पुदीने के पत्तों का करें ऐसे इस्तेमाल, फर्क देखकर दंग रह जाएंगे आप

03 फरवरी 2019   |  मिताली जैन   (11 बार पढ़ा जा चुका है)

पुदीने के पत्तों का करें ऐसे इस्तेमाल, फर्क देखकर दंग रह जाएंगे आप - शब्द (shabd.in)

ठंड के मौसम में पुदीना मार्केट में बेहद सस्ता व आसानी से उपलब्ध होने वाली चीज है। कई तरह के पेय पदार्थों से लेकर भोजन में इसे प्रयोग करने की सलाह दी जाती है। इसका इस्तेमाल करने से जहां एक ओर खाने का स्वाद बढ़ता है, वहीं दूसरी ओर इससे कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। अगर अब तक आपने खाने में ही इसे इस्तेमाल किया है तो अब इसे कुछ अलग तरह से प्रयोग करके देखिए। उसके बाद कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं यूं ही छूमंतर हो जाएंगी और आपको डाॅक्टर के पास भी नहीं जाना पड़ेगा-


जब पेट दर्द करे परेशान


आज के समय में खानपान में बरती गई अनियमितता पाचन संबंधी परेशानियों को जन्म देती है। गलत समय पर भोजन करना, भोजन में लम्बा गैप करना या एकदम से हैवी भोजन करने से भोजन के पाचन में समस्या होती है। पेट अच्छी तरह साफ न होने या पेट में दर्द होने पर पुदीने का प्रयोग करना काफी अच्छा माना जाता है। इसके सेवने के लिए पुदीने को पीस कर पानी में मिला लें और फिर उस पानी को छान कर पीएं। पुदीने का इस तरह सेवन करने से पेट दर्द में आराम तो मिलता है ही, साथ ही इससे पाचन शक्ति में भी सुधार आता है। इसके अतिरिक्त पेट में दर्द होने पर पुदीने के रस में अदरक का रस व सेंधा नमक मिलाकर सेवन करें। इससे भी लाभ मिलता है। वहीं अगर कोई व्यक्ति अक्सर अपच के कारण परेशान रहता है तो उसे पुदीने की पत्तियों का रस निकालकर उसमें नींबू का रस व शहद मिलाकर दिन में कम से कम तीन बार लेना चाहिए।


चोट करे बेअसर


चोट लगने पर व्यक्ति को काफी पीड़ा होती है और चोट के घाव भी जल्द ठीक नहीं होते। इस स्थिति में पुदीने का प्रयोग करें। दरअसल, पुदीने में एंटी-बैक्टिरियल पाया जाता है जो घाव या चोट को ठीक करने में काफी प्रभावी तरीके से काम करता है। इसके इस्तेमाल के लिए आप पुदीने की पत्तियां मसल कर इसका पेस्ट बना कर घाव वाली जगह पर लगाएं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।


दूर करे सिरदर्द


सिरदर्द को दूर करने में पुदीना बेहद प्रभावशाली माना गया है। अगर आपको सिर में दर्द हो रहा हो तो पुदीने की पत्तियों का लेप बनाकर माथे पर लगाएं। इससे आपको ठंडक का अहसास होगा और तनाव का स्तर भी कम होगा। जिससे सिरदर्द से राहत मिलेगी।


श्वास विकार का उपचार


श्वास संबंधी किसी भी विकार के उपचार के लिए पुदीने का प्रयोग करना बेहद अच्छा रहता है। इसके लिए एक चम्मच पुदीने के रस में दो चम्मच सिरका और एक चम्मच गाजर का रस मिलाकर पीएं।


नहीं आएगी मुंह से बदबू


अपनी ओरल हेल्थ का ख्याल रखने के बाद भी कई लोगों के मुंह से कुछ देर में ही बदबू आने लगती है। इस समस्या से निपटने में भी पुदीना काफी कारगर है। जिन लोगों के मुंह से अक्सर दुर्गंध आती है, वह भोजन करने के बाद पुदीने की कुछ पत्तियों को चबाएं। इससे सांसों में लंबे समय तक ताजगी बनी रहेगी। वैसे अगर आप चाहें तो मुंह की बदबू से छुटकारा पाने के लिए पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसका पाउडर बनाएं। इस पाउडर का इस्तेमाल मंजन की तरह करें। यह मुंह की बदबू को दूर करने के साथ-साथ मसूड़ों को भी मजबूती प्रदान करता है।


गले का ख्याल


पुदीना ओरल हेल्थ का पूरी तरह ख्याल रखता है, फिर चाहे बात मुंह से आने वाली दुर्गंध की हो या गले की समस्या की। यह हर परेशानी का बेहद अच्छी तरह उपचार करता है। आपको चाहे गले में किसी भी तरह की परेशानी हो, बस पुदीने की पत्तियों को पानी में उबालें। अब पानी को छानकर उसमें थोड़ा नमक मिलाएं। इस पानी से गार्गिल करने पर आपको गले की हर समस्या से राहत मिलती है।


टाइफाइड में लाभकारी


टाइफाइड होने पर भी पुदीना रोग के उपचार में मददगार है। इसके लिए पुदीने में तुलसी का रस मिलाकर सेवन करना चाहिए।


मौसमी बीमारियों से छुटकारा


बदलते मौसम में खांसी, जुकाम और बुखार होने की समस्या बेहद आम है। इससे निपटने के लिए पुदीने के रस में काली मिर्च और काला नमक मिलाएं। अब इसे चाय की तरह उबालकर पीएं। आपको यकीनन आराम होगा।


हिचकी लगी हो


हिचकी आना एक बेहद ही सामान्य बात है। आमतौर पर कुछ देर में यह खुद-ब-खुद बंद हो जाती है या लोग हिचकी को रोकने के लिए पानी पीते हैं। लेकिन फिर भी अगर हिचकी नहीं रूक रही हो तो पुदीने की पत्तियां चबाएं या उसका रस निकालकर पीएं। इससे भी हिचकियां आनी बंद हो जाती हैं।


महिलाओं के लिए लाभकारी


पुदीना महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभकारी है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म समय पर नहीं आता, वह इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसका पाउडर बनाएं। अब इसमें थोड़ा शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार प्रतिदिन सेवन करें। कुछ ही दिनों में मासिक धर्म नियमित हो जाएंगे। वहीं प्रसव से पहले अगर स्त्री को पुदीने का रस पिलाया जाए तो इससे प्रसव आसानी से हो जाता है और प्रसव की पीड़ा भी कम होती है।


दूर करे गर्मी


गर्मी के दिनों में हर किसी को पुदीने का सेवन करने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह शरीर को ठंडक प्रदान करता है। अत्यधिक गर्मी के मौसम में अगर जी मचलाता है तो पुदीने की पत्तियों को सुखाकर उसके पाउडर में छोटी इलायची का पाउडर एक गिलास पानी में उबालें। अब इस पानी का सेवन करें। आपको काफी अच्छा लगेगा।



अगला लेख: डिलीवरी के बाद निकली तोंद करती है शर्मिन्दा, बस करिए यह छोटा-सा काम



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 जनवरी 2019
आज के समय में जिस तरह लोग अपना काफी वक्त स्क्रीन पर बिताते हैं, उसका एक सबसे बड़ा हानिकारक प्रभाव आंखों पर दिखाई देता है। कंप्यूटर, टीवी या मोबाइल पर लंबे समय तक रहने के कारण आंखों में थकान या दर्द का अहसास होता है। इसके अतिरिक्त धूल-मिट्टी व प्रदूषण के चलते भी आंखें में इंफेक्शन हो जाता है, जो आंखों
29 जनवरी 2019
28 जनवरी 2019
पीरियड्स किसी भी लड़की के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है। हर 21 से 35 दिनों के बीच महिलाओं को माहवारी होती है। लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि पीरियड्स समय पर नहीं आते और महिलाएं समझती हैं कि शायद वह प्रेग्नेंट है। यकीनन माहवारी न होने का यह एक मुख्य कारण है लेकिन इसके अतिरिक्त भी ऐसी कई चीजें हैं, जो देर
28 जनवरी 2019
29 जनवरी 2019
आज के समय में जिस तरह लोग अपना काफी वक्त स्क्रीन पर बिताते हैं, उसका एक सबसे बड़ा हानिकारक प्रभाव आंखों पर दिखाई देता है। कंप्यूटर, टीवी या मोबाइल पर लंबे समय तक रहने के कारण आंखों में थकान या दर्द का अहसास होता है। इसके अतिरिक्त धूल-मिट्टी व प्रदूषण के चलते भी आंखें में इंफेक्शन हो जाता है, जो आंखों
29 जनवरी 2019
21 जनवरी 2019
महिलाएं हमेशा ही अपनेलुक्स को लेकरकाफी सजग रहतीहै। उम्र कापड़ाव चाहे जोभी हो, लेकिनवह हमेशा हीफिट, हेल्दी वआकर्षक दिखना चाहती हैं।लेकिन जैसे-जैसेसमय का पहियाघूमता है तोशरीर में भीबदलाव आता है।खासतौर से, मांबनने के साथस्त्री के शरीरमें कई बड़ेबदलाव आसानी सेदेखे जा सकतेहै
21 जनवरी 2019
24 जनवरी 2019
हर सुबह उठकर ब्रश करने के बाद भी बहुत से लोगों के मुंह से कुछ समय बाद बदबू आने लगती है। कई बार कुछ खाने पीने से होता है तो कई बार इसके लिए मुंह से जुड़ी कुछ बीमारियां या पाचन संबंधी परेशानियां भी जिम्मेदार होती हैं। लेकिन इसके कारण व्यक्ति को किसी के सामने बात करने में भी शर्मिन्दगी का अहसास तो होता
24 जनवरी 2019
27 जनवरी 2019
आज के समय में लोग जिस तरह लगातार घंटों कंप्यूटर पर बैठकर काम करते हैं, उसके कारण गर्दन में दर्द की शिकायत होने लगती है। कई बार गलत पोजिशन में बैठने या लंबे समय तक एक ही तरह से बैठने के कारण यह परेशानी होती है। इस परेशानी से निपटने के लिए कई तरह के योगासनों का अभ्यास किया जा सकता है। तो चलिए जानते है
27 जनवरी 2019
04 फरवरी 2019
बचपन में बच्चे ऐसे कई चीजें करते हैं, जो बड़े होते-होते कहीं पीछे छूट जाती हैं। फिर चाहे बात खेलने कूदने की हो या मस्तमौला स्वभाव की। वक्त बीतने के साथ यह सभी आदतें व्यक्ति के स्वभाव में नजर नहीं आतीं। लेकिन बचपन की ऐसी बहुत सी आदतें होती हैं, जो बड़े होने पर भी यदि बरकरार रखी जाए तो इससे कई तरह के ला
04 फरवरी 2019
01 फरवरी 2019
सिर में मालिश करने से लेकर भोजन में तड़का लगाने के लिए अक्सर सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही लोग इसे कड़वा तेल कहकर पुकारते हैं लेकिन वास्तव में यह तेल स्वास्थ्य के लिए कड़वा नहीं बल्कि औषधि सम
01 फरवरी 2019
15 फरवरी 2019
बेबी ऑयल का नाम सुनते ही दिमाग में एक कोमल शिशु की छवि उभरकर सामने आ जाती है। चूंकि बच्चों की त्वचा बेहद नाजुक होती है, इसलिए उनका ख्याल रखने के लिए अलग से मिलने वाले बेबी प्राॅडक्ट का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। बेबी ऑयल भी ऐसा ही एक बेबी प्राॅडक्ट है जो शिशु
15 फरवरी 2019
27 जनवरी 2019
आज के समय में लोग जिस तरह लगातार घंटों कंप्यूटर पर बैठकर काम करते हैं, उसके कारण गर्दन में दर्द की शिकायत होने लगती है। कई बार गलत पोजिशन में बैठने या लंबे समय तक एक ही तरह से बैठने के कारण यह परेशानी होती है। इस परेशानी से निपटने के लिए कई तरह के योगासनों का अभ्यास किया जा सकता है। तो चलिए जानते है
27 जनवरी 2019
11 फरवरी 2019
पिछले कुछ समय से योग के महत्व को पूरी दुनिया ने समझा है और यही कारण है कि कई तरह की शारीरिक व मानसिक समस्याओं से राहत पाने के लिए अब लोग योग का सहारा लेने लगे हैं। योग में ऐसे कई आसनों के बारे में बताया गया है जो पूरे स्वास्थ्य का बखूबी ख्याल रखते हैं। इन्हीं में से एक है भुजंगासन। इस आसन के अभ्यास
11 फरवरी 2019
10 फरवरी 2019
अगर बच्चा बड़ा होने के बाद भी सोते समय बिस्तर गीला कर दे तो माता-पिता की परेशान होना लाजमी है। कुछ अभिभावक बच्चों की इस आदत से चिंतित होते हैं तो कुछ गुस्से में बच्चों को डांटने लगते हैं। लेकिन दोनों ही तरीकों को अपनाकर बच्चे की इस आदत को नहीं छुड़वाया जा सकता। अगर आप सच में चाहते हैं कि बच्चा बिस्तर
10 फरवरी 2019
31 जनवरी 2019
आमतौर पर महिलाएं घरमें बचत पर अधिक जोर देती हैं, जिसके कारण वह चीजों का बार-बार व एक ही कई चीज का इस्तेमालकरने में विश्वास करती हैं। फिर चाहें बात खान-पान की चीजों की हो या अन्य चीज की।अगर रोटी बच जाए तो चाउमीन बना लिया, रात की दाल बच गई तो सुबह परांठे बना लिए। इसीतरह
31 जनवरी 2019
25 जनवरी 2019
जीरे के बिना सब्जी में तड़का भी नहीं लगता। यह भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए ही इस्तेमाल नहीं किया जाता, बल्कि यह स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही लाभकारी होता है। जीरा शरीर के सभी अंगों के लिए फायदेमंद है और इसके गुणों के कारण ही भारतीय किचन में इसका एक अलग महत्व है। भोजन के अतिरिक्त भी इसे अन्य कई तरीकों से
25 जनवरी 2019
31 जनवरी 2019
आमतौर पर महिलाएं घरमें बचत पर अधिक जोर देती हैं, जिसके कारण वह चीजों का बार-बार व एक ही कई चीज का इस्तेमालकरने में विश्वास करती हैं। फिर चाहें बात खान-पान की चीजों की हो या अन्य चीज की।अगर रोटी बच जाए तो चाउमीन बना लिया, रात की दाल बच गई तो सुबह परांठे बना लिए। इसीतरह
31 जनवरी 2019
13 फरवरी 2019
अगर भोजन के साथ प्याज न हो, तो खाने में मजा ही नहीं आता। लोग सिर्फ सब्जी बनाते समय ही प्याज का इस्तेमाल नहीं करते, बल्कि सलाद के रूप में इसे कच्चा भी खाया जाता है। वैसे यह अलग बात है कि लोग इसे काटना कम पसंद करते हैं क्योंकि इसे काटते समय आंखों से आंसू आते हैं। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि प
13 फरवरी 2019
28 जनवरी 2019
पीरियड्स किसी भी लड़की के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है। हर 21 से 35 दिनों के बीच महिलाओं को माहवारी होती है। लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि पीरियड्स समय पर नहीं आते और महिलाएं समझती हैं कि शायद वह प्रेग्नेंट है। यकीनन माहवारी न होने का यह एक मुख्य कारण है लेकिन इसके अतिरिक्त भी ऐसी कई चीजें हैं, जो देर
28 जनवरी 2019
23 जनवरी 2019
अगर ऐसे मसाले की बात की जाए, जिसके बिना सब्जी या भोजन बनाना संभव ही न हो तो शायद सबसे पहले जुबां पर नमक का ही नाम आए। जब भी भोजन पकाया जाता है तो उसमें नमक का इस्तेमाल होता ही है। जहां एक ओर नमक भोजन के स्वाद को बढ़ाता है और कई तरह के लाभ पहुंचाता है। वहीं इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से स्वास्थ्य
23 जनवरी 2019
01 फरवरी 2019
सिर में मालिश करने से लेकर भोजन में तड़का लगाने के लिए अक्सर सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही लोग इसे कड़वा तेल कहकर पुकारते हैं लेकिन वास्तव में यह तेल स्वास्थ्य के लिए कड़वा नहीं बल्कि औषधि सम
01 फरवरी 2019
19 जनवरी 2019
घूमना तो हर किसी को पसंद होता है। परिवार के सदस्यों व दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करते हुए नई जगह पर घूमना यकीनन किसी के लिए भी जीवन के बेहतरीन लम्हों में से एक होता है। लेकिन वहीं बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें घूमना तो पसंद होता है लेकिन फिर भी वह उससे बचते हैं। इसका मुख्य कारण होता है सफर के द
19 जनवरी 2019
20 जनवरी 2019
नींद लेना सिर्फ शरीर को आराम देने के लिए ही जरूरी नहीं होता, बल्कि यह बेहतर स्वास्थ्य की कुंजी है। आमतौर पर देखने में आता है कि लोग तनाव या काम के बोझ तले देर रात तक जागते रहते हैं और फिर उसका विपरीत असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो रात को सोते तो हैं, लेकिन फिर भी सुब
20 जनवरी 2019
28 जनवरी 2019
पीरियड्स किसी भी लड़की के शरीर का एक नेचुरल प्रोसेस है। हर 21 से 35 दिनों के बीच महिलाओं को माहवारी होती है। लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि पीरियड्स समय पर नहीं आते और महिलाएं समझती हैं कि शायद वह प्रेग्नेंट है। यकीनन माहवारी न होने का यह एक मुख्य कारण है लेकिन इसके अतिरिक्त भी ऐसी कई चीजें हैं, जो देर
28 जनवरी 2019
16 फरवरी 2019
बदलती जीवनशैली में व्यक्ति की जिस तरह की खान-पान की आदतों में बदलाव आया है, उसके कारण पाचनतंत्र कमजोर होता जा रहा है। आज के समय में अधिकतर लोग किसी न किसी पेट की समस्या से जूझ रहे हैं। इन्हीं में से एक है कब्ज। खराब व अनहेल्दी भोजन, व्यस्त जीवनशैली और तनाव के चलते कब्ज की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में
16 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x