मधुमेह से पाना है छुटकारा, यह घरेलू चीजें आएंगी काम

07 फरवरी 2019   |  मिताली जैन   (21 बार पढ़ा जा चुका है)

मधुमेह से पाना है छुटकारा, यह घरेलू चीजें आएंगी काम - शब्द (shabd.in)

भारत में शायद ही कोई घर हो, जहां पर मधुमेह ने अपने पांव न पसारे हो। मधुमेह जैसे एक आम बीमारी बन गई है लेकिन इसके कारण अन्य कई गंभीर समस्याएं जन्म लेती है। मधुमेह के कारण एक ओर जहां व्यक्ति मनपसंद आहार नहीं ले पाता, वहीं दूसरी ओर उसे हर समय आवश्यक दवाईयों ाके अपने साथ रखना पड़ता है। इतना ही नहीं, अगर मधुमेह अनियंत्रित हो जाए तो इससे घातक परिणाम भी देखने को मिलते हैं। ऐसे में यह बेहद जरूरी है कि शुरूआत से ही इस पर काबू रखा जाए। तो चलिए आज हम आपको कछ ऐसे घरेलू उपचार के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने मधुमेह पर नियंत्रण रख सकते हैं-


करेला आएगा काम


करेला कहने में भले ही कड़वा हो लेकिन इसके गुण किसी औषधि से कम नहीं है। कई तरह की बीमारियों से निजात दिलाने में करेला बेहद ही काम आता है। इन्हीं बीमारियों में से एक है मधुमेह की समस्या। दरअसल, करेला पेनक्रियाज में इंसुलिन के स्त्राव को बेहतर बनाता है, वहीं दूसरी ओर, यह इंसुलिन के रेसिसटेंस को भी रोकता है। अपने इसी गुण के कारण यह टाइप 1 और टाइप 2 दोनों तरह की ही डायबिटीज रोगियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। इसका सेवन करने के लिए पहले हर रोज दो से तीन करेले के बीज निकालें और फिर आप इसे मिक्सी में डालकर इसका जूस निकालें। अब आप इसमें थोड़ा पानी मिलाकर इसका सेवन करें। आप प्रतिदिन सुबह खाली पेट इस जूस का सेवन करें। आपको कुछ ही दिनों में आपका मधुमेह नियंत्रित हो जाएगा।


नीम का पौधा


भारत में नीम का पौधा आसानी से मिल जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि मधुमेह को नियंत्रित करने में एक प्रभावी दवा के रूप में काम करता है। एक अध्ययन से इस बात का पता चला है कि नीम बीटा कोशिकाओं में इंसुलिन रिसेप्टर संवेदनशीलता को बढ़ाता हैए रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है और हाइपोग्लाइकेमिक दवाओं पर निर्भरता कम करता है। यहां तक कि यह शरीर द्वारा इंसुलिन की आवश्यकता को 60 प्रतिशत तक कम कर देता है।


दालचीनी पाउडर का इस्तेमाल


दालचीनी का पाउडर भी मधुमेह रोगियों के लिए बेहद उपयोगी है क्योंकि यह भी रक्त में शर्करा के स्तर को कम करने की क्षमता रखता है। इसके अतिरिक्त इसमें पाए जाने वाले कुछ बायोएक्टिव घटक मधुमेह से लड़ने के साथ-साथ उसे रोकने की भी क्षमता रखते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए आप पहले पानी को उबालें। फिर इस पानी में दो-तीन दालचीनी स्टिक डालकर करीबन पानी को 20-25 मिनट के लिए यूं ही छोड़ दें। अब आप इसे छान लें और इसका सेवन करें।


एलोवेरा का प्रयोग


एलोवेरा भारतीय घरों में बेहद आसानी से मिल जाता है। चूंकि इसका स्वाद थोड़ा कड़वा होता है, इसलिए इसका प्रयोग छाछ के साथ किया जा सकता है। यूं तो इसका प्रयोग अमूमन ब्यूटी प्राॅडक्ट्स को बनाने के दौरान किया जाता है, लेकिन इसकी एंटी-इंफलेमेटरी प्राॅपर्टीज के कारण यह रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है।


आम की पत्ती भी है लाभकारी


आपने आम का सेवन तो कई बार किया होगा लेकिन अब इसकी पत्ती का सेवन करके मधुमेह को मात दीजिए। आम की पत्ती रक्त में इंसलिन के स्तर को बेहतर बनाने के साथ-साथ ब्लड लिपिड को भी बेहतर बनाता हैं। इसलिए मधुमेह पीड़ित व्यक्तियों के लिए इसका सेवन बेहद लाभकारी माना गया है। इसके इस्तेमाल के लिए पहले एक गिलास पानी में दस से पंद्रह आम की पत्तियों को भिगोकर रातभर के लिए रख दें। अब सुबह उठकर पानी को छान लें और खाली पेट इसका सेवन करें।


अवश्य खाएं जामुन


जामुन खाना तो अधिकतर लोगों को पसंद होता है, लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि मधुमेह को नियंत्रित करने में भी अहम भूमिका निभाता है। अगर हर दिन लगभग 100 ग्राम जामुन का सेवन किया जाए तो रक्त में शर्करा के स्तर को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।


आंवला है कारगर


विटामिन सी युक्त आंवला का सेवन करने से पेनक्रियाज को बेहतर तरीके से काम करने के लिए प्रेरित करता है। इसका सेवन करने के लिए दो से तीन आंवला लेकर उसे बीच में से काटें और फिर उसे बीज निकाल दें। अब आप इसे मिक्सी में डालकर पीसें। अब आप इसे एक पतले कपड़े मे ंनिकालकर हाथों की मदद से इसका रस निकालें। अब आप एक कप पानी में दो चम्मच आंवला का रस मिक्स करें। इसका सेवन आप प्रतिदिन खाली पेट करें। वैसे एक अध्ययन से भी यह बात साबित हुई है कि विटामिन सी मधुमेह से लड़ने में काफी कारगर है। प्रतिदिन लगभग 600 मिलीग्राम विटामिन सी का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर में काफी सुधार हो सकता है। इसलिए आप आंवला के अतिरिक्त भी विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ जैसे संतरा, नींबू, टमाटर व ब्लूबेरी का सेवन भी करें।


मेथीदाने का कमाल


चूंकि मेथीदाने में फाइबर काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है, इसलिए यह रक्त में शर्करा के स्तर को कम करने के साथ-साथ मधुमेह को भी नियंत्रित करता है। जब इसका सेवन किया जाता है तो व्यक्ति का पाचन धीमा हो जाता है, जिससे ब्लड शुगर ठीक से अवशोषित होता है। यह टाइप 1 और टाइप 2 दोनों ही प्रकार की डायबिटीज में प्रभावी है। इसके सेवन के लिए दो चम्मच मेथी को रातभर पानी में भिगोकर रखिए और अगली सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपका मेटाबाॅलिज्म भी सुधरता है और मधुमेह के साथ-साथ वजन को नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है।


करीपत्ता


एक अध्ययन से यह बात साबित हुई है कि करी पत्ते मधुमेह को रोकने और नियंत्रित करने में उपयोगी होते हैं क्योंकि वे मधुमेह वाले लोगों में स्टार्च.से.ग्लूकोज के टूटने की दर को धीमा कर देते हैं। इसलिए मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को किसी न किसी रूप में करीपत्ते को अपने आहार में अवश्य शामिल करना चाहिए।


अगला लेख: डिलीवरी के बाद निकली तोंद करती है शर्मिन्दा, बस करिए यह छोटा-सा काम



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 जनवरी 2019
आज के समय में जिस तरह लोग अपना काफी वक्त स्क्रीन पर बिताते हैं, उसका एक सबसे बड़ा हानिकारक प्रभाव आंखों पर दिखाई देता है। कंप्यूटर, टीवी या मोबाइल पर लंबे समय तक रहने के कारण आंखों में थकान या दर्द का अहसास होता है। इसके अतिरिक्त धूल-मिट्टी व प्रदूषण के चलते भी आंखें में इंफेक्शन हो जाता है, जो आंखों
29 जनवरी 2019
26 जनवरी 2019
भारतीय किचन में ऐसे कई तरह के मसालों का उपयोग प्रतिदिन किया जाता है, जिनके स्वास्थ्य लाभों से अब तक लोग अनजान है। जिसके कारण इन्हें हर दिन एक ही तरह से इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन वहीं दूसरी ओर, अगर इन्हें सही तरह से प्रयोग किया जाए तो इन्हीं मसालों की मदद से कई तरह की बीमारियों से निजात पाई जा सकत
26 जनवरी 2019
10 फरवरी 2019
अगर बच्चा बड़ा होने के बाद भी सोते समय बिस्तर गीला कर दे तो माता-पिता की परेशान होना लाजमी है। कुछ अभिभावक बच्चों की इस आदत से चिंतित होते हैं तो कुछ गुस्से में बच्चों को डांटने लगते हैं। लेकिन दोनों ही तरीकों को अपनाकर बच्चे की इस आदत को नहीं छुड़वाया जा सकता। अगर आप सच में चाहते हैं कि बच्चा बिस्तर
10 फरवरी 2019
23 जनवरी 2019
अगर ऐसे मसाले की बात की जाए, जिसके बिना सब्जी या भोजन बनाना संभव ही न हो तो शायद सबसे पहले जुबां पर नमक का ही नाम आए। जब भी भोजन पकाया जाता है तो उसमें नमक का इस्तेमाल होता ही है। जहां एक ओर नमक भोजन के स्वाद को बढ़ाता है और कई तरह के लाभ पहुंचाता है। वहीं इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से स्वास्थ्य
23 जनवरी 2019
20 जनवरी 2019
नींद लेना सिर्फ शरीर को आराम देने के लिए ही जरूरी नहीं होता, बल्कि यह बेहतर स्वास्थ्य की कुंजी है। आमतौर पर देखने में आता है कि लोग तनाव या काम के बोझ तले देर रात तक जागते रहते हैं और फिर उसका विपरीत असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो रात को सोते तो हैं, लेकिन फिर भी सुब
20 जनवरी 2019
02 फरवरी 2019
कहते हैं कि जल ही जीवन है। अर्थात पानी के बिना व्यक्ति के जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। वैसे भी मनुष्य के आधे से अधिक शरीर पानी से ही बना है। यह पानी ही शरीर की कार्यप्रणाली को सही तरह से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है और अगर इसकी कमी हो जाए तो व्यक्ति को कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता
02 फरवरी 2019
13 फरवरी 2019
अगर भोजन के साथ प्याज न हो, तो खाने में मजा ही नहीं आता। लोग सिर्फ सब्जी बनाते समय ही प्याज का इस्तेमाल नहीं करते, बल्कि सलाद के रूप में इसे कच्चा भी खाया जाता है। वैसे यह अलग बात है कि लोग इसे काटना कम पसंद करते हैं क्योंकि इसे काटते समय आंखों से आंसू आते हैं। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि प
13 फरवरी 2019
31 जनवरी 2019
आमतौर पर महिलाएं घरमें बचत पर अधिक जोर देती हैं, जिसके कारण वह चीजों का बार-बार व एक ही कई चीज का इस्तेमालकरने में विश्वास करती हैं। फिर चाहें बात खान-पान की चीजों की हो या अन्य चीज की।अगर रोटी बच जाए तो चाउमीन बना लिया, रात की दाल बच गई तो सुबह परांठे बना लिए। इसीतरह
31 जनवरी 2019
01 फरवरी 2019
सिर में मालिश करने से लेकर भोजन में तड़का लगाने के लिए अक्सर सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही लोग इसे कड़वा तेल कहकर पुकारते हैं लेकिन वास्तव में यह तेल स्वास्थ्य के लिए कड़वा नहीं बल्कि औषधि सम
01 फरवरी 2019
24 जनवरी 2019
हर सुबह उठकर ब्रश करने के बाद भी बहुत से लोगों के मुंह से कुछ समय बाद बदबू आने लगती है। कई बार कुछ खाने पीने से होता है तो कई बार इसके लिए मुंह से जुड़ी कुछ बीमारियां या पाचन संबंधी परेशानियां भी जिम्मेदार होती हैं। लेकिन इसके कारण व्यक्ति को किसी के सामने बात करने में भी शर्मिन्दगी का अहसास तो होता
24 जनवरी 2019
30 जनवरी 2019
अगर सुबह उठकर व्यक्ति का पेट ठीक से साफ न हो तो पूरा दिन ही खराब हो जाता है। न तो काम में मन लगता है और शरीर में भी अजीब सी बैचेनी होती है। लेकिन आमतौर पर, जिस तरह से लोगों की खानपान की आदतें व खानपान में अनियमितता है, उसके कारण पाचन प्रक्रिया संबंधी कई तरह की समस्याएं पैदा होती हैं। इन्हीं में से ए
30 जनवरी 2019
01 फरवरी 2019
सिर में मालिश करने से लेकर भोजन में तड़का लगाने के लिए अक्सर सरसों के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही लोग इसे कड़वा तेल कहकर पुकारते हैं लेकिन वास्तव में यह तेल स्वास्थ्य के लिए कड़वा नहीं बल्कि औषधि सम
01 फरवरी 2019
27 जनवरी 2019
आज के समय में लोग जिस तरह लगातार घंटों कंप्यूटर पर बैठकर काम करते हैं, उसके कारण गर्दन में दर्द की शिकायत होने लगती है। कई बार गलत पोजिशन में बैठने या लंबे समय तक एक ही तरह से बैठने के कारण यह परेशानी होती है। इस परेशानी से निपटने के लिए कई तरह के योगासनों का अभ्यास किया जा सकता है। तो चलिए जानते है
27 जनवरी 2019
24 जनवरी 2019
हर सुबह उठकर ब्रश करने के बाद भी बहुत से लोगों के मुंह से कुछ समय बाद बदबू आने लगती है। कई बार कुछ खाने पीने से होता है तो कई बार इसके लिए मुंह से जुड़ी कुछ बीमारियां या पाचन संबंधी परेशानियां भी जिम्मेदार होती हैं। लेकिन इसके कारण व्यक्ति को किसी के सामने बात करने में भी शर्मिन्दगी का अहसास तो होता
24 जनवरी 2019
31 जनवरी 2019
आमतौर पर महिलाएं घरमें बचत पर अधिक जोर देती हैं, जिसके कारण वह चीजों का बार-बार व एक ही कई चीज का इस्तेमालकरने में विश्वास करती हैं। फिर चाहें बात खान-पान की चीजों की हो या अन्य चीज की।अगर रोटी बच जाए तो चाउमीन बना लिया, रात की दाल बच गई तो सुबह परांठे बना लिए। इसीतरह
31 जनवरी 2019
27 जनवरी 2019
आज के समय में लोग जिस तरह लगातार घंटों कंप्यूटर पर बैठकर काम करते हैं, उसके कारण गर्दन में दर्द की शिकायत होने लगती है। कई बार गलत पोजिशन में बैठने या लंबे समय तक एक ही तरह से बैठने के कारण यह परेशानी होती है। इस परेशानी से निपटने के लिए कई तरह के योगासनों का अभ्यास किया जा सकता है। तो चलिए जानते है
27 जनवरी 2019
21 जनवरी 2019
महिलाएं हमेशा ही अपनेलुक्स को लेकरकाफी सजग रहतीहै। उम्र कापड़ाव चाहे जोभी हो, लेकिनवह हमेशा हीफिट, हेल्दी वआकर्षक दिखना चाहती हैं।लेकिन जैसे-जैसेसमय का पहियाघूमता है तोशरीर में भीबदलाव आता है।खासतौर से, मांबनने के साथस्त्री के शरीरमें कई बड़ेबदलाव आसानी सेदेखे जा सकतेहै
21 जनवरी 2019
03 फरवरी 2019
ठंड के मौसम में पुदीना मार्केट में बेहद सस्ता व आसानी से उपलब्ध होने वाली चीज है। कई तरह के पेय पदार्थों से लेकर भोजन में इसे प्रयोग करने की सलाह दी जाती है। इसका इस्तेमाल करने से जहां एक ओर खाने का स्वाद बढ़ता है, वहीं दूसरी ओर इससे कई
03 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x