राम



"गोवा की कहानी मेरी जुबानी"

क्याआप जानते हैं गोवा भारत के साथ आजाद नहीं हुआ था | बंटवारे और संप्रदायिक हिंसा केबाद भारत को आजादी तो मिल गई लेकिन गोवा पुर्तगाल के कब्जे में रहा | १९५४ में फ्रांसीसी पांडिचेरी छोड़ कर चले गए मगर गोवाआ



चलो चले हम हिंदी सीखें

हिंदी पत्रकारिता के दिवस पर हिंदी के महत्व पर प्रकाश डालती श्री मती मनीषा राम रक्खा की कविता ,इन्होने फिजी वासी ,भारतवंशियों को हिंदी का महत्व समझाने , हिंदी लिखने पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया एवं हिंदी साहित्य के शिक्षण का महत्व पूर्ण कार्य किया आज भी वह हिंदी विकास के लिए निरंतर प्रयत्न शील हैं



मंथरा के ऋणी….. श्रीराम

‘मंथरा’ येशब्द सुनते ही हमारे सामने एक अधेड़ उम्र की कुरूप,घृणित किन्तु रामायण की अत्यंत महत्वपूर्ण स्त्री की छवि बन जाती है जिसकानाम था ‘मंथरा’। इस पात्र ने हमारे मन मस्तिष्क पर इतना गहरा प्रभाव छोड़ा है कि आजभी जब हम किसी नकारात्मक स्वभाव वाली महिला को देखते हैं तो के



ख़ुद को बचाना यारों

तिस्लिमी दुनिया से ख़ुद को बचाना यारों,क़दम भी आहिस्ते-आहिस्ते चलाना यारों।सोच समझ ले फ़िर चलना इसके दरमियां,ख़ुद को जगा लेना न ख़ुद को सुलाना यारों।मौत का खेल है यहाँ बड़ा ही मुश्किल मंज़र ,ख़ुद को न लिटाना बस ख़ुद को उठाना यारों।कोरोना लिए कफ़न फ़िर रहा तलाशने राही,एहतेराम ख़ूब



तृण धरि ओट कहती वैदेही

तृण धरी ओट कहती वैदेही डॉ शोभा भारद्वाज कोरोना काल में सभी भयभीत हैं ऐसे में संकट मोचन हनुमान ही सहारा हैं .रावण जगा उसने प्रभात के सूर्य को अपनी लाल आँखों से देखा सबसे पहले कैद में रखी गयी सीता का रुख किया उसके पीछे उसकी रानियाँ उंघती हुई आ रही थी , बगल में मन्दोदरी हीरों से जड़ित सोने के पात्र में



भय प्रगट कृपाला दीन दयाला

भय प्रगट कृपाला दीन दयाला डॉ शोभा भारद्वाज ब्रम्हा के पुत्र महर्षि पुलस्त्य कुल में जन्मा रावण ऋषि विश्वश्रवा एवं उनकी दूसरी पत्नी कैकसी की सन्तान था यह तीन भाई रावण कुम्भकर्ण , विभीषण बहन का नाम स्रूपनखा था चारो ने वन में जाकर कठोर तप किया रावण ने अग्नि कुंड में अपने हाथ से सिर काट कर आहुति दे द



पिरामिड

"पिरामिड"जीस्वादमन कालो खजूरपौष्टिक धारीप्रतिरोधकतारस में मादकता।।जीचखोहजूरखजूर हैगर्म तासीरलाल गुच्छ धारीऔषधि गुणकारी।।महातम मिश्र 'गौतम' गोरखपुरी



बरवै रामायण

🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃 *🌺भाग - १🌺* 🌿बरवै रामायण🌿 *प्रातःस्मरणीय गोस्वामी श्रीतुलसीदासजी महाराज का यह छोटा - सा ग्रन्थ ' बरवै रामायण ' है । बरवै रामायण के ६९ छन्दों को देखने से स्पष्ट हो जाता है कि गोस्वामी तुलसीदासजी की यह स्फुट रचना है और छन्दों को क्रम दे



सौराष्ट्र गौरव:लोक गायक हेमु गढ़वी

सौराष्ट्र गौरव:लोक गायक हेमु गढ़वी 07दिसंबर 2007 का वह अविस्मरणीय दिवस था.ग्यारहवीं अंतर



भगवान राम की पावन नगरी अयोध्या

जय श्रीमन्नारायणध्यान दें मथुरा में तो कारागार है परंतु भगवान श्रीराम जी की पावन नगरी में कारागार नही है जबकी वह सम्राट थे चक्रवर्ती राजा थे*कारण स्पष्ट है*👇👇*बाढ़े खल बहु चोर जुआरा।जे लंपट परधन परदारा*।।मानहिं मातु पिता नहिं देवा। साधुन्ह सन करवावहिं सेवा।।जब धर्म की हानि हो,शुभ कर्म रोक जिए जाएं



प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत महात्मा गाँधी व पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर

अबतक हिंदी न्यूज़ /रामनगर/प्रयागराज /प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत महात्मा गाँधी व पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर रामनगर सिरसा मेजा प्रयागराज के माँ शीतला धाम के प्रांगड़ में स्वच्छता अभियान चलाया गया जिसमे भारी संख्या में लोगों ने



•||अब्दुल और रामलाल||•

#बात 2014 की है यूपीए से परेशान रामलाल सत्ता में बदलाव चाहता था रामलाल के अंदर गजब का उत्साह था वो अब किसी बोलते हुए आदमी को देश का सरपंच देखना चाहता था इसके पीछे एक वजह थी रामलाल अब्दुल से बहुत नफरत करता था और करे भी क्यूं न इसी अब्दूल ने पाकिस्तान, बांग्लादेश रामलाल से छीन लिया. रामलाल एक प्राइवेट



कलयुग

कलयुगपैदल चल, हल जोत किसान, साइकिल से रफ्तार बढ़ाई।गुरुकुल पढ़, संस्थान बनाई, डिजिटल से रफ्तार बढ़ाई।घोड़ा गाड़ी, बैलगाड़ी, रथ छोड़ ऑटोमेटिक रेल बनाई।रह कच्ची झोपड़ी, तजि माटी, ईट पत्थर से महल बनायो।गोधूलि बिसरायो, खेत ठुकरायो, कम्पनी में काम ब



ॐ साई राम

कविता :बाबा जी मैं जपूं तेरा नाम सांई नाम की अलख जगा ले भोली सी सूरत अपने मन में बिठा ले सच्चा प्यारे सांई नाम बाबा जी जपूं मैं तेरा नाम कृपा दृष्टि की तेरी माया मन कोमल मृदु शीतल काया तेरी महिमा कोई जान न पाया मुखमंडल पर आभा की छाया प्यार का जो अमृत बरसाया सुमिरन कर लो सांई नाम बाबा जी मैं जपूं त



सबके हो तुम राम

कल पाँच अगस्त को सारा विश्व के महान घटनाका साक्षी बना... और ये घटना थी श्री राम जन्म भूमि अयोध्या में राम मन्दिर भूमिपूजन... हम सभी वास्तव में बहुत सौभाग्यशाली हैं कि हमारे माननीय प्रधान मंत्री जीने सनातन महानुभावों की साक्षी में कल जो वहाँ भूमि पूजन किया हम सबको अपने अपनेनिवास से ही उस यज्ञ में सम्



राम! राम-राम

दिनांक-5 अगस्त,20 ! प्रधानमंत्री श्री मोदी जीके कर कमलों से अयोध्या में भव्य राम मंदिर भूमि पूजन सचमुच किसी दिवा स्वप्नं के पूरा होने से कम नहीं है। इस दिनभारतीय जनमानस ने प्रधानमंत्री जी को एक महायोगी के रूप में देखा । उनके बोल-वचन, छवि नेता से अधिक किसी संत सी लग रही थी। सचमुच! आज देश को ऐ



जय बोलो प्रभु श्री राम की

जय बोलो प्रभु श्री राम कीजय बोलो प्रभु श्री राम कीअयोध्या नगरी दिव्य धाम कीपावन नगरी के उस महिमा कीतुलसीदास जी के गरिमा कीजो जन्म भूमि कहलाता हैत्रेतायुग से जिसका नाता हैसुनि रामराज्य मन भाता है।जय बोलो प्रभु श्री राम कीअयोध्या नगरी दिव्य धाम कीजग के पालनहारी श्री रामबिगड़ी सबके बनाते कामभ्राता भरत क



अयोध्या में भव्य श्री राम मन्दिर निर्माण

अयोध्या में भव्य राम मन्दिर निर्माण डॉ शोभा भारद्वाज “सत्ता श्री राम की ,डंका श्री राम की अयोध्या के सिंहासन पर विराजी खड़ाऊँ का” लगभग 500 वर्ष के संघर्ष के बाद अयोध्या में भव्य राम मन्दिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन होने जा रहा है | रा



बाबरी विध्वंस से रामलला पूजन तक

राम मंदिर भारतीय राजनीति का एक ऐसा मुद्दा है जो 90 के दशक से चलता आ रहा है यह केवल एक राजनीतिक मुद्दा नहीं बल्कि भारत में रह रहे करोड़ों हिंदुओं की श्रद्धा भी इस मुद्दे से जुड़ी है। आज से लगभग 28 साल पहले 6 दिसंबर 1992 को पूरे देश से राम भक्तों ने अयोध्या के लिए कार सेवा शुरू की थी देखते ही देखते अय



राम - दिनेश डाक्टर

राम !औरों को शाप मुक्त करके भीस्वयम रहे अभिशप्तकभी दूसरों के क्रोध से संतप्ततो कभी अपनो से त्रस्त !!राम !अकारण नही हुआ वनवास तुम्हे और न ही पत्नी हरण !!न होता -तो कैसे बनतेसहनशीलता के उत्कर्षयुग पुरुष !राम !हर युग में कोई तो विष पीता हैआक्रोश और अपमान काशिव होने को ! अकारण भग्न नही हुआ तुम्हारा जन्म



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x