"9:45 की लोकल"

ऑटो स्टैंड से दौड़ता हुआ , मैं जैसे ही रेलवे स्टेशन पहुँचा, पता चला 9:45 की लोकल जा चुकी है !मेरे घर से तकरीबन 9 .कि.मि. दूर पर है रेलवे स्टेशन, छोटा सा स्टेशन है,लोकल ट्रेन के अलावा 1-2 एक्शप्रेस ट्रेन की भी स्टोपीज़ है, मैं स्टेशन मास्टर के पास गया और पूछा सर बनारस के लिए कोई ट्रेन है ! स्ट



जीवन का अनमोल "अवॉर्ड "

" नववर्ष मंगलमय हो " " हमारा देश और समज नशामुक्त हो " नशा जो सुरसा बन हमारी युवा पीढ़ी को निगले जा रहा है ,



जीवन की वो तीन चीजें जो आपको रूकने नहीं देती

इंटरव्यू में आपसे एक सामान्य सवाल पूछा जाता है कि अन्य लोगों में आप सबसे महत्वपूर्ण बात क्या देखते हैं? जिसका सामान्य तौर पर उत्तर आता है: चरित्र विशेषता। इस सवाल का जवाब ईमानदारी, हास्य, आत्मविश्वास, करिश्मा आदि भी हो सकता है।इस लेख में ऐस



जीवन का उद्देश्य खुशी है या इसका उपयोगी होना?

बहुत सारे लोगों का मानना ​​है कि जीवन का मात्र एक ही उद्देश्य है और वो है खुश रहना। क्योंकि सभी लोग दर्द और कठिनाई से गुजरते हैं और सोचते हैं किसी भी तरह से खुशी हासिल करना है। वास्तव में, यदि आप अपने चारों ओर देखते हैं, तो पाते हैं कि अधिकांश लोग अपने जीवन में खुशियों का



भावनात्मक कौशल

निहित स्वार्थ वाले लोग किसी विश्वास को बनाने या कायम रखने के लिए एक ऐसा आवरण बनाते हैं, जिससे आप महसूस करते हैं कि किसी खास खास वस्तु या सेवा से आपके जीवन में रोचक परिवर्तन आ सकता है। मार्केटर्स हर साल आपको यह समझाने के लिए अरबों डॉलर खर्च करते हैं कि आप उनके इंडस्ट्री का



"ज़िंदगी का सबक सिखाता " - दिसम्बर और जनवरी का महीना

एक और साल अपने नियत अवधि को समाप्त कर जाने को है और एक नया साल दस्तक दे रहा है। बस, एक रात और कैलेंडर पर तारीखे बदल जायेगी। दिसम्बर और जनवरी महीने की कुछ अलग ही खासियत होती है। कहने को तो ये भी दो महीने ही तो है पर साल के सारे महीनो को बंधे रखते है। दोस



लेख, "वृद्धाश्रम की उपयोगिता: क्यों : कारण और निदान"

लेख, "वृद्धाश्रम की उपयोगिता: क्यों : कारण और निदान"भारतीय परिवेश और भारतीयता अपने दायित्व का निर्वहन करना बखूबी जानती है। जहाँ तक आश्रमों की बात है अनेकों आश्रम अपने वजूद पर निहित दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं जिसमेँ गृहस्ताश्रम, पथिकाश्रम, शिक्षाश्रम, बाल आश्रम, विधवा आश्रम, वृद्धाश्रम, अनाथ आश्र



देवरहा बाबा के बहाने

देवरहा बाबा के बहानेविजय कुमार तिवारीजब हम एकान्त में होते हैं तो हमारे सहयात्री होते हैं-आसपास के पेड़-पौधे। वे लोग बहुत भाग्यशाली हैं जिन्हें ऐसी अनुभूति होती है। मेरा दुर्भाग्य रहा कि मुझे पूज्य देवरहा बाबा जी का दर्शन करने का सुअवसर नहीं मिला। साथ ही सौभाग्य है कि आज मैं उन्हें श्रद्धा भाव से या



साहस- बिना डर आगे बढ़ने की

हम अपने दैनिक जीवन में साहस के गुण पर अधिक ध्यान नहीं देते हैं। यह गुण सैनिकों, अग्निशामक वर्कर और कार्यकर्ताओं के लिए आरक्षित माना जाता है। साहस से ज्यादा हमें सुरक्षा पर ध्यान देने के लिए बचपन से सिखाया जाता है। शायद यह आपको बहुत बोल्ड या



सादत हसन मंटो की 9 प्रसिद्ध लघु कथाएं - #9 Best Stories of “Manto” in Hindi

सादत हसन मंटो एक महान लेखक, लेखक और भारत-पाकिस्तानी मूल के नाटककार थे। वह दक्षिण-एशियाई इतिहास में लघु कथाओं के सबसे प्रसिद्ध लेखकों में से एक हैं। मंटो की छोटी कहानियों को साहित्य में सुनहरे काम के रूप में गिना जाता है, जब भी कोई उर्दू में छोटी कहानियों के बारे में स



बार्टोलोमे एस्टेबान मुरिलो के 400 वीं जयंती पर Google ने डूडल बनाकर सम्मान किया, जानें कौन थे मुरिलो?

प्रसिद्ध स्पेनिश चित्रकार Bartolome Esteban Murillo के 400 वीं जयंती पर Google ने उनके सम्मान में आज का डूडल उन्हें समर्पित किया। Google पेज पर जानकारी के मुताबिक, बार्टोलोमे(Bartolomé Esteban Murillo hindi Bartolomé Esteban Murillo artworks) एस्टेबान मुरिलो ने स्पेनिश कल



संवाद से सुधरती बेसिक शिक्षा

प्राथमिक शिक्षा देश के विकास से जुड़ा सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है। बिना शिक्षित किये आप किसी व्यक्ति से देश की प्रगति में सक्रिय सहयोग की अपेक्षा ही नहीं कर सकते हैं। अनपढ़ और आर्थिक रूप से कमजोर तबके के वेहतर जीवन के लिए ही सरकार को टैक्स से प्राप्त धन का बड़ा हिस्सा खर्



साहित्य का महाकुम्भ इस साल और भी बड़ा, और भी भव्य

'साहित्य आज तक' फिर लौट आया है. इसके साथ ही नवंबर के मध्य में राजधानी में फिर से सज रहा है साहित्य के सितारों का महाकुंभ. तीन दिनों के इस जलसे में हर दिन साहित्य और कलाप्रेमी देख और सुन सकेंगे शब्द, कला, कविता, संगीत, नाटक, सियासत और संस्कृति से जुड़ी उन हस्तियों को, जिन्ह



प्रेम - परिभाषा

मानसिक अनुभूतियों की एक संज्ञातम्यक व् सर्वमान्य परिभाषाये रचना भौतिक पदार्थो और उसकी क्रियावों की परिभाषों के बनाने जितना सरल नहीं लगता है, क्योकि भौतिक परिभाषाओ के लिए स्थायी परिमंडल निश्चित है और कम भी



11 नवम्बर 2018

छठ: आस्था का पावन त्योहार त्योहार

धरा के जीवन सूर्य और प्रकृति के उपासना का सबसे बड़ा उत्सव छठ पर्व के रूप में मनाया जाता है।बिहार झारखंड एवं उत्तर प्रदेश की ओर आने वाली हर बस , ट्रेन खचाखच भरी हुई है।लोग भागते दौड़ते अपने घर आ रहे है।कुछ लोग साल में एक बार लौटते है अपने जड़ों की ओर,रिश्तों की टूट-फूट के मरम्मती के लिए,माटी की सोंध



जुबां को 'छोटी' ही रखें 'विराट'

अगर तुम 'ऐसे' हो तो देश छोड़ दो अगर तुम वैसे हो तो देश छोड़ दो!अगर तुम 'यह' खाते हो तो देश छोड़ दो अगर तुम 'वह' खाते हो तो देश छोड़ दो!अगर तुम 'अलग' तरह की सोच रखते हो तो देश छोड़ दो और अगर 'किसी खास तरह की सोच से इत्तेफाक नहीं रखते' तो देश छोडकर चले जाओ!सच कहा जाए तो देश छोड़ने की बात आज-कल इतनी कै



शब्द

अजीब विरोधाभास है शब्दों में। अजीब द्वंद्व है शब्द भरोसे में, विश्वास में, आस्था में, घृणा में, प्रेम में। दरअसल शब्दों का कार्य है एक खास तरह के विचार को प्रस्तुत करना। किसी मनःस्थिति, परिस्थिती, भाव , वस्तु , रंग, दिशा, दशा, जगह, स्थान, गुण, अवगुण इत्यादि को दर्शाना। शब



लिबरल और हिन्दू संवेदना .

टी वी पर आज पीके पिक्चर आ रही थी । पहले एकबार पूरी पिक्चर देखी थी। आज जब टी वी खोला तो शंकर भगवान के वेश में एक नाटक के कलाकारकी हीरो आमिर खान द्वारा छीछालेदार हो रही थी। हमने बहुत लिबरल होने की कोशिश की लेकिन इस पिक्चर को पूरी पचा नहीं पाया। हर धर्ममें बहुत सी अच्छी बातें बताई जातीं कई । कुछ रूढ़िया



हमें लेखक क्यों बनना चाहिए? एक लेखक का भविष्य क्या होना चाहिए?

दोस्तों आज हर व्यक्ति पढ़-लिख कर नौकरी के क्षे़त्र में एकऊंचा औदा पाना चाहता है। कोई डॉक्टर बनना चाहता है, कोई पुलिस, कोई वकील तो कोई इंजीनियर। लेकिनएक लेखक के पहलू पर बहुत कम लोग ही ध्यान देते हैं। लेखक बनना एक गर्व की बात है। क्योंकि यह भी एक प्रकार की कला है जो हर क



सार्थकता

आपकी उपस्थिति से क्यों व्यक्ति स्वयं के दुःख भूल जाये यही आपकी उपस्थिति के सार्थकता है/



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x