पपीते की मदद से करें अपने पीरियड्स को नियमित

16 जनवरी 2020   |  बबीता राणा   (384 बार पढ़ा जा चुका है)

Periods

अनियमित पीरियड तब होता है जब मासिक साइकिल का अंतराल 35 दिनों से अधिक या 21 दिनों से कम या यदि अंतराल बदलता रहता है। मिस्ड पीरियड्स से घबराहट और तनाव हो सकता है। यह हमेशा किसी खतरे की सूचक नहीं होता है और इसे कुछ घरलु उपायों से भी नियंत्रित किया जा सकता है। एक पुराना रिवाज यह कहता है कि पपीते के प्रचुर मात्रा में सेवन से रुका हुआ मासिक धर्म फिर से खुल सकता है और अनियमित मासिक धर्म को भी नियमित किया जा सकता है। पपीता में मूल्यवान पोषक तत्व जैसे विटामिन-ए, कैल्शियम, पोटेशियम पायें जाते हैं, जो पीरियड्स को नियमित करने और अन्य समस्यायों में मददगार होता हैं। जाने कैसे करें पपीता का प्रयोग। परन्तु पहले इसके गुणों के बारे में जानते हैं। (मासिक धर्म को नियमित करने के घरेलू उपाय।)


पपीते के गुण


  1. पपीता विटामिन ए और कैल्शियम से भरपूर होता है और पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है।
  2. इसमें फोलिक एसिड, विटामिन बी, विटामिन बी -1 और राइबोफ्लेविन भी होता है।
  3. ये विटामिन और खनिज पपीते को एक सुपरफूड बनाते हैं, जो कई बीमारियों को नियंत्रित करता है।
  4. पपीते में फाइबर की भी अच्छी मात्रा होती है, जो कब्ज को रोकने और पाचन में मदद करती है।
  5. आप अपने वजन घटाने के आहार में पपीते को भी शामिल कर सकते हैं क्योंकि यह कैलोरी में कम फाइबर में उच्च और विटामिन में समृद्ध होता है।


पपीता किस प्रकार पीरियड्स को नियमित करता है जाने !


  1. कच्चे पपीते में बहुत अधिक गर्मी होती है जो शरीर में एस्ट्रोजेन के उत्पादन को प्रोत्साहित करती है जिसके परिणामस्वरूप महावारी सामान्य होती है।
  2. कच्चा पपीता मासिक धर्म के दौरान रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि यह गर्भाशय की मांसपेशियों को सक्षम और मजबूत बनाता है। पपीते का यह गुण उसे मासिक धर्म को नियमित करने के लिए आदर्श बनाता है।
  3. पपीते में विटामिन सी का उच्च स्तर होता है जो मासिक धर्म को नियमित करने के लिए ज़रूरी होता है।
  4. यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कच्चा पपीता मासिक धर्म चक्र को सामान्य करने में मदद करता है और पका पपीता नहीं।
  5. कच्चे पपीते का सेवन करने के कई तरीके है लेकिन कच्चे पपीते को सलाद के रूप में सबसे ज़्यादा पसंद किया जाता है।

यदि आपको देरी से माहवारी, कम माहवारी, अनियमित माहवारी या दर्दनाक माहवारी हो रही है तो आपके मासिक धर्म संबंधी सभी समस्याओं को हल करने के लिए पपीता एक बेहद कारगर उपाय साबित हो सकता है। तेह लेख आपको कैसा लगा जरूर बताएं। मेरी यही राय है की जितना हो सके आप नेचुरल रेमेडीज अपनाएं जिनका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है। अगर आपको पीरियड से रिलेटेड कोई भी जानकारी लेनी हो तो आप मुफ्त में डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं।






अगला लेख: आईवीएफ व टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है ? आईवीएफ की जरूरत किसे होती है ?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x