sai

1


अचानक पेड़ पर साईं बाबा की ऊभरी आकृति, देखने के लिए लगी भीड़, फिर सामने आया सच

भारत में धर्म व आस्था के प्रति हिन्दुओं की संवेदनशीलता:- हमारे भारत देश के लोगों की भावनाएं भक्ति व धर्म के प्रति काफी संवेदनशील होती हैं। विशेष करके जब कभी धर्म की बात आती है तो भगवान के प्रति आस्था को लेकर काफी संवेदनशीलता देखने को मिलती है। अक्सर आप भक्ति, धर्म और भगवान से संबंधित किसी प्रकार के



साईं रानाडे साने सोनी टीवी के शो तारा फ्रॉम सितारा में | आई डब्लयू एम बज

लोकप्रिय मराठी अभिनेत्री साई रानाडे साने, जो हाल ही में कलर्स के शो लाडो 2 – वीरपुर की मर्दानी में नजर आई थीं, ने एक नया शो हासिल किया है। साई को उनके बेहतर काम के लिए जाना जाता है जिसमें मराठी शो कस्तूरी, वाहिनीसाहेब, कुलवधू शामिल हैं।आई डब्ल्यू एम बज ने विशेष रूप से सीख



साईकृपा ने मुझे सिखाया “दूसरों की ज़िंदगी बेहतर करने के लिए शुरुआत खुद से करनी पड़ती है” - SAIKRIPA NGO IN DELHI

Saikripa-Home for Homeless“साईंकृपा ( SaiKripa) - Saikripa-Home for Homeless दिल्ली एनसीआर में स्थित एक NGO (गैर-सरकारी संगठन ) है, जो कि वंचित बच्चों को पढ़ाने और उन्हें जीवन को नई दिशा देने का कार्य करता है।” बच्चे मानव जाति का भविष्य हैं। “Saikripa-Home for Homeles



यहाँ जानिए भारत के सबसे लोकप्रिय 5 संत के नाम और उनके किये गए ये चमत्कार ! आप हैरान हो जाएंगे

शायद आप इनके बारे में ये सब नहीं जानते होंगे जो अब आप इसमें पढ़ेंगे ! भारत तो है ही चमत्कारों और संतो का देश और संसार में भारत जैसा कोई दूसरा देश है भला . लेकिन पहले तो नाम जान लीजिये: सन्त ज्ञानेश्वर ।सन्त नामदेव ।सन्त एकनाथ ।सन्त तुकाराम ।सन्त रैदास । 1. सन्त ज्ञानेश्व



कुमार संदीप के बोल

उठ नही पा रहा हूँ ,चल नही पा रहा हूँशायद यही सोचकर मैं डरे जा रहा हूँ !न जाने क्यों ? मैं हारे जा रहा हूँ !सम्भल नही पा रहा हूँ ,समझ नही पा रहा हूँ जाने क्या मैं यह किये जा रहा हूँशायद यही सोचकर मैं डरे जा रहा हूँ !न जाने क्यों ? मैं हारे जा रहा हूँ !जी भी नही पा रहा हूँ ;मर भी नही पा रहा हूँमैं तो



अपरिपक्व लोकतंत्र - Immature Democracy

लोकतंत्र मूर्खों का तंत्र है, ऐसा किसी विचारक ने कहा है तो दुसरे विचारकों ने इस भीड़ बनाम भेड़-तंत्र की संज्ञा देने से भी गुरेज नहीं किया है. भीड़ तंत्र से अभिप्राय यह निकाला जा सकता है कि वगैर सही अथवा गलत की परवाह किये, एक के पीछे दूसरा और फिर उसके पीछे अंधी दौड़ लगाने का सिलसिला चल निकलता है. यूं तो





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x