बाॅलीवुड हस्तियों का खेलों को बढ़ाने के लिए आगे आना बेहतर लेकिन खिलाडि़यों को आगे लाने की हो पहल'

योगगुरु और प्रतिद्वंद्वी व्यवसायियों को शीर्षासन करने को मजबूर कर देने वाले स्वामी रामदेव ने आज राजधानी दिल्ली में कहा कि खेलों को प्रमोट करने के लिए सलमान जैसी हस्तियों का आगे आना खेलों के भविष्य के लिए फायदेमंद होगा। हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि इस तरह के फैसलों से खिलाडि़यों का



प्यार की खेलो होली ओ मेरे हमजोली (बिना जल की होली का मौलिक गीत)

दागो दिल की गोली,बचे न कोई चोली, मस्ती में कर छिछोली,प्यार की खेलोहोली, ओ मेरे हमजोली!<!--[if !supportLists]-->-   <!--[endif]-->फूलों के हो रंग बिन पानीके संग, मोड़ों नाही कलईयाँ, न करोमोहे तंग,नस-नस दौड़ पड़ा है प्रेम कातेरा भंग,दुनिया की अब बोली, गुलालहो या हो रोली,दागो दिल की गोली,बचे न कोई चोली,मस



17 दिसम्बर 2015

#लगान अभी बाकी है क्रिकेट के खेल का?

क्रिकेट के काले कमाई के कलंक से कोई भी राजनैतिक दल अछूता नहीं है, एक मामले के उजागर होने से सारे मामलो पर असर पड़नी लाजमी है? खेल क्रिकेट का, टिकट का पैसा जनता का कमाई न जाने कौन कौन कर रहा है और देश की राजनीती खेल का आनंद ले रही है? तटस्थ संचालन का जिम्मा संभाले हुए क्या खेल के परिंणाम में निर्णायक



महज मनोरंजन नहीं : अब 'खेल' बनाते हैं नवाब!

खेलों में आगे आने का यदि कोई अचूक मंत्र है तो वह है ''कैच देम यंगÓÓ जिसका मतलब है छोटी उम्र में ही खेलों में रुचि रखने वाले, स्वस्थ, मजबूत शरीर च इच्छाशक्ति वाले बच्चों को चुनना । स्कूल स्तर से ही उन्हें अच्छे से अच्छा प्रशिक्षण देना, उन्हें सुविधाएं मुहैया कराना, उन्हें अच्छा कैरियर विकल्प व सुरक्ष



खेलों में शिक्षण के साथ प्रशिक्षण का महत्त्व

व्यक्ति को अपने जीवन में पग-पग पर शिक्षण और प्रशिक्षण की आवश्यकता पड़ती है I प्रशिक्षण ही वह चाक है, जिस पर कुशल कुम्हार के हाथों मिटटी का साधारण सा लोंदा खूबसूरत कुल्हड़, घड़ा या जगत को प्रकाश देने वाला दीपक बन जाता है I यूं तो कुछ प्रतिभाएं जन्मजात होती हैं, पर प्रशिक्षण पाकर ही वे अपनी अधिकतम क्षमता



एक पैरलाइज खिलाड़ी की आपबीती

जब जूलियो 10 साल का था तो उसका बस एक ही सपना था , अपने फेवरेट क्लब रियल मेड्रिड की ओर से फुटबाल खेलना ! वह दिन भर खेलता, प्रैक्टिस करता और धीरे-धीरे वह एक बहुत अच्छा गोलकीपर बन गया. 20 का होते-होते उसके बचपन का सपना हकीकत बनने के करीब पहुँच गया; उसे रियल मेड्रिड की तरफ से फुटबाल खेलने के लिए साइन कर



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x