राजनीती



अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और आज का समाज

मानवीय गरिमा को सुनिश्चित करने के लिए #अभिव्यक्ति_की_स्वतंत्रता को ज़रूरी माना गया हैं. नागरिकों के नैसर्गिक अधिकारों के रूप में उनकी व्यक्तिगत स्वतंत्रताओं को संरक्षित करना, ताकि मानव के व्यक्तित्व के सम्पूर्ण विकास हो सके और उनके हितों की रक्षा हो सके, इसके लिए भारत सहित विश्व के



हमे सोचना है --असली मुद्दों पर ---

हमे सोचना है --असली मुद्दों पर --- ना चढ़ावा मंदिर को , ना चर्च व मस्ज़िद को , ना पण्डित , मोलवी को . ना बाबाओं को . ना भीख भिखारियों को . ना झूठन घर के नौकरों को . ना अपनी उतरन गरीबों को . हम अपना



चुनाव

M.C.D चुनाव मे किस जितना चाहिय?1 AAP2 CONG3 BJP4 SVRAJ INDIA5 OUTHERअगर जवाब स्वराज इंडिया है तो लाइक दे.तीन सरकार तीन नो बेकारअबकी बार स्वराज सरकार सिर्फ पार्टी नही मिशन हे .



जीवन के ये रिश्ते नाते स्वार्थ से भरे है - आपकी भूमिका व कर्तव्य

Thursday, 9 February 2017जीवन के ये रिश्ते नाते स्वार्थ से भरे है - आपकी भूमिका व कर्तव्य दो लोगों के बीच में पारस्परिक हितों का होना, बनना और बढऩा रिश्तों को न केवल जन्म देता है बल्कि एक मजबूत नींव भी प्रदान करता है, लेकिन जैसे ही पारस्परि



पति को अफसर ने थप्पड़ जड़ा, पागल बताने की कोशिश कीः CISF जवान की पत्नी

बीएसएफ के जवान तेज बहादुर का वीडियो वायरल होनें के बाद लगातार इस तरह की शिकायतें सामने आ रही हैं। इसी फेहरिस्त में मध्य प्रदेश के खरगौन के सीआईएसएफ के रीजनल ट्रेनिंग सेंटर में तैनात जवान अमरदीप का नाम भी जुड़ गया है। सीआईएसएफ जवान की पत्नी स्नेहलता यादव ने आरोप लगाया है कि जब उनके पति मुंबई एयरपोर्ट



ठंड की रात में डंडे और लात से हुई पिटाई, वीडियो हो रहा वायरल

पुलिस कांस्टेबल की इस हरकत पर वाकई किसी को भी गुस्सा आ जाए ! इनकी करतूत तो देखोइतना भी क्या गुस्सा गए ये ? ...........साभार - http://dbvideos.bhaskar.com/trending/rpf-constable-beaten-beggar-at-manmad-railway-station-38421.html



नोटबंदी

जब से 500 और 1000 के नोट बन्द हुये हैं तब से दुनिया बदली सी नजर आने लगी है। हर कोई बैंकों की कतार में खडा नजर आता है। किसी भी बैंक के पास होकर निकलो तो लगता है जैसे सब लोग घर छोड छोडकर बैंकों के आगे लगी लम्बी लाइन में आ लगे हैं।कुछ जगह लोग



ममता बनर्जी ने बंगाल दंगे की ख़बर दिखाने के लिए सुधीर चोधरी पर करवा दी थी FIR ?

एक बेहद सनसनीख़ेज़ ख़बर आ रही है , जी न्यूज़ के पत्रकार सुधीर चोधरी पर और पूजा मेहता पर पश्चिमी बंगाल में बिना ज़मानती धारा के अंतर्गत FIR हो गयी है क्यूँकि उन्होंने बंगाल दगों



नोट बैन के बाद पहली बड़ी खुशखबरी नरेंद्र भाई ने दी है

प्रधानमंत्री रविवार को आगरा में बोले. कुछ अतिरिक्त आक्रामक होकर बोले. वो यहां एक हाउसिंग स्कीम के उद्घाटन के लिए पहुंचे थे, जिसके तहत 3 साल में 1 करोड़ मकान बनाने का लक्ष्य लिया गया है. लेकिन उन्होंने अपने भाषण का बड़ा हिस्सा नोटबंदी के बचाव में खर्च किया.उन्होंने



भ्रष्टाचार और काले धन से निजात के सुनहरे सपनों मे एटीएम के बाहर ठंड में ठिठुर रहा आम आदमी ------

मित्रो 10 दिन से पूरा देश कतार मे है पूरे 1 दिन नही 2 दिन नही 10 दिन हो गए आज भी बेंकों मे रुपए जमा करना ओर फिर निकालने के जुगाड़ मे लोगो को दमा की बीमारी हो गयी बिचारी आम जनता की साँसे फूल रही है ! वेसे हिंदुस्तानी जनता इतनी भोली है की कोई 10 व्यक्ति गधे को शेर व शेर को गधा बोल दे तो 10 से आगे सभी व



जम्मू और लद्दाख भारत में खुश हैं तो कश्मीर क्यों नहीं है

जम्मू और लद्दाख भारत में खुश हैं तो कश्मीर क्यों नहीं है "घर को ही आग लग गई घर के चिराग से " 8 जुलाई 2016 को कश्मीर के एक स्कूल के प्रिंसिपल का बेटा और हिजबुल मुजाहिदीन का दस लाख रुपए का ईनामी आतंकवादी बुरहान वानी की मौत के बाद से आज तक लगातार सुलगता कश्मीर कुछ ऐसा ही आभ



लखनऊ की नवाबी गलियाँ

लखनऊ की नवाबी गलियाँलखनऊ ,दिनांक...........,प्रिय ,छोटे भाई लखनऊ,मैं तुम्हारा बड़ा भाई उत्तर प्रदेश, आशा करता हूँ कि तुम अच्छे होगे । सब तुम्हारी तहज़ीब और शाही नवाबी अंदाज को देखने के लिए देश विदेश से आते है। और देखे भी क्यों न, तुम बचपन से  ही लोगों के मन को मोहित करते आ रहे हो ।और मुझे बहुत खुशी



देश के बच्चे

हमारे देश के बच्चे अश्लीलता का शिकार हो रहे हैं इसका वजह सिर्फ बॉलीवुड है |और एक बात और है कि आज के बच्चे सभ्यता से बेखबर हैं कहने का मतलब अंग्रेज की औलाद जैसे कुछ भी स्वदेशी नहीं सिर्फ विदेशी कपड़ा विदेशी ,चप्पल विदेशी और घर भी विदेशी ,पत्नी विदेशी जैसी लटके -झटके वाली ये है हमारे देश की नयीं पीढ़



आओ मिलकर देश सजाएँ



देश हमारा बदल रहा है

देश हमारा बदल रहा हैदेश हमारा बदल रहा हैधीरे धीरे संभल रहा है दुनिया में खुद को साबित करने कोयुवा हदृय फिर मचल रहा है।।गॅाव -गाॅव और शहर -शहर में परिवर्तन का दौर चला हैंऐसा लगता है मानोदेश हमारा दौड़ पडा है।।नये अन्वेषण,नये लक्ष्य सेप्रतिपल भारत बदल रहा हैउन्नत तकनीको के प्रयोग सेकृषि जगत भी संभल रहा



देश वासी देश की तरक्कीमे सहयोग करें

देश वासी देश की तरक्कीमे सहयोग करें ============================आरक्षण जैसी कई बीमारिया की वजह से टीना डाभी पास हुई और अंकित श्री वास्तव फेल जो की अंकित कोsahyog तिनसे ज्यादा मार्क्स है ३५ मार्क ज्यादा लेकिन अंकित को आरक्षण व्यवस्ताने फेल करदिया और तिनको पास , ये बिमारिकि जड़ देश में डालने वाला नहेरु



हमारी सरकारें वादे ज्यादा काम कम करती है

पाँच सच  1- हमारी सरकारें वादे ज्यादा काम कम करती है 2- लोगो का वोट जातिवादिता तथा धर्म के नाम पर भङका कर वोट लेती है 3- ये अपना अधिकतम समय पिछली सरकार की आलोचना करने मे लगाती है 4-हम गलत जानते हुए भी पार्टी का चश्मा लगाकर उसकी तारीफ करते है 5-आप सभी यह पढ़ने के बाद भी अपनी आदतें नही बदलेंगे



भारत में वैचारिक दरिद्रता

एक बात तो स्पष्ट हो चुकी है की भारत में राजनीतिक पार्टियां अपना स्वरूप बिलकुल स्पष्ट कर चुकी हैं चाहे कोई गांधी के नाम पर राजनीति करे या हिन्दू धर्म के नाम पर। ...लोगों की मूर्खता की वजह से वो सत्ता में तो आ गए हैं लेकिन चरित्रहीन होकर। भाजपा की जनविरोधी नीतियां और आप का बचकानापन यह स्प्ष्ट कर चूका



क्या हम मुफ्तखोर है?

मुफ्तखोरी किसे कहते है ये क्या आर एस एस और बीजेपी हमे सिखाएगी ? इस देश के 70% गरीब लोगों को मुफ्तखोर कहना उनका अपमान है बीजेपी ऐसा कहना बंद करे नहीं तो जनता उसे सबक सिखाएगी। गरीबों को उनका पूरा हक़ दे सरकार। जितना पैसा केंद्र और राज्यों से गरीबो के लिए आता है पाई पाई उसके पास पहुँचाने की व्यवस्था क



मन की बात नहीं जान की बात

प्रिये अरविन्द केजरीवाल जी इस प्रचंड बहुमत के लिए 'आप' और आपको बधाई। जिस भाजपा को ठीक 9 महीने पहले जनता ने प्रचंड बहुमत दिया था उसी जनता ने मोदी और बीजेपी को धूल चटा दिया। इसके कारणों की अगर समीक्षा करे तो केवल यही निष्कर्ष निकल कर आता है की जनता अब केवल वादों से संतुष्ट नहीं होने वाली है। जिस 15



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x