Haklane / Tutlana ka ilaj (हकलाने का इलाज)

01 अगस्त 2017   |  रोमिश ओमर   (220 बार पढ़ा जा चुका है)

आयुर्वेद के मुताबिक हकलाने की problem में ब्राह्मी तेल (Brahmi oil) के इस्तेमाल को बहुत हीं फायदेमंद बताया गया है।

1.ब्राह्मी तेल (Brahmi oil) को हलका गर्म कर के week में कम से कम दो बार 15 से 20 मिनट तक सर का मसाज करने से हकलाने की problem ख़त्म होती है।

2. अगर आपके बच्चो को हकलाने की problem है तो उन्हें regular (कम से कम 2 month तक) कम से कम एक आँवले का सेवन कराना चाहिए। हरा आँवला या फिर आँवले का powder दोनों हीं हकलाहट में फायदेमंद होता है। हर रोज सुबह सुबह एक चम्मच सूखे आँवले के powder को एक चम्मच गाय के घी के साथ लेने से हकलाहट कम होती है।

3. हकलाहट में बादाम (Almond) के सेवन करने से भी बहुत फायदा होता है। इसे इस्तेमाल करने का तरीका है :- रात को बादाम के 4 से 5 दाने को पानी में फूल के लिए छोड़ दे। सुबह उस बादाम को पानी से निकाल कर उस उसके छिल ले। फिर छिले हुए बादाम को पीस लें। फिर 30 g मक्खन के साथ पिसे हुए बादाम का सेवन करे। regular इसके सेवन करने से हकलाहट मिलती है।

4. मक्खन के साथ बादाम का सेवन करना तो फायदेमंद है हीं साथ हीं मक्खन के साथ काली मिर्च का भी सेवन करने से फायदा होता है। अगर आप हर रोज सुबह सुबह एक चम्मच मक्खन में एक चुटकी काली मिर्च (Black Pepper) मिला कर खाते है तो आपकी हकलाने की problem दूर हो जाएगी।

5. अगर आप बचपन से हीं छुआरों का सेवन करते है तो आपकी आवाज़ साफ़ हो जाएगी साथ हीं शब्दों का उच्चारण भी सही तरीके से कर सकेंगे। छुआरे का सेवन करने से हकलाहट की समस्या भी दूर हो जाती है। रोजाना रात को सोने से पहले एक या दो छुआरा खा कर उसके बाद कम से कम 2 घंटों तक पानी न पीयें। लगभग 10 से 15 दिनों तक ऐसा करने से आपके आवाज़ को आराम मिलेगा। साथ हीं साथ हकलाना भी ख़त्म हो जायेगा।

6. मिश्री भी हकलाहट को दूर करने में काम आती है। अगर आप प्रतिदिन बादाम के 10 दाने ,काली मिर्च के 10 दाने और मिश्री के कुछ दाने को एक साथ पीस कर लगभग दस दिन तक सेवन करेंगे तो आपकी हकलाहट दूर हो जाएगी।

हकलाने या तुतलाने की समस्या से अधिक जानकारी के लिए click करें ..

अगला लेख: Azaad Bharat: 4 साल से बापू आशारामजी को बेल नही मिलने के पीछे राजनैतिक दलों का हाथ: माँ चेतनानंद



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 जुलाई 2017
हिन्दुओ ने मूर्खता की हद ही कर दी है कौन साईं, इसका असली नाम तक नहीं जानते पर मूर्खता में जैसे हिन्दुओ ने पीएचडी ही किया हुआ है ऐसे ही नहीं हिन्दुओ की ये स्तिथि है, की बहुसंख्यक होते हुए भी मार खाते रहते है चाँद मिया पहले तो बन गया साईं, फिर साईं बाबा हो गया पीर ही था, फि
30 जुलाई 2017
16 अगस्त 2017
सबसे पहले तो हम देश को गुलामी से आजाद कराने वाले क्रान्तिकारि- स्वतन्त्रता आन्दोलन में कई संगठनो ने महत्वपूर्ण योगदान दिया उन्हीं में से एक अमर नाम 'आर्यसमाज' का भी रहा हैं |आर्यसमाज के प्रवर्तक *स्वामी दयानन्द सरस्वती ने 1885 मे अमर ग्रंथ सत्यार्थ प्रकाश मे स्वदेशी राज्य का उदघोष करते हुए कहा...*"
16 अगस्त 2017
19 जुलाई 2017
दोस्तों स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए हमें कई बातो का ध्यान रखना पड़ता है अच्छी सेहत के लिए कौनसी चीज़ किस समय खाई जाये और कौनसी चीज़ कब ना खाई जाए इसे लेकर ख़ास सतर्क रहना पड़ता है कई वस्तुएं ऐसी होती है जिन्हें सुबह-सुबह खाली पेट खाने से शरीर पर बुरा असर पड़ता है कुछ खाद्य पदार्थो में एसिड की मात्रा अ
19 जुलाई 2017
16 अगस्त 2017
जन गण मन गुलामी का गीत जो पहली बार सत्र 1911 में अंग्रेजो के राजा जॉर्ज पंचम के सम्मान में गाया गया, जिसे अंग्रेजो के चाटुकार रविन्द्र नाथ टैगोर ने लिखा । क्या आपको इस गीत के शब्दों का मतलब पता है ? नहीं ना , तो सच्चाई जानने के लिए इस वीडियो को अवश्य देखें और अगली बा
16 अगस्त 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
16 अगस्त 2017
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x