टकराव (Confliction)Takaraav

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं और लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज के सुवचन का शीर्षक 'टकराव' है! Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले!यदि आपने अभी तक नहीं किया है तो SUBSCRIBE तुरन्‍त करें आपको नई वीडियो की जानकारी मिलती रहेगी।JYOTI



विद्यार्थी परीक्षाओं से डरें नही बल्कि डटकर मुकाबला करें (लेखक :- पंकज प्रखर)

प्रिय विद्यार्थीयों जैसा की आप लोग जानते है की कुछ ही दिनों में बोर्ड की वार्षिक परीक्षाएं शुरू होने जा रही है ऐसे में आप लोगों के परीक्षा संबंधी तनाव और परेशानियों को दूर करने के लिए मै कुछ नये सकारात्मक सूत्र आपको देना चाहता हूँ, क्योकि अपने इतने वर्षों के शिक्षण काल में मैंने अनुभव किया है की छात



सुपारी वहाँ भी: सुपारी यहां भी

हाल ही में महाराष्ट्र के विदर्भ अंचल के नगर वर्धा के पास बसे सेवाग्राम में स्थित,'गांधीकुटी'केतीर्थाटन को गया था. सेवाग्राम से लेकर वर्धा तक की पुण्यभूमि गाँधी जी की कर्मस्थली रही. सेवाग्राम एक पूरा परिसर है जिसमें गाँधी जी द्वारा खोलेगये विभिन्न प्रकार के सामाजिक संगठन, शिक्षा संस्थान एवं राष्ट्रीय



प्रयास

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं और लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज के सुवचन का शीर्षक 'प्रयास' है!यदि आपने अभी तक नहीं किया है तो SUBSCRIBE तुरन्‍त करें आपको नई वीडियो की जानकारी मिलती रहेगी।Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले! JYOT



सपने

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'सफल' है!Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले !JYOTISH NIKETAN



क्या धर्म बौद्धिकता की अवहेलना करता है?

क्या धर्म बौद्धिकता की अवहेलना करता है? भगवान श्रीकृष्ण गीता में अर्जुन से कहते हैं, साधुजनों के उद्धार के लिये, दुष्कर्म करने वालों का विनाश करने के लिये और धर्म की स्थापना के लिये मैं पल-पल में प्रकट होता हूँ। मैं पूरे विषय को केवल दो पंक्तियों में समाप्त कर सकता हूँ। अगर आप



JYOTISH NIKETAN SANDESH: ध्‍यान

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'ध्‍यान' है!Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले ! JYOTISH NIKETAN SANDESH: ध्‍यान



गीता दोहे

1. प्रथमोऽध्याय: अर्जुनविषादयोगः[सम्पाद्यताम्] ॐधृतराष्ट्र उवाचधर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे समवेता युयुत्सवः ।मामकाः पाण्डवाश्चैव किमकुर्वत संजय ॥१-१॥धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र का, बोलो संजय हाल।कौन कैसे और कहाँ, पांडव-मेरे लाल HG1-1सञ्जय उवाचदृष्ट्वा तु पाण्डवानीकं व्यूढं दुर्योधनस्तदा ।आचार्यमुपसंगम्य र



काश हम उन जैसे बन पाये!!!

काश हम उन जैसे बन पाये!!!३१ दिसम्बर २०१६२००८ में पापा नहीं रहे व २०१६ दिसम्बर में मम्मी भी मोक्ष की यात्रा के लिये चल पड़ी। दोनों का जीवन संघर्ष पूर्ण रहा। पापा मेहनती व धूनी थे लेकिन लक्ष्मी की कृपा से वंचित रहे। बाईजी (मम्मी) समझदार व धार्मिक थी लेकिन पढ़ न पाने का अफ़सोस सदैव रहा। उम्र भर उनका प्



जल ही जीवन है!

'वेदामृत' के अन्‍तर्गत वेदों के मन्‍त्रों से ज्ञानवर्धन करेंगे। ऋग्वेद के दसवें मंडल के नौवें सूक्त के दूसरे मन्त्र की चर्चा करेंगे जिसमें जल की महत्ता वर्णित है! Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले ! वीडियो नीचे लिखे लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं।



गलतियां (Mistakes)

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'गलतियां' है! Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले ! JYOTISH NIKETAN SANDESH: गलतिया



सुविचार



धरम का .....दिया बुझाके चल दिये

कविवर गोपाल दास ''नीरज''ने कहा है - ''जितनी देखी दुनिया सबकी दुल्हन देखी ताले में कोई कैद पड़ा मस्जिद में ,कोई बंद शिवाले में , किसको अपना हाथ थमा दूं किसको अपना मन दे दूँ , कोई लूटे अंधियारे में ,कोई ठगे उजाले में .'' धर्म के ये ही दो रूप हमें भी दृ



सफल(Successful)Saphal

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'सफल' है!Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले ! JYOTISH NIKETAN: सफल(Successful)Saphal



हत्या मेरी कार की (व्यंग्य)

हत्या मेरी कार की कमलानाथ कई दशक पहले जब मैंपहली बार अमरीका गया तो विश्वविद्यालय की तरफ़ से वहाँ का एक रिसर्च स्नातक मुझेएयरपोर्ट पर लेने आया। उसके हाथ में मेरे नाम की एक पट



आशा (Hope)

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'आशा' है!Video को LIKE और हमारे CHANNEL को SUBSCRIBE करना ना भूले ! JYOTISH NIKETAN: आशा (Hope)



भारत की इस बेटी ने आइंस्टीन की थ्योरी को किया चैलेंज, जिसपर नासा और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी ने भी लगाई मुहर

पटना: हाल ही में हुए टॉपर घोटाले के बाद बिहार में शिक्षा व्यवस्था की जो तस्वीर दुनियां के सामने आई थी उसने बिहार का सिर सबके सामने झुका दिया था. लेकिन बिहार की ही एक बेटी ने ये साबित कर दिया कि बिहार में ना तो कभी प्रतिभा की कमी रही है और ना ही कभी होगी. आईएएस, आईपीएस और इंजीनियर उगलने वाली बिहार घर



भविष्‍य (Future)

सुवचन सकारात्‍मक होते हैं अौर दिशा निर्धारित करते हैं। सुपथ दिखाते हैं अौर लक्ष्‍य प्राप्ति में सहायक होते हैं। आज का सुवचन का शीर्षक 'भविष्‍य' है! JYOTISH NIKETAN SANDESH: भविष्‍य (Future)



सुषमा स्वराज के पति को ट्विटर पर जो भी सवाल पूछता है वो लोटपोट होकर लौटता है

सुषमा स्वराज की वाकपटुता से हम सब परिचित हैं. ट्विटर पर वे बड़ी सक्रिय हैं. तुर्त-फुर्त और तीखे ट्वीट करने के लिए वो मशहूर हैं. कई सारे लोगों की समस्याओं का समाधान भी ट्विटर से किया है उन्होंने. कुछ लोगों को झाड़ भी लगा चुकी हैं कि अंट-शंट ट्वीट करके जो लोग उल्टी-सीधी मांगें रखते हैं, वो हमेशा उन्हें



देश के सभी दिल के मरीजों को दिल्ली के इस वकील का शुक्रिया अदा करना चाहिए

पिछले कई सालों से भारत वासी एक चीज़ के लिए हद से ज़्यादा पैसा अदा कर रहे थे। वो चीज़ है भी बहुत महत्त्वपूर्ण क्योंकि वो दिल की बीमारी से संबंधित है। हम बात कर रहे हैं कोरोनरी स्टेंट की। दिल के मरीज़ों को इसकी काफ़ी ज़रूरत पड़ती है। दिल्ली के एक वकील बिरेंदर सांगवान ने एक पीआईएल दाखिल करके इसकी कीमत को 85%



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x