जानें क्यों सिर्फ पुरुषों में होती है गंजेपन की समस्या, कौन से हार्मोन हैं जिम्मेदार?

07 जनवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (38 बार पढ़ा जा चुका है)

जानें क्यों सिर्फ पुरुषों में होती है गंजेपन की समस्या, कौन से हार्मोन हैं जिम्मेदार? - शब्द (shabd.in)

लोगों में गंजेपन की समस्या तेजी से बढ़ रही है। जिसके लिए लोगों का गलत खान-पान और जीवनशैली जिम्मेदार है।आजकल तो ये समस्या छोटी उम्र के बच्चों में भी देखने को मिल रही है।

गौरतलब है कि गंजेपन का शिकार आमतौर पर सिर्फ पुरुष ही होते हैं महिलाओं में गंजापन बहुत दुर्लभ है। 40 की उम्र पार करते करते ही आधे से ज्यादा पुरुष गंजे हो जाते हैं।


आपको बताते हैं कि क्यों ज्यादातर पुरुष ही गंजेपन का शिकार होते हैं?


पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन है जिम्मेदार


टेस्टोस्टेरॉन एक तरह का हार्मोन है, जो पुरुषों और महिलाओं दोनों में पाया जाता है मगर पुरुषों में यह हार्मोंन ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। जिसके चलते पुरुषों में पुरुषत्व वाले शारीरिक बदलाव होते हैं।टेस्टोस्टेरॉन पुरुषों में स्रावित होने वाले एंड्रोजन ग्रुप स्टेरॉयड हार्मोन है, जिसके कारण बाल झड़ने की समस्या पैदा होती है।मानव शरीर के अंदर कुछ एंजाइम ऐसे होते हैं जिसके चलते टेस्टोस्टेरॉन डिहाइड्रो-टेस्टोस्टेरॉन में बदल जाता है। जिसके चलते डिहाइड्रो-टेस्टोस्टेरॉन बालों को पतला और कमजोर कर देता है। आमतौर पर हार्मोंस में यह बदलाव करने वाले एंजाइम इंसान में उसे उसके जींस से मिलते हैं। इसी कारण गंजेपन को आनुवांशिक भी माना जाता है।

महिलाओं में बहुत कम होता है टेस्टोस्टेरॉन


महिलाओं में भी टेस्टोस्टेरॉन पाया जाता है मगर इसकी मात्रा बहुत कम होती है। जब ये महिलाओं में अधिक स्रावित होता है तो महिलाओं में अनचाहे बालों की अधिक मात्रा में आने की समस्या पैदा होती है। महिलाओं के शरीर में मुख्य रूप से एस्ट्रोजन हार्मोन होता है।





जो इनके शरीर में टेस्टोस्टेरॉन के डिहाइड्रो-टेस्टोस्टेरोन में बदलने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। जिसके चलते महिलाओं में बाल झड़ने की समस्या होती है मगर गंजापन नहीं होता।

गर्भावस्था में क्यों झड़ते हैं बाल?


गर्भावस्था में महिलाओं में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। कई बार जब महिलाओं के शरीर में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन का स्राव बढ़ जाता है, तो बाल झड़ने की समस्या उत्पन्न होती है। इसलिए अक्सर महिलाओं को गर्भावस्था और मेनोपॉज में बाल झड़ने की सामस्य होती है।

क्यों आगे के बाल जल्दी झड़ते हैं?


पुरुषों में बालों के झड़ने का सबसे आम कारण एन्ड्रोजेनेटिक एलोपिका (गंजापन) माना जाता है।

इसे 'पुरुष पैटर्न गंजापन' के रूप में भी जाना जाता हैं, यह दिक्कत बाल पुटिका पर डीहायड्रोटेस्टोस्टेरोने (DHT)हार्मोन के कारण होती हैं। खोपड़ी के सामने का, ऊपर का और मुकुट क्षेत्र DHT को लेकर काफी संवेदनशील होता है।



अगला लेख: Guest Post : Guest posting के ज़रिये कैसे अपने ब्लॉग को बनायें NO. 1 - In HIndi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 दिसम्बर 2018
2019 की शुरुआत होने जा रही है और हर किसी के दिमाग में बस यही चल रहा होगा कि कैसा होगा ये नया साल।व्यक्ति के जीवन में राशियों का बड़ा महत्व माना गया है राशियों के आधार पर किसी भी व्यक्ति के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है व्यक्ति को आने वाले समय में किन किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा इन स
31 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
आजकल का जमाना काफी बदल चुका है और जमाने के साथ साथ लोगों की जीवनशैली भी बदल चुकी है यदि व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई शारीरिक परेशानी होती है तो वह अंग्रेजी दवाइयों पर निर्भर रहता है हर बीमारी के लिए वह अंग्रेजी दवाइयों का सेवन करता है परंतु भारत में पहले ऐसा नहीं
02 जनवरी 2019
02 जनवरी 2019
हर इंसान चाहता है की वो सुंदर दिखे ताकि आस पास के लोग तथा उसके मित्र यार सभी में उसकी वाहवाही होती रहे। खैर सुंदर और स्मार्ट होना आपके व्यक्तित्व के लिए भी काफी महत्वपूर्ण होता है और आपको बता दें की अगर आप स्मार्ट और सुंदर दिखते है तो कई बार बहुत सी जगहों पर आपको वरीयता भ
02 जनवरी 2019
03 जनवरी 2019
खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है। खाब फाउंडेशन एक ऐसी गैर सरकारी संस्था है जिसका उद्देश्य मानसिक रोगियों की मदद करना और उनको उस रोग से बाहर निकालना है।मानसिक रोग जिसका नाम सुनते ही लो
03 जनवरी 2019
28 दिसम्बर 2018
चांद पर दाग हो तो चलता है, लेकिन आपके चांद से चेहरे पर दाग हो तो फिर मुश्किलें बढ़ जाती हैं। साथ ही अगर बात ख़ूबसूरती की आती है तो गोरा रंग सबसे पहले दिमाग में आता है। हर कोई चाहता है कि उसका चेहरा सबसे अच्छा औऱ खूबसूरत दिखे। सांवले रंगत की शक्ल भी अपने आप में खूबसूरत
28 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
चांद पर दाग हो तो चलता है, लेकिन आपके चांद से चेहरे पर दाग हो तो फिर मुश्किलें बढ़ जाती हैं। साथ ही अगर बात ख़ूबसूरती की आती है तो गोरा रंग सबसे पहले दिमाग में आता है। हर कोई चाहता है कि उसका चेहरा सबसे अच्छा औऱ खूबसूरत दिखे। सांवले रंगत की शक्ल भी अपने आप में खूबसूरत
28 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
Guest Post क्या है ?Guest Post करना क्यों ज़रूरी हैं ?Guest Post करने के फ़ायदे Guest Post करते समय किन-किन बातों का ध्यान दें ?शब्दनगरी पर Guest Post करें यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर (Hindi Bloggar) हैं तो आपका यह जानना ज़रूरी है कि Guest Post क्या है ? ये करना क्यों ज़रूरी ह
26 दिसम्बर 2018
02 जनवरी 2019
राफेल डील मामले पर लोकसभा में हुई चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई सवाल खड़े किए और आरोप लगया कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झूठ बोला है। राहुल के सवालों को जवाब देने के लिए सत्ता पक्ष से वित्त मंत्री अरुण जेटली खड़े हुए और उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
02 जनवरी 2019
26 दिसम्बर 2018
8 नवंबर 2016 की नोटबंदी के बाद नोटों की दुनिया में क्रांति आ गई. कुछ बंद हो गए, कुछ नए आ गए, बाकियों का नाक-नक्शा बदल गया. पुराने वाले हज़ार-पांच सौ लापता हो गए. दो हज़ार और दो सौ के नए नोट दिखने लगे. जो बचे थे उनके साथ दिवाली खेली गई. आई मीन जैसे दिवाली पर घर को नया रंग-र
26 दिसम्बर 2018
28 दिसम्बर 2018
कर्नाटक चुनाव प्रचार के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2019 आम चुनाव के लिए बड़ा बयान दिया है। राहुल गांधी ने कहा कि अगर 2019 में कांग्रेस जीतती है तो वे प्रधानमंत्री बन सकते हैं। साथ ही राहुल गांधी ने बहुत ही दावे के साथ कहा कि 2019 में बीजेपी सरकार नहीं बनाएगी और ना ही नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्
28 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
यूनेस्को द्वारा नालंदा यूनिवर्सिटी को वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्ज़ा दिया गया ।'नालंदा' नाम की उत्पत्ति 3 संस्कृत शब्दों के संयोजन से हुई: "ना", "आलम" और "दा", जिसका अर्थ है 'ज्ञान के उपहार को ना रोकना'।नालंदा यूनिवर्सिटी दुनिया की सबसे प्राचीन रेज़िडेंशियल यूनिवर्सिट
26 दिसम्बर 2018
26 दिसम्बर 2018
इंसान नहीं इंसान का काम बोलता है ये लाइन अपने कई बार सुनी होगी। आज ऐसे ही एक महिला IAS की कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं जिसने इस वाक्य को सही ठहरा दिया।देहरादून में पली-बढ़ी IAS अफसर आरती डोगरा अपने काम के ज़रिये सुर्खियों में बनी रहती हैं। ये ही नहीं इन्होंने ऐसे ऐसे काम किये हैं की खुद प्रधानमंत्री
26 दिसम्बर 2018
04 जनवरी 2019
2019 लोकसभा चुनावों को लेकर सारी पार्टियां अपने जीत की जद्दोज़हद में लग गए हैं। इस बार पूरा विपक्ष एक होता दिख रहा है वहीं मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। लेकिन एक कहावत है कि जंगल में एक ही शेर होता है और भाजपा इस वाक्य को सही साबित करने में लगी हुई है। इसी के चलते अभी बाकि पार्टियां
04 जनवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x