दो सांपों की कहानी हिंदी और इंग्लिश में

30 जून 2020   |  अबतक हिंदी न्यूज   (285 बार पढ़ा जा चुका है)


आज का प्रेरक प्रसंग

दो सांपों की कहानी


*एक बार एक राजा था जिसका नाम था देवशक्ति वह अपने बेटे से बहुत निराश था, जो बहुत कमजोर था। वह दिन व दिन दुबला और कमजोर होता जा रहा था। दूर के स्थानों से प्रसिद्ध चिकित्सक भी उसे ठीक नहीं कर पा रहे थे। क्योंकि उसके पेट में साँप था। उन्होंने सभी तरह के उपचारों की कोशिश की, लेकिन सभी व्यर्थ थे|युवा राजकुमार भी अपने पिता को दुःखी देखकर बहुत निराश था। और वह अपने जीवन के साथ तंग आ गया था एक रात, वह महल के बाहर आया और दूसरे राज्य में चला गया। उसने एक मंदिर में रहना शुरू कर दिया और दयालु लोगों ने जो कुछ भी उसे दान दिया, वह वही खा लेता था।इस नये देश पर एक राजा का शासन था, जिसकी दो जवान बेटियां थीं। वे अच्छे संस्कारों के साथ बड़ी हुईं थी। हर सुबह वे अपने पिता के आशीर्वाद के लिए अपने पिता के पैरों को प्रणाम करती थी|बेटियों में से एक ने कहा-“हे पिताजी, आपके आशीर्वाद से हमें दुनिया के सभी सुख प्राप्त हैं|"दूसरी बेटी ने कहा- “हे राजा, इंसान को सिर्फ अपने कार्यों का ही फल मिलता है।दूसरी बेटी की टिप्पणी से राजा को बहुत गुस्सा आया|एक दिन उसने अपने मंत्रियों को बुलाया और कहा- “वह उन फलों का आनंद उठाएं जो उसके कार्यों के लिए नियत हैं! इसे ले जाओ और इसका महल के बाहर किसी के भी साथ इसका विवाह कर दें, जो भी आपको महल के बाहर मिल जाए”*


*मंत्रियों ने ऐसा ही किया और जब उन्हें कोई नहीं मिला तो उन्होंने मंदिर में रह रहे युवा राजकुमार से उसका विवाह कर दिया।राजकुमारी एक धार्मिक लड़की थी, और वह अपने पति को भगवान के रूप में मानती थी वह बहुत खुश थी और अपनी शादी से संतुष्ट थी। उन्होंने देश के एक अलग हिस्से की यात्रा करने का निर्णय लिया, क्योंकि मंदिर में घर बनाना अनुचित था।रास्ते में, राजकुमार थक गया और एक पेड़ की छाया के नीचे आराम करने लगा क्योंकि वह हर दिन कमज़ोर हो रहा था और लंबी दूरी तक नहीं चल सकता था।राजकुमारी ने पास के बाजार से कुछ भोजन लाने का फैसला किया। जब वह लौट कर आई, तो उसने अपने पति को तेजी से सोया देखा और आस पास के एक बिल से उभरते सांप को देखा और उसने अपने पति के मुंह से उभरते हुए एक और सांप को देखा। वह छिप कर यह सब देखने लगी.एंथल के साँप ने दूसरे सांप से कहा-“तुम इस खूबसूरत राजकुमार को इतना दुःख क्यों दे रहे हो? इस तरह तुम खुद का जीवन खतरे में डाल रहे हो। अगर राजकुमार जीरा और सरसों का सूप पी लेगा। तो तुम निश्चित रूप से मरोगे!”राजकुमार के मुंह के सांप ने कहा-“तुम सोने की दो घड़ों की रक्षा क्यों करते हैं, जिसकी तुमको कोई ज़रूरत नहीं है? और अपने जीवन को भी जोखिम में डाल रहे हो। अगर किसी ने गर्म पानी और तेल को डाला, तो तुम निश्चित रूप से मर जाओगे। उनकी बातों को सुनने के बाद, वे अपने-अपने स्थानों के अंदर चले गए, लेकिन राजकुमारी ने उनके रहस्यों को जान लिया था।उसने उनकी बातों के अनुसार काम किया और जीरा और सरसों के सूप के साथ अपने पति को भोजन दिया। कुछ ही घंटों के भीतर, युवा राजकुमार ठीक होना शुरू हो गया और उसकी ताकत वापस आ गई। उसके बाद, उसने सांप के बिल में गर्म पानी और तेल डाला, और सोने के दो बर्तन खोदा जिसकी दूसरा सांप रक्षा कर रहा था। उसके बाद वह युवा राजकुमार ठीक हो गया और उनके पास दो बर्तन भर सोना भी हो गए| अब वे खुशी के साथ रहने लगे।*


शिक्षा:- इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि जब आपके दुश्मन झगड़ा करते हैं, तो तब आप विजेता हैं।


सदैव प्रसन्न रहिये।

जो प्राप्त है-पर्याप्त है।



Today's inspiring episode


Story of two snakes



* Once there was a king named Devashakti. He was very disappointed with his son, who was very weak. He was getting leaner and weaker day by day. Even famous doctors from far off places could not cure him. Because there was a snake in his stomach. He tried all sorts of remedies, but all was in vain. The young prince was also very disappointed to see his father grieving. And he was fed up with his life. One night, he came out of the palace and went to another kingdom. He started living in a temple and ate whatever the kind people donated to him. This new country was ruled by a king who had two young daughters. She grew up with good values. Every morning she used to bow to her father's feet for her father's blessings. One of the daughters said- "Father, with your blessings we have all the comforts of the world." The other daughter said- "O king, Man only gets the fruits of his actions. The second daughter's comment made the king very angry. One day he called his ministers and said- "Let him enjoy the fruits that are destined for his actions! Take it away." And marry it with anyone outside the palace, whichever you find outside the palace "*



The ministers did the same and when they did not find any, they married her to the young prince living in the temple. Rajkumari was a religious girl, and she considered her husband as God. She was very happy and married her Was satisfied with He decided to travel to a different part of the country, as it was inappropriate to build a house in the temple. On the way, the prince got tired and rested under the shade of a tree as he was getting weaker every day and not for long distances. Could walk. Rajkumari decided to bring some food from the nearby market. When she returned, she saw her husband fast asleep and saw a snake emerging from a nearby bill and she saw another snake emerging from her husband's mouth. She started seeing all this in secret. The snake of Anthal said to the other snake- “Why are you giving so much grief to this beautiful prince? In this way you are risking your own life. If the prince would drink cumin and mustard soup. Then you will surely die! "The snake of the prince's mouth said-" Why do you protect two gold pots, which you do not need? And you are risking your life too. If someone pours hot water and oil, you will surely die. After listening to their talk, they went inside their respective places, but the princess had learned their secrets. She acted according to his words and served food to her husband with cumin and mustard soup. Within a few hours, the young prince began to recover and his strength returned. After that, he poured hot water and oil into the snake's bill, and dug two vessels of gold which the other snake was protecting. After that the young prince was cured and he also had two pots full of gold. Now they started living happily.



Education: - This story teaches that when your enemies quarrel, then you are the winner.



Always be happy.


Which is achievable - enough.

अगला लेख: उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 जुलाई 2020
रात के 10 बजेथे। 18 साल की रज्जो अपनी साइकिल से खेतसे गुजरने वाले रास्ते से तेज-तेज गति में निकल रही थी। तभी धनिया वहां कुछ काम कररहा था, बोला “ अरे इतनी रात को क्या काम है तुझे ? क्या प्रेमी से मिलने जा रही है जो अंधेरे का वक्त चुना है तुने, कुछ डरहै कि नहीं तुझे, औरत ज
13 जुलाई 2020
28 जून 2020
फू
*प्रेरणादायक कहानी _फूटा_घड़ा बहुत समय पहले की बात है , किसी गाँव में एक किसान रहता था . वह रोज़ भोर में उठकर दूर झरनों से स्वच्छ पानी लेने जाया करता था . इस काम के लिए वह अपने साथ दो बड़े घड़े ले जाता था , जिन्हें वो डंडे में बाँध कर अपने कंधे पर
28 जून 2020
09 जुलाई 2020
ची
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को विस्तारवाद एवं बाजार दोनों चाहिए ?डॉ शोभा भारद्वाज राष्ट्रपति जिनपिंग की गिद्ध दृष्टि विश्व के बाजार पर हैं चीन आर्थिक दृष्टि से सम्पन्न देश बन चुका है चीनी सामानों से बाजार पटे हुए हैं कारण चीनी सामान सस्ता है क्योकि चीनी सरकार कारखानों को कच्चे माल पर सब्सिडरी देती ह
09 जुलाई 2020
29 जून 2020
अबतक हिंदी न्यूज़/प्रयागराजअपना दल( एस) के राष्टीय अध्यक्ष श्री मती अनुप्रिया पटेल जी के आदेशानुसार ,कार्यकारिणी सदस्य मा राजेश पटेल (बुलबुल)जी सभी कार्यकता व पदा अधिकारीयो को अवगत किया कि यश:कायी बोधिसत्व डॉ. सोनेलाल पटेल जी की जयंती 2 जुलाई को है। लाकडाउन के इस दौर में इसे कुछ नए ढंग से मनाने का प
29 जून 2020
28 जून 2020
उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ। आप सभी छात्र-छात्राओं को भारत का भविष्य निर्धारित करना है। आशा है आप अपने आगामी जीवन की सभी परीक्षाओं में अपना इसी प्रकार श्रेष्ठतम प्रदर्शन देगें। ‬‪जो छात्र इस वर्ष किसी कारणवश
28 जून 2020
28 जून 2020
माता दान सिंह इंटर कालेज मेजा प्रयागराज का परिणाम उत्कृष्ट रहा ........ विगत वर्षों की तरह इस वर्ष भी माता दान सिंह इंटर कालेज मेजा की परीक्षा परिणाम में उत्कृष्ट प्रदर्शन रहा जिसमें इंद्रभान सिंह प्रधानाचार्य जी ने विद्यालय की मेरिट सूची में विद्यालय की कक्षा 12 के छात्र व छात्राओ में पूजा कन्नौजि
28 जून 2020
28 जून 2020
उत्तर प्रदेश एक नजर में12 जनवरी 1950 से पहले उत्तर प्रदेश का पुराना नाम युनाइटेड प्रॉविंस था, आम बोलचाल की भाषा में यूपी भी लोग बोला करते थे ! यूपी आज भी बोला जाता है लेकिन उसका मतलब उत्तर प्रदेश होता है!1902 में उत्तर प्रदेश का नाम नार्थ वेस्ट प्रॉविन्स नाम को बदल कर यूनाइटेड प्रोविन्स ऑफ आगरा एण्ड
28 जून 2020
28 जून 2020
अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रजायगराज/मेजा/पट्टीनाथ राय गांव के प्रत्येक वर्ग के लोगों को जागरूक बनाना हमारी प्राथमिकता__ श्यामराज यादव अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी सिरसा मण्डलआज नेहरू युवा केंद्र प्रयागराज युवा खेल मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशन में मेजा के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक रविशंकर द्वारा निरंतर जन
28 जून 2020
28 जून 2020
नौ
आवश्कयता है अध्यापक/अध्यापिकाओं एवं कर्मचारियों की बेतन योग्यता के अनुसार योग्यता-B.Sc, M.Sc,B.Com,B.Ed, Graduate and post graduate .वेतन - ₹8000-₹15000 P/M1.माता दान सिंह इ. कालेज तरवाई मेजा प्रजायराज 2.गंगोत्री पब्लिक स्कूल रामनगर मेजा प्रयागराज 3.मानो
28 जून 2020
30 जून 2020
*यक़ीन करना सीखो..**शक तो सारी दुनिया**करती है...!* . *जिन्दगी जब देती है,* *तो एहसान नहीं करती* *और जब लेती है तो,* *लिहाज नहीं करती* *दुनिया में दो ‘पौधे’ ऐसे हैं* *जो कभी मुरझाते नहीं* *और* *अगर जो मुरझा गए तो* *उसक
30 जून 2020
15 जुलाई 2020
दिनेश शर्मा की सुबह सुबह की राम राम सब दोस्तो , बुजुर्गों बच्चों को । जो लोग वक़्त बेवक़्त हर रोज़ यहाँ वहाँ पूरे देश में जब चाहे मनमर्जी से लॉक डाउन लगाने और बढ़ाने की प्रस्तावना देते हैं वो सब सरकारी अमले के लोग है जिनकी पूरी पूरी तनख्वाहें हर महीने की एक तारीख को उनके खाते में पहुंच जाती है । जिन लोग
15 जुलाई 2020
30 जून 2020
अँ
आज का प्रेरक प्रसंग अँधेरा भगा देनासास ने बहू को अपने पास बुला कर कहा 'बहू ! मै ज़रुरी काम से पडोस में जा रही हूँ देख ,सूरज डूबते ही अंधेरा आ जाएगा, तू उसे बाहर से ही भगा देना।'सास चली गई ।कुछ समय पश्चात् सूर्य भी अस्ताचल में डूब गया। शनै: शनै: अंधकार छाने लगा ।बहू अपने सभी कार्य छोड़कर लाठी
30 जून 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
c
02 जुलाई 2020
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x