गिलोय अर्क - समस्त शारीरिक समस्याओं में लाभकारी आयुर्वेदिक औषधी

07 सितम्बर 2019   |  Ambic Ayurved   (396 बार पढ़ा जा चुका है)


गिलोय आयुर्वेद की एक ऐसी औषधी है, जिसका सेवन हर उम्र का व्यक्ति कर सकता है। यह बेल के रूप में पाई जाती है और इसका आकार पान के पत्ते की तरह होता है। प्रत्येक आयुवर्ग के लोगों के लिए यह बहुत लाभदायक होती है। यह मानव शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बहुत मददगार होती है। इसी कारण इसका सेवन करने वाले बीमार होने से आसानी से बच जाते हैं। गिलोय में प्रोटीन, कैल्शियम तथा फॉस्फोरस काफी मात्रा में पाएं जाते हैं जो मानव शरीर के लिए बेहद लाभदायक होते हैं।



बच्चों तथा बड़े आयुवर्ग के लोगों के लिए गिलोय के फ़ायदे -

1 - कई बार बच्चों में खून की कमी के कारण वे एनीमिया का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में उनको गिलोय अर्क बहुत लाभ देता है। यदि बच्चों को गिलोय अर्क का सेवन पहले से कराया जाए तो वे एनीमिया का शिकार नहीं हो पाते हैं।

2 - पीलिया रोग में भी गिलोय अर्क का सेवन करना लाभदायक होता है। पीलिया रोग से पीड़ित किसी भी उम्र के लोग इसका सेवन कर लाभ ले सकते हैं।

3 - यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यदि इसका सेवन प्रतिदिन किया जाए तो आने वाली अनेक बीमारियों से बचा जा सकता है।4 - अक्सर बच्चों को डेंगू तथा टाइफाइड बुखार के बचाव में भी यह बहुत कारगर साबित होता है। ऐसी स्थिति में गिलोय अर्क का सेवन कराने पर बुखार से जल्दी निजात मिल जाती है और प्लेटलेट काउंट बढ़ना भी तेजी से शुरू हो जाता है।

5 - किसी भी प्रकार के रक्त विकार में बहुत ही उपयोगी साबित होता है।


गिलोय अर्क को क्यों कहा जाता है अमृत तुल्य -

1 - आयुर्वेद में गिलोय को अमृता के नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि यह अमृत के समान ही शरीर की समस्त बीमारियों से रक्षा करता है।

2 - गिलोय अर्क को हर उम्र के व्यक्ति को स्वस्थ तथा बिमार दोनों अवस्थाओं में दिया जा सकता है।

3 - गिलोय अर्क, गिलोय चूर्ण, टेबलेट या सीरप से ज्यादा प्रभावशाली और शीघ्र लाभ देने वाला होता है।

4 - गिलोय अर्क के सेवन से बच्चों में शारारिक, मानसिक तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।

अगला लेख: संपूर्ण परिवार की समस्याओं का सरल आयुर्वेदिक उपाय - गिलोय अर्क



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
10 सितम्बर 2019
हमारा पाचन तंत्रहमारे पुरे जीवनको प्रभावित करताहै। इसके ख़राबहोने पर एसिडिटी,अफरा या दर्द जैसी समस्याएंहोने लगती हैं।वर्तमान समय में महिलाएं भी पाचन तंत्र कीसमस्याओं से काफीपरेशान हैं। 30-35 याउससे अधिक उम्रकी महिलाओं मेंयह समस्या काफीदेखने को मिल रही है।असल में इस आयुवर्ग की महिलायेंग्रहणी या जॉब वर
10 सितम्बर 2019
11 सितम्बर 2019
वर्तमान समय मेंमहिलाएं में बहुतसारी समस्याएं देखनेको मिलती हैं।जब महिलाओं मेंपीरियड्स की शुरुआतहोती है, उस अवस्था मेंमहिलाओं में बहुतसारे हार्मोनल चेंजेसहोते हैं। जैसेमहिलाओं के शरीर पर बालोंका आना, चेहरेपर कील मुहांसोका होना। यहसभी प्रक्रियाएं हार्मोन्सके बदलाव केकारण शरीर मेंहोते हैं। बहुतसी महिला
11 सितम्बर 2019
13 सितम्बर 2019
वर्तमान समय मेंजीवन में बहुतज्यादा भागदौड़ होचुकी है। जीवनमें जितनी गतिशीलताबढ़ी है उतना ही तनावभी बढ़ा है। तनाव सेकई प्रकार कीसमस्याएं पैदा होतीहैं जो मानव जीवन कोप्रभावित करती हैं।आज युवाओं मेंतनाव के कारण यौन समस्याएंलगातार बढ़ रहीं हैं। युवाओंमें तनाव से कई प्रकारकी यौन समस्याएंबढ़ रहीं हैं। युवाओ मे
13 सितम्बर 2019
17 सितम्बर 2019
आज के समयमें वातावरण मेंकितना प्रदुषण हैइस बात को सभी अच्छेसे जानते हीहैं। इसी प्रदुषणके कारण वर्तमानमें लोग सांसया अस्थमा सेबड़ी संख्या मेंग्रस्त हैं। आज के समयमें सांस फूलनेकी समस्या आमहो चुकी है।यह समस्या सूजन,संक्रमण, प्रदूषित वातावरण, धूम्रपानकि आदत तथा आनुवंशिक आ
17 सितम्बर 2019
14 सितम्बर 2019
गिलोय एक ऐसीआयुर्वेदिक औषधी है,जिसका सेवन हर आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है और यहबेल के रूप में पाईजाती है। गिलोयको गुडुची केनाम से भी जाना जाताहै। इसका वैज्ञानिकनाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलियाहै। इस औषधी का उपयोगप्राचीनकाल से एकख़ास घटक के रूप सेआयुर्वेदिक में कियाजाता
14 सितम्बर 2019
20 सितम्बर 2019
आयुर्वेद एक सरल प्राकृतिक चिकित्सा पद्दति है। सामान्य रोगों से लेकर यौन रोगों तक का इस पद्दति से आसानी से उपचार किया जा सकता है। आयुर्वेद के कई प्राचीन ग्रंथों में यौन रोगों के उपचार के बारे में विस्तृत जानकारी मिलती है। आज के समय में 10 में से 1 पुरुष किसी न किसी यौन
20 सितम्बर 2019
28 अगस्त 2019
पेट की समस्याएंवैसे तो सभी के लिएहानिकारक होती हैं।लेकिन महिलाओं कोयदि पेट की समस्याएं होने के चांस ज्यादाहोते हैं। असलमें महिलाएं दिनभर किसी न किसी कार्यमें लगी ही रहती हैं।चाहे वह घर का कार्यहो या बाहरी।ऐसे में महिलाओंके खानपान मेंगड़बड़ी होने के कारण वेपाचन तंत्र कीस
28 अगस्त 2019
14 सितम्बर 2019
गिलोय एक ऐसीआयुर्वेदिक औषधी है,जिसका सेवन हर आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है और यहबेल के रूप में पाईजाती है। गिलोयको गुडुची केनाम से भी जाना जाताहै। इसका वैज्ञानिकनाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलियाहै। इस औषधी का उपयोगप्राचीनकाल से एकख़ास घटक के रूप सेआयुर्वेदिक में कियाजाता
14 सितम्बर 2019
30 अगस्त 2019
<!--[if mso & !supportInlineShapes & supportFields]><spanstyle='mso-element:field-begin;mso-field-lock:yes'></span><spanstyle='mso-spacerun:yes'> </span>SHAPE <spanstyle='mso-spacerun:yes'> </span>\* MERGEFORMAT <span style='mso-element:field-separator'></span><![endif]--><!--[if gte vml 1]><v:rect
30 अगस्त 2019
13 सितम्बर 2019
वर्तमान समय मेंजीवन में बहुतज्यादा भागदौड़ होचुकी है। जीवनमें जितनी गतिशीलताबढ़ी है उतना ही तनावभी बढ़ा है। तनाव सेकई प्रकार कीसमस्याएं पैदा होतीहैं जो मानव जीवन कोप्रभावित करती हैं।आज युवाओं मेंतनाव के कारण यौन समस्याएंलगातार बढ़ रहीं हैं। युवाओंमें तनाव से कई प्रकारकी यौन समस्याएंबढ़ रहीं हैं। युवाओ मे
13 सितम्बर 2019
27 अगस्त 2019
गिलोय एक ऐसीऔषधी है जो सभी रोगोंमें लाभकारी साबितहोती है। इस औषधी केइतने गुण तथा लाभ हैंकी आयुर्वेद मेंइसको अमृता केनाम से भी जाना जाताहै। गिलोय पानके पत्तों केआकार की एक बेल होतीहै। इसकी सबसेबड़ी खासियत यहहोती है की यह जिसभी पेड़ पर चढ़ जातीहै उसके गुणोंको भी अपने में ध
27 अगस्त 2019
18 सितम्बर 2019
गिलोय को आयुर्वेदमें अमृता कहाजाता है। यह इसलिए क्योंकी यह अमृत के सामानहै। इसका सेवनप्रत्येक आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है।बच्चों को स्वस्थरखने के लिए भी यहअत्यंत लाभकारी है।6 वर्ष से 10 वर्षतक के बच्चोंको इसका सेवनकराया जा सकता है। असलमें बच्चों कीरोग प्रतिरोधक
18 सितम्बर 2019
30 अगस्त 2019
<!--[if mso & !supportInlineShapes & supportFields]><spanstyle='mso-element:field-begin;mso-field-lock:yes'></span><spanstyle='mso-spacerun:yes'> </span>SHAPE <spanstyle='mso-spacerun:yes'> </span>\* MERGEFORMAT <span style='mso-element:field-separator'></span><![endif]--><!--[if gte vml 1]><v:rect
30 अगस्त 2019
14 सितम्बर 2019
गिलोय एक ऐसीआयुर्वेदिक औषधी है,जिसका सेवन हर आयु वर्गका व्यक्ति करसकता है। इसकाआकार पान के पत्ते कीतरह होता है और यहबेल के रूप में पाईजाती है। गिलोयको गुडुची केनाम से भी जाना जाताहै। इसका वैज्ञानिकनाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलियाहै। इस औषधी का उपयोगप्राचीनकाल से एकख़ास घटक के रूप सेआयुर्वेदिक में कियाजाता
14 सितम्बर 2019
11 सितम्बर 2019
वर्तमान समय मेंमहिलाएं में बहुतसारी समस्याएं देखनेको मिलती हैं।जब महिलाओं मेंपीरियड्स की शुरुआतहोती है, उस अवस्था मेंमहिलाओं में बहुतसारे हार्मोनल चेंजेसहोते हैं। जैसेमहिलाओं के शरीर पर बालोंका आना, चेहरेपर कील मुहांसोका होना। यहसभी प्रक्रियाएं हार्मोन्सके बदलाव केकारण शरीर मेंहोते हैं। बहुतसी महिला
11 सितम्बर 2019
03 सितम्बर 2019
दूषित खानपान तथाजीवन शैली से पेट कीकई समस्याएं जैसेएसिडिटी, अफरा यादर्द आदि होनेलगती हैं। वर्तमानसमय में लोग पेट कीसमस्याओं से काफीपरेशान हैं। स्कुल,कॉलेज के छात्र,व्यापारी या जॉबवर्कर्स जैसे लोगोंकी जीवन शैलीकुछ इस प्रकारकी होती है की इनकाअधिकतर समय घर के बाहरही गुजरता है।ज्यादा समय बाहरीवातावरण मे
03 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
हमारा पाचन तंत्रहमारे पुरे जीवनको प्रभावित करताहै। इसके ख़राबहोने पर एसिडिटी,अफरा या दर्द जैसी समस्याएंहोने लगती हैं।वर्तमान समय में महिलाएं भी पाचन तंत्र कीसमस्याओं से काफीपरेशान हैं। 30-35 याउससे अधिक उम्रकी महिलाओं मेंयह समस्या काफीदेखने को मिल रही है।असल में इस आयुवर्ग की महिलायेंग्रहणी या जॉब वर
10 सितम्बर 2019
11 सितम्बर 2019
वर्तमान समय मेंमहिलाएं में बहुतसारी समस्याएं देखनेको मिलती हैं।जब महिलाओं मेंपीरियड्स की शुरुआतहोती है, उस अवस्था मेंमहिलाओं में बहुतसारे हार्मोनल चेंजेसहोते हैं। जैसेमहिलाओं के शरीर पर बालोंका आना, चेहरेपर कील मुहांसोका होना। यहसभी प्रक्रियाएं हार्मोन्सके बदलाव केकारण शरीर मेंहोते हैं। बहुतसी महिला
11 सितम्बर 2019
18 सितम्बर 2019
बच्चों में स्किनएलर्जी की समस्याकाफी जल्दी होजाती है। असल में उनकीस्किन काफी नाजुकतथा कोमल होतीहै इसलिए बच्चोंकी स्किन कीदेखभाल करना बहुतआवश्यक होता है।किसी भी बच्चेमें स्किन एलर्जीके कई कारण हो सकतेहैं। कई बार यह एलर्जीकाफी दिन तक सही नहींहोती है। धूल,धूप तथा मिट्टीमें खेलने केकारण बच्चों मेंस्किन
18 सितम्बर 2019
27 अगस्त 2019
गिलोय एक ऐसीऔषधी है जो सभी रोगोंमें लाभकारी साबितहोती है। इस औषधी केइतने गुण तथा लाभ हैंकी आयुर्वेद मेंइसको अमृता केनाम से भी जाना जाताहै। गिलोय पानके पत्तों केआकार की एक बेल होतीहै। इसकी सबसेबड़ी खासियत यहहोती है की यह जिसभी पेड़ पर चढ़ जातीहै उसके गुणोंको भी अपने में ध
27 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x