जज़्बात दिल के

"चलो हम भाग कर शादी कर लेते हैं , अगर मेरे पेरेंट्स को पता चला कि मैं तुमसे प्यार करती हू तो मेरे पेरेंट्स मेरी शादी कहीं और करा देंगे "रागनी सुमित को बोल रही थी ,सुमित और रागिनी दोनों कॉलेज फ्रेंड थे दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे ,वैसे दोनों की कोई ज्यादा उम्र नहीं थी यही कोई 20 - 22 साल के थे वो



वो कली मासूम सी

बेड़ियों ने रूप बदलेरख दिया तन को सजाकरवो कली मासूम सी जोदेखती सब मुस्कुराकर।शूल बोए जा रहे थेरीतियों की आड़ में जबखेल सा लगता उसे थाजानती सच ये भला कबछिन रहा बचपन उसी कापड़ रहीं थीं सात भाँवर।।छूटता घर आँगना अबनयन से नदियाँ बहीं फिरहाथ में गुड़िया लिए थीबंधनों से अब गई घिरआज नन्हें पग दिखाएँघाव सा



तुलसी विवाह

#देवउठानि_एकादशीविषय- तुलसी विवाहतुलसी महिमा मैं गाउँ।तुम सबको आज सुनाऊ।थी वृन्दा एक कुमारी।बचपन से धर्म पुजारी।थी विष्णु भक्त वो प्यारी।है जिनकी महिमा न्यारी।कर दानव कुल में शादी।पतिव्रता धर्म की आदी।जालंधर नाम बखाना।देवों का शत्रु पुराना।था देवों का अपकारी।हरि भक्त मिली थी नारी।नारायण छल कर डाला।



क्या आप सीनियर सिटिजन के पुनर्विवाह के पक्ष मे हैं?

रिटायर हो जाने या अधिक अवस्था हो जाने पर व्यक्ति अकेला हो जाता है, विशेष कर तब जब उसका जीवनसाथी सदगति को प्राप्त हो चुका हो। क्या आप ऐसे वरिष्ठ जनों के चेहरे पर मुस्कान नहीं देखना चाहते? यदि हां तो क्या आप इनके पुनर्विवाह के पक्षधर है?



दिसंबर की 1 तारीख़ को है विवाह पंचमी, क्या है इस दिन की विशेषता

इस वर्ष विवाह पंचमी (Vivah Panchami)1 दिसम्बर को है और इस दिन को हिन्दू धर्म में त्यौहार के रूप में बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। दरअसल, आज के दिन भगवान राम (Ram) और सीता (Sita) माता का विवाह सम्पन्न हुआ था। हिन्दू पंचांग के अनुसार, मार्गशीर्ष के महीने में शुक्ल पक्ष के पांचवें दिन विवाह पंचमी मनाई



देवोत्थान एकादशी और तुलसी विवाह

देवोत्थान एकादशी और तुलसी विवाह हिन्दू धर्म मेंएकादशी तिथि का विशेष महत्त्व है | Astrologers तथा पौराणिकमान्यताओं के अनुसार प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशी होतीहै, और अधिमास हो जाने पर ये छब्बीस हो जाती हैं | इनमें से आषाढ़ शुक्ल एकादशी को जब सूर्य मिथुन राशि में संचार करता



क्यों देरी से विवाह कर रहे है युवा ?

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:Tr



यदि बेटी अरेंज मैरिज में विश्वास न करे तो क्या करें

बेटा हो या बेटी आज युवाओं की ये सोच बन गई है की उनकी शादी ऐसे इंसान हो जिसके बारे में वो पहले से जानते हों या उससे पहले से परिचित हों। जब तक मां बाप लड़के और उसके परिवार के बारे में जान नही लेते अपनी बेटी का हाथ उसके हाथ में नही देते।आज के बच्चे अपने माँ-बाप को समय से पिछड़ा हुआ समझते हूं इस कारण वो



जाने और समझे कितना उचित हैं बोलते नाम (प्रचलित नाम) से विवाह हेतु गुण मिलान ??

पंचांग के अनुसार नाम से लड़का-लड़की कुंडली मिलान कितना उचित ??--ज्यादातर भारतीय हिन्दू परिवार ज्योतिषी के पास विवाह के लिए श्रेष्ठ कुंडली मिलान या जन्मपत्रिका मिलान के लिए जाते ही हैं, ताकि विवाहित होने वाला जोड़ा किसी प्रकार के दुर्भाग्य का शिकार न हो, और अपनी जिंदगी हंसी ख़ुशी से काट सके. लोग ये विश्व



फिल्म निर्माता सूरज बड़जात्या के पिता राज कुमार बड़जात्या का निधन

मुम्बई में राजश्री प्रोडक्शन के राजकुमार बड़जात्या का देहांत हो गयाअधिक जानकारी के लिए: https://hindi.iwmbuzz.com/television/news/filmmaker-sooraj-barjatyas-father-raj-kumar-barjatya-passes-away-2/2019/02/21



नंदिनी...

'तुमको तो कोई चिंता ही नहीं है बस अपने चार पंचों को लेके बैठ जाते हो गपशप करने, थोड़ा घर की तरफ भी देख लिया करो, घर में जवान बेटी बैठी हुई है, लोग बातें करने लगे हैं तरह-तरह की। मगर..तुम... तुमको क्या....' नंदिनी की मां ने मुंशी जी के घर आते ही उन पर लगभग रोज की तरह बरसना शुरू कर दिया। करती भी क्या ब



दाम्पत्य जीवन में व्यवहारिक सोच

आप चाहे गांव या कस्बे के मध्यवर्गीय परिवार के पढ़े-लिखे व्यक्ति हों अथवा महानगर के किसी संपन्न कुलीन परिवार के सदस्य हों या फिर सामान्य आर्थिक स्तर के कोई अधिकारी अथवा व्यापारी, इस सत्य को मन-ही-मन स्वीकार कर लें कि दाम्पत्य जीवन की सफलत



दाम्पत्य जीवन का रहस्य

जिस प्रकार पौधा लगाने से पहले बीज आरोपित किया जाता है उसी प्रकार के युवा लड़के-लड़कियों के मन में दाम्पत्य जीवन के संबंधों के भावों को पैदा करने के लिए विवाह पूर्व ही अनेक संस्कार आरोपित किए जाते हैं। यद्यपि वे सारे के सारे विवाह के ही अंग माने जाते हैं। जैसे-हल्दी चढ़ाना, तैल चढ़ाना, कन्या पूजन, गाना ब



फेरों के बाद सिंदूरदान की रस्म के लिए दुल्हन ने किया इंकार ,वजह जान रह जायेंगे दंग

आजकल शादियों का सीजन चल रहा है। और किसी भी शादी में छोटी-मोटी भूल-चूक, नाराज़गी होना तो आम बात है। लेकिन जब इन छोटे छोटे बातों का लोग मुद्दा बना देते हैं तो शादी के रंग में भंग पड़ते देर नहीं लगती। जिसके चलते कभी कभी नौबत शादी टूटने तक भी आ जाती है। आपने शादी टूटने के कई कि



कुछ तो लोग कहेंगे

कुछ कहानियां बहुत अलग होती हैं और जो दिल को छू जाती हैं वो ही दिल में उतरकर लंबे समय तक याद रह जाती हैं। कहानी लिखने का तरीका बहुत अलग होता है और सारा खेल लेख का होता है कोई कम शब्दों में बहुत कुछ लिख देते हैं तो कोई ज्यादा शब्दों में भी अपनी बातें समझा नहीं पाते। यहां इस कहानी में एक महिला अपने बेट



हमारी शादी में (Hamari Shaadi Mein )- विवाह

Hamari Shaadi Mein Lyrics from the movie Vivah is sung by Babul Supriyo and Shreya Ghoshal, its music is composed by Ravindra Jain and lyrics are written by Ravindra Jain.विवाह (Vivah )हमारी शादी में (Hamari Shaadi Mein ) की लिरिक्स (Lyrics Of Hamari Shaadi Mein )हमारी शादी मेंहमारी शादी मेंअभी ब



जय गौरी माँ (Jai Gauri Maa )- विवाह (प्रेयर)

जय गौरी मा विवा का गीत रविंद्र जैन द्वारा रचित एक प्रार्थना गीत हैविवाह (Vivah )जय गौरी माँ (Jai Gauri Maa ) (प्रेयर)की लिरिक्स (Lyrics Of Jai Gauri Maa )जय जय जय गिरिराज किशोरी जय महेश मुख चद्र चकोरीजय गौरी माँ तेरी जय हो गौरि माँअमर सुहागन जय देवी माँओ मैया सिंगर तेरा लाल हैओ मैया सिंगर तेरा ल



राधे कृष्णा की (Radhe Krishna Ki )- विवाह (२००६)

फिल्म विवाह से राधे कृष्ण की गीत एक और प्रार्थना गीत है। यह श्रेया घोषाल द्वारा गाया जाता है और संगीत रवींद्र जैन द्वारा रचित और लिखा जाता है।विवाह (Vivah )राधे कृष्णा की (Radhe Krishna Ki ) (२००६)की लिरिक्स (Lyrics Of Radhe Krishna Ki )राधे कृष्ण की ज्योति अलौकिकतीनों लोक में छाये रही हैभक्ति व



छोटा सा साजन (Chhota Sa Saajan )- विवाह

Chhota Sa Saajan Lyrics of Vivah (2006) is penned by Ravindra Jain, it's composed by Ravindra Jain and sung by Aparna Bhagwat and Suresh Wadkar.विवाह (Vivah )छोटा सा साजन (Chhota Sa Saajan ) की लिरिक्स (Lyrics Of Chhota Sa Saajan )छोटा सा साजनजिसका विवाह रचाया जाएबेटी कहाँ अभी इतनी बड़ी हैबेटी कहा



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x