1


देश और समाज के विकास में महिलाओं का योगदान अहम्

-स्वाति आनंदनारी ईश्वर की उत्कृष्ट सृष्टि है । कहते है कि नारी को देवी का रूप मन जाता है।देश के सम्पूर्ण विकास में इस देवी की भागीदारी अनिवार्य है। किसी भी समाज या देश के विकास में नारी का योगदान महत्वपूर्ण होता है। किसी भी राष्ट्रनिर्माण या समाज के विकास में जब तक न



बच्चों के मानसिक विकास में बाधक, कुछ जरूरी बाते, जानिए एक बार

Third party image referenceविशेषज्ञों के अनुसार जो बच्चे घर पर बना हुआ ताजा भोजन करते हैं और पर्याप्त मात्र में पानी पीते हैं, उनकी एकाग्रता बनी रहती है और वे बच्चे अपनी क्लास में अच्छा प्रदर्शन करते हैं। इसके लिए खास बातों पर ध्यान दें, तो आप भी अपने बच्चों की दिमागी क्षमता को बढ़ा सकते हैं। अगर आप



माननीय सुषमा स्वराज जी।

सुषमा स्जीवराज जी नमस्कार !! विषय :- #अबकी बारी नोटा भारी !! मैं एक मध्यम वर्गीय सामान्य नागरीक हुँ। कुछ दिनों से पासपोर्ट विवाद चल रहा है और आपने भी एक दिन से भी कम समय में पासपोर्ट विवाद सुलझा लिया। मैं इस पर कोई व



भगवा प्रधानमंत्री का फैसला

भगवा प्रधानमंत्री का फैसला भारत की नवनिर्वाचित सरकार ये घोषणा करती है की सन् २०१९ के दशहरे पर रावण दहन के तुरंत बाद India, हिंदुस्तान और अन्य विदेशी जबरदस्ती थोंपे गये नामों को हटाकर धरती के इस सुँदर भाग को पौराणिक नाम केवल “भारत” से ही जाना जायेगा। भारत धर्म



पत्थरबाजों पर कार्यवाही के नाम पर लीपापोती।

पत्थरबाजों पर कार्यवाही के नाम पर लीपापोती। कश्मीर के कथित भटके हुए नौजवानों की जमात मे महिलाएँ भी शामिल हो चुकी है। महिला पत्थरबाजों से निपटने के लिए सेना के दस्ते मे महिला-ब्रिगेड को शामिल किया गया है तथा सेना के वरिष्ठ अधिकारियों नुसार ये महिला सैनिक इन महिल



Common Sense

!! Use your common sense to know the truth!!हमे पढाया गया...👇👇“रघुपति राघव राजाराम,ईश्वर अल्लाह तेरो नाम”लेकिन असल मे ऋषियों ने लिखा था की....👇👇 “रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम”लोगों को समझना चाहिए कि,जब ये बोल लिखा गया था,तब ईस्लाम का अस्तित्व ही नहीं था,“



जीत हमारी निश्चित है।

जीत हमारी निश्चित है।बलिदानों की किमत पर,जीत हमारी निश्चित है।किस सोच मे बैठा है तू,राष्ट्र हो गया खंडित है।बहन-बेटियों की लाज रही,किताबों तक ही सीमित है।लड़कर ही बच सकता है,बन रहा क्युँ कश्मीरी पंडित है ?भाई-चारा तेरे काम न आया,कुरान



बॉक्सर अमित पंघाल सेमीफाइनल में प्रवेश करते हैं|

भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल (49 किग्रा) सेमीफाइनल में पहुंच गए है और 2018 एशियाई खेलों में अपने पहले मेडल के लिए खुद को आश्वस्त कर दिया है ।अमित ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तरी कोरिया के मुक्केबाज रयोन किम जांग को 5-0 से पराजित



पासपोर्ट विवाद: अब जो पता लगा है, उससे तन्वी सेठ बुरा फंस गई हैं

तन्वी सेठ के पासपोर्ट फॉर्म में एक बड़ी गड़बड़ है.तन्वी सेठ पत्नी हैं. मुहम्मद अनस सिद्दीकी की. तन्वी हिंदू. अनस मुस्लिम. 20 जून, 2018. इस दिन अनस ने एक ट्वीट किया. कि हिंदू लड़की से शादी करने के कारण उनको पासपोर्ट देने में परेशान किया जा रहा है. कि विकास मिश्रा नाम के एक



"चौपाली चर्चा में विकास और प्रकाश"

"चौपाली चर्चा में विकास और प्रकाश" वसुधैव कटुम्बकम के आग्रही, नेक नियति के पथ पर चलने वाले झिनकू भैया न जाने कहाँ कहाँ भटकते रहते हैं और किसके कब कहाँ और कैसे मिलते रहते हैं ये तो वहीं जाने पर आजकल वे किसी विकास और प्रकाश नामक नए परिचित पर फ़िदा हो गए हैं। जब देखों विकास



क्यों हम बेटियों को बचाएँ

“मुझे मत पढ़ाओ , मुझे मत बचाओ,, मेरी इज्जत अगर नहीं कर सकते ,तो मुझे इस दुनिया में ही मत लाओमत पूजो मुझे देवी बनाकर तुम,मत कन्या रूप में मुझे 'माँ' का वरदान कहोअपने अंदर के राक्षस का पहले तुम खुद ही संहार करो।“ एक बेटी का दर्द चंडीगढ़ की स



“विश्व तम्बाकू निषेध दिवस-2017” (31मई)... एक कदम विकास की ओर ...

पूरे विश्व के लोगों को तम्बाकूमुक्त और स्वस्थ बनाने के लिए तथा सभी स्वास्थ्य खतरों से बचाने के लिए तम्बाकू चबाने या धूम्रपान के द्वारा होने वाले सभी परेशानियों और स्वास्थ्य जटिलताओं से लोगों को आसानी से जागरुक बनाने के लिए पूरे विश्व भर में एक मान्यता-प्राप्त कार्यक्रम के रुप में मनाने के लिए विश्व



"विकास का वोट"

"विकास का वोट" चुनाव हमारे जीवन का अंग बन गया है जो आए दिन कहीं न कही, कभी प्रादेशिक तो कभी राष्ट्रिय त्यौहार बन आता ही रहता है। यह जब भी, जहाँ भी आता है वहाँ के लोगों की सक्रियता बढ़ जाती है। हर घर में कोई न कोई वक्ता स्वयं उठ खड़ा होता है और किसी का दामन पकड़ कर मुंह फाड़न



हिंदी और भारतीय भाषाओं के प्रयोग में तकनीक का योगदान

राहुलखटे,उपप्रबंधक (राजभाषा),स्‍टेटबैंक ऑफ मैसूर,हुब्‍बल्‍लीwww.rahulkhate.onlineआजका युग तकनीक का है,जिसे"टेक्नोयुग"भीकह सकते हैं,इसलिएआपने देखा होगा कि हम प्रत्येककाम में टेक्नोलॉजी का प्रयोगकरते हैं। उ



भारत के विकास का कार्य प्रगति पर है पर रूकावट के लिए खेद है

दिनांक28अप्रैल2015 एक वर्ष पहले इस देश में एक ऐतिहासिक परिवर्तन हुआ , जब १६वीं लोकसभा का चयन हुआ ,एक नयी सरकार चयनित हुई और देश में एक विचित्र लहर और ऊर्जा का संचार हुआ , घोटालों की चली आ रही एक सतत श्रखंला को फिलहाल एक विराम लगा , लोगों ने कुछ स्वप्न देखे , एक मूक कार्यालय में मानो प्राण संचारि





1
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x