Sketches from life: घर में योग 2020

21 जून 2020   |  हर्ष वर्धन जोग   (288 बार पढ़ा जा चुका है)

Sketches from life: घर में योग 2020

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है. हर साल इस 'त्यौहार' की कोई ना कोई थीम रख दी जाती है और इस बार अर्थात 2020 की थीम है 'घर में योग'. कोरोना के साइड इफ़ेक्ट कहाँ नहीं पहुंचे!

पिछले बरसों में क्रम यूँ था:

योग दिवस 2015 की थीम थी - सामंजस्य और शांति,

योग दिवस 2016 की थीम थी - युवाओं को जोड़ें,

योग दिवस 2017 की थीम थी - स्वास्थ्य के लिए योग,

योग दिवस 2018 की थीम थी - शांति के लिए योग और

योग दिवस 2019 की थीम थी - क्लाइमेट एक्शन.

योग के इतने फैलाव ने मूल सिद्धांत को कहीं का कहीं पहुंचा दिया. परिभाषा तो इस प्रकार है: योगश्चित्तवृतिनिरोधः पातंजलि योग दर्शन में 'चित्त की वृत्तियों का निरोध' को योग कहते हैं.

कुशल चितैकग्गता योगः बौद्ध साहित्य में 'कुशल चित्त की एकाग्रता' को योग कहा गया है.

पर योग अब योगा बन गया है और मूल दर्शन छोड़ कर व्यापार भी. चलिए छोड़िए हरी अनन्त हरी कथा अनन्ता. इस विषय पर फिर कभी बात होगी.

स्वस्थ शरीर और शांत मन के लिए योगासन और प्राणायाम के बाद थोड़ी देर शांत एकाग्र चित्त बैठना बड़ा फायदेमंद है. ख़ास कर के रिटायरमेंट के बाद. और अगर भोजन पर भी ध्यान रखा जाए तो डॉक्टर की जरूरत बहुत कम पड़ती है.

आम तौर पर हम लोग होली से दिवाली तक पार्क में दरी बिछाते थे. पर इस बार कोरोना के कनकौव्वे ने रुकावट डाल दी. और इस साल की थीम भी 'घर में योग' हो गई. लिहाजा अब दरियां घर में ही लग रही हैं. भारतीय योग संस्थान दिल्ली से 1996-97 में सीखी थी तब से जारी है. यात्रा में जाना हो तो भी दरियां साथ ही चलती हैं.

यक़ीनन फायदेमंद है सबको सीखना चाहिए. शरीर निरोगी रहता है और मन शांत. उमर के कारण आने वाले शारीरिक बदलाव रोके नहीं जा सकते पर योग द्वारा शरीर को स्वस्थ और मन को शांत कर सकते हैं.

इसलिए करो ना योग!

Sketches from life: घर में योग 2020

https://jogharshwardhan.blogspot.com/2020/06/2020.html

Sketches from life: घर में योग 2020

अगला लेख: Sketches from life: कान में



बहुत उपयोगी लेख है |

धन्यवाद अलोक सिन्हा

रेणु
21 जून 2020

बहुत सुंदर आदरणीय हर्ष जी | प्रेरक लेख लिखा आपने | इधर तो लोच डाउन में बेटी भी साथ देती है , पर योग का समय रेत की तरह हाथ से निकलता जाता है और वजन ने दिन दुनी रात चौगनी ठान रखी है | फिर भी देखती हूँ | पहले मेरी दिनचर्या में शुमार था , पर अब बहुत दिन हो गये |

करिये फिर शुरू करिये

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 जुलाई 2020
खैर समय गुजरा मन्नू जी चीफ मैनेजर बन गए और उन्हें मुम्बई भेज दिया गया. एक साल रह गया था रिटायर होने में और ऐसे में तो दिल्ली ही रखना चाहिए था पर मुम्बई भेज दिया. कमबख्त एच आर डी का दिमाग उलटा ही चलता है. खैर हो सकता है इसी बहाने करीना से मुलाकात हो जाए! मनोहर नरूला जी
05 जुलाई 2020
25 जून 2020
Y
कितना कमा सकते हैं योवो पर जीत कर
25 जून 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x