मानस

आपकी मानसिकता ही आपकी असफलताओं का कारण है

“A man cannot directly choose his circumstances, but he can choose his thoughts, and so indirectly, yet surely, shape his circumstances.”― James Allenअगर आप अपने चारों तरफ देखें तो हर कोई जिंदगी में कुछ न कुछ पाने के लिए कठोर परिश्रम कर रहा है। परन्तु कुछ लोग कामयाब हो जाते है कुछ नहीं। अगर हम कामया



बच्चों के मानसिक विकास में बाधक, कुछ जरूरी बाते, जानिए एक बार

Third party image referenceविशेषज्ञों के अनुसार जो बच्चे घर पर बना हुआ ताजा भोजन करते हैं और पर्याप्त मात्र में पानी पीते हैं, उनकी एकाग्रता बनी रहती है और वे बच्चे अपनी क्लास में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। इसके लिए खास बातों पर ध्यान दें, तो आप भी अपने बच्चों की दिमागी क्षमता को बढ़ा सकते हैं। अगर आप



मानस गीत मंजरी

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:Tr



गोपाल खंडेलवाल : वो चल नहीं सकता लेकिन वो देश चला रहा है…

एक शख्स जो खुद दो कदम नहीं चल सकता है लेकिन जिसने देश को हज़ारों कदम आगे बढ़ा दिया है। अपनी शारीरिक विकलांगता से हज़ारों लोगों की मानसिक विकलांगता को कुचलता ये शख्स आज उन लोगों के लिए मिसाल पेश कर रहा है जिन्होनें ज़िंदगी के आगे घुटने टेक दिए हैं ... आइए सुनते हैं उसकी कहानी उसकी ज़ुबानी…मेरा नाम गो



ये हैं रामचरितमानस की सबसे चमत्कारी चौपाइयां, 21 दिन के जाप से दूर होंगे सारे संकट

जाने रामचरितमानस चौपाई के बारे में:रामायण का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। रामायण की किताब लगभग हर हिंदू घर में मिलती है। रामायण में हर एक किरदारों का अपना एक अलग महत्व है। रामायण के बारे में ज़्यादातर लोगों को टीवी, सीरियल या राम-लीला देखकर ही जानकारी मिली है। बहुत लोग किताब पढ़कर भी रामायण में निपु



Khaab Foundation: खाब फाउंडेशन की पहल दे रही है सैकड़ो मानसिक रोगियों को जीवन जीने की एक नई दिशा

खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है। खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है।मानसिक रोग जिसका नाम सुनते ही लो



राम के अयोध्या वापस लौटने के समय का सुन्दर वर्णन रामचरित मानस से

अमावस्या के दिन भगवान राम अयोध्या पहुंचे थे। उनके स्वागत की तैयारी में अयोध्या के नर-नारियों ने घर-आंगन सजाया और खुद भी सजे-संवरे। इस तिथि को रूप चौदस भी कहा जाता है।रूप चौदस क्यों?पौराणिक महत्व : ऋतु बदलती है और शरीर को नई ऋतु के लिए तैयार



संसद के गलियारे में

✒️दान-धर्म की महिमा क्या तुम, समझ गये हो दानवीर?अगर नहीं तो आ जाओ अब, संसद के गलियारों में।रणक्षेत्रों की बात पुरानीभीष्म, द्रोण युग बीत गए हैं,रावण, राम संग लक्ष्मण भीपग-पग धरती जीत गये हैं,कलि मानस की बात सुनी क्या, कौन्तेय हे वीर कर्ण?अगर नहीं तो आ जाओ अब, संसद के गलियारों में।रथी बड़े थे, तुम द्व



हमारे त्यौहार और हमारी मानसिकता

रहम करे अपनी प्रकृति और अपने बच्चो पर , आप से बिनम्र निवेदन है ना मनाया ऐसी दिवाली गैस चैंबर बन चुकी दिल्ली को क्या कोई सरकार ,कानून या धर्म बताएगा कि " हमे पटाखे जलने चाहिए या नहीं?" क्या हमारी बुद्धि और विवेक बिलकुल मर चुकी है ? क्या हममे सोचने- समझने की शक्ति ही नहीं बची जो हम सम



तुलसीदास जयंती

सम्पूर्ण भारतवर्ष में गोस्वामी तुलसीदास के स्मरण में तुलसी जयंती मनाई जाती है| श्रावण मास की सप्तमी के दिन तुलसीदास की जयंती मनाई जाती है| इस वर्ष यह 17 अगस्त 2018 के दिन गोस



स्कूलों से शारीरिक दंड को खत्म करने के लिए महाराष्ट्र सरकार शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगी

सोमवार को आई खबर के मुताबिक महारष्ट्र सरकार शारीरिक दंड को खत्म करने पर काम कर रही है| इस दिशा में काम करते हुए,राज्य शिक्षा विभाग ने प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा विभागों से शिक्षकों,सभी बोर्डों के प्रिंसिपल और स्कूल प्रबंधन के लिए कार्यशालाएं आयोजित करने के लिए कहा है| कार्यशालाओं के लिए, विभाग न



मानसरोवर रेलवे अंडर पास -2

दिल्ली-शाहदरा-शामली रेल लाइन का मानसरोवर अंडर-पास शाहदरा व् रोहतासनगर विधान सभा को आपस में जोड़ता है। इसके एक ओर खेड़ागावं व् मानसरोवर पार्क मेट्रो स्टेशन है तो दूसरी ओर मानसरोवर पार्ककालोनी। इस अंडर-पास के निर्माण कार्य का उद्घाटन पूर्वीदिल्ली के तत्कालीन सांसद श्रीजय प्रकाश अग्रवाल ने वर्ष 2013 में



अवसाद (डिप्रेशन) को जानन जरुरी है

हम सभी जानते है कि अवसाद एक मानसिक बीमारी है| अवसाद के रोगी न सिर्फ पश्चिम देशो में अपितु भारत में भी बहुत तेजी के साथ बढ़ रहे है, विश्व स्वास्थ्य स्वास्थ्य संगठन के अनुसार



सुप्रीम कोर्ट खाप-पंचायतें तथा अंतरजातीय विवाह

(यह लेख इसीशीर्षक से पहले भी प्रकाशित हो चुका है परंतु अब संशोधन कर दिया है)दिनांक 17 जनवरी 2018 के दैनिक जागरण के मुखपृष्ठ पर समाचार है“अंतरजातीय विवाह पर खाप-पंचायतों के हमले अवैध- अंतरजातीय विवाह करने वाले वालेवयस्क पुरुष और महिला पर खाप पंचायत या संगठन द्वारा किसी भी हमले को सुप्रीमकोर्ट ने पूरी



कवि

जो और कोई कह ना पाए कर नापाए और कोईऐसा जज्बा लिए संग में चलताहै अकेला कोई। उसके पासअनूठी क्षमता और अनोखा ज्ञान है सदा हीकागज पर अपने रचता अलग जहाँ है।अनोखा अंदाज उसका लिखता जागृतदेश बन



सामाजिक व्यवस्था बनाना ही सबसे बड़ी पूजा है - मलखानसिंह

वेद पुरानो के अध्यन से सिर्फ एक बात निकलकर आती है की जितने भी इस प्रथ्वी पर देव,महापुरुष अवतरित हुए उन सभी का उद्देश्य सामाजिक व्यवस्था बनाना था ! भगवान श्रीराम जी ने एक राजा के होने के बाबजूध पिता के वचन की खातिर राजमहल का त्याग कर वनवासी हो गए क्योकि कुल का यह स



कैलाश मानसरोवर को लेकर अमेरिका का बड़ा खुलासा

पिछले दिनों NASA के वै ज्ञान िकों (Scientists) का एक दल मानसरोवर झील (Mansarovar Lake) घूमने आया थे. उन्होंने उसके कभी ना खराब होने वाले पानी का टेस्ट किया. टेस्ट में उन्होंने पाया कि मानसरोवर झील के जल में ऐसे सेल्स मौजूद हैं जो कैेंसर (



कलमवार से :: लंगोट का ढीलापन बीवी जानकर छुपा लेती हैं पर अपने अंडरमन की नपुंसकता बाजार में काहे बेच रहे हो!

हाँ, मेरी नज़र ब्रा के स्ट्रैप पर जा के अटक जाती है, जब ब्रा और पैंटी को टंगा हुआ देखता हूँ तो मेरे आँखों में भी नशा सा छा जाता हैं. जो बची-खुची फीलिंग्स रहती हैं उनको मेरे दोस्त बोल- बोल कर के जगा देते हैं. और कौन नहीं देखता है, जब सामने कोई भी चीज आ जाये तो हम देखते हैं.



बॉलीवुड मूवीज और मनोवैज्ञानिक समस्याएं

बॉलीवुड विश्व की सब बड़ी फिल्म इंडस्ट्री है, और ये एक ऐसा स्तर हैं, जो हमारे समाज और उनके लोगों को काफी हद तक प्रभावित कर सकता है। हर शनि और रविवार को मल्टीप्लेक्स की टिकट विक्रय इसका प्रमाण है। हमारी युवा पीढ़ी बॉलीवुड के सितारों से प्रभावित है, यहाँ तक की बुज़ुर्ग और बच्चे भी। बड़ी संख्या में दर्शकों



सेल्फ़ी क्या है? और युवा इसके पीछे पागल क्यों हैं?

आइये मिलते है नेहा से एक २० वर्षीय युवती है जिसे सेल्फ़ी लेने की आदत सी है वह जहां जाती है वहाँ अपनी 4-5 सेल्फ़ी लेती है, और फिर उन्हें अपने दोस्तों और रिश्तेदारो के बीच दिखाती (शेयर करती) है। दोस्तों नेहा सिर्फ एक उदहारण है कि आज के युवाओं में सेल्फ़ी का कितना क्रेज है,हर सेकंड अकेले फेसबुक पर दस



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x