से सम्बंधित लेख निम्नलिखित है :-

बनकर रह जाएगा इतिहास

बनकररह जाएगा इतिहासकोरोना के आतंक से आज चारों ओर भय का वातावरण है... जोस्वाभाविक ही है... क्योंकि हर दिन केवल कष्टदायी समाचार ही प्राप्त हो रहे हैं...हालाँकि बहुत से लोग ठीक भी हो रहे हैं, लेकिन जब उन परिवारों की ओर देखते हैंजिन्होंने अपने परिजनों या परिचितों मित्रों को खोया है, तब वास्तव में हर किस



tabib khan riya lovery name

🧒🏻 छोटे थे तो सब नाम से बुलाते थे, बड़े हुए तो बस काम से बुलाते है 😏…



तृण धरि ओट कहती वैदेही

तृण धरी ओट कहती वैदेही डॉ शोभा भारद्वाज कोरोना काल में सभी भयभीत हैं ऐसे में संकट मोचन हनुमान ही सहारा हैं .रावण जगा उसने प्रभात के सूर्य को अपनी लाल आँखों से देखा सबसे पहले कैद में रखी गयी सीता का रुख किया उसके पीछे उसकी रानियाँ उंघती हुई आ रही थी , बगल में मन्दोदरी हीरों से जड़ित सोने के पात्र में



tabib khan riya lovery name

🧒🏻 छोटे थे तो सब नाम से बुलाते थे, बड़े हुए तो बस काम से बुलाते है 😏…



tabib khan riya lovery name

🧒🏻 छोटे थे तो सब नाम से बुलाते थे, बड़े हुए तो बस काम से बुलाते है 😏…



नारी तू बस नारी नहीं

नारी तू बस नारी नहीं, सृष्टि का आधार हो तुम।जीवनदाता भाग्यविधाता, जय हो-जय हो नारी तेरी;तेरे विविध रूप और सत्कार हो तुम।।-सर्वेश कुमार मारुत



अल्फाज

मौहब्बत भी बङी अजीब है जन्नत के सपने जहनुम्म मै ही दिखा देती है



कैनेडी रॉकर

A Kennedy Rocker or rocking chair is type of chair with two curved bands (also known as rockers) attached to the bottom of the legs, connecting the legs on each side to each other. The rockers contact the floor at only two points, giving the occupant the ability to rock back and forth by shifting th



Top 5 Demandable Escort Services From Hottest Ahmedabad Escorts

Few people are lucky to have soulmates who are a blend of beauty and skills and provide them the maximum thrilling erotic pleasure at most of the times. With the increasing day-to-day life’s challenges and responsibilities, the initial fire of passion and romance dies down and couples merely find th



लक्ष्य संधान

🎯🎯लक्ष्य संधान🎯🎯🏹सतयुग फिर से आएगा🏹आ चुका है वह परमवीरइस पुनीत धरा-धाम पर।अस्त्र-शस्त्र से सुसज्जित,पाया है अभय का वर।।देश-राज्य-सागर कीसीमाओं को लाँध,हुँकृति करता देखोवह चला आ रहा है।दिग्-दिगंत में आच्छादिततमसा का अँधकार,अस्तित्व डोला- भयव्याप्त भूमण्डल काँप रहा है।।लक्ष्य भेदन अब नहीं चुकेग



अब देश का मौसम तुम्हें मैं क्या बताऊँ

गीत अब देश का मौसम तुम्हें मैं क्या बताऊँ , जब हरदिशा गहरे तिमिर से घिर रही है | भोर तो आती यहाँ हर रोज लेकिन , फूल कोई भी तनिक हँसता नहीं है | रुकते नहीं एक पल को अश्रु



कोरोना

कोरोना वहां इठला कर खड़ा है,और यहाँ धैर्य, साहस और विश्वास की मंत्रणा चल रही है। धैर्य बोला, थक गया मैं इस से लड़ लड़ के,वापस आ जाता है, ये दुगुनी शक्ति से। धैर्य की बात सुनकर, साहस भी धीमे स्वर से बोला,दुर्बल हो गया हूँ मैं भी, इसकी विविध शक्तियाँ देख कर,इतना धैर्य रख र



मानवता है चिन्तातुर

मानवता हैचिन्तातुर बनी बैठी यहाँआज जीवन से सरल है मृत्यु बन बैठी यहाँ और मानवता है चिन्तातुर बनी बैठी यहाँ ||भय के अनगिन बाज उसके पास हैं मंडरा रहे और दुःख के व्याघ्र उसके पास गर्जन कर रहे ||इनसे बचने को नहीं कोई राह मिलती है यहाँ |और मानवता है चिन्तातुर बनी बैठी यहाँ ||श्वासऔर प्रश्वास पर है आज पहर



बारिस

टिपटिपाती है बारिस, मानों मेघों में हों छेंद।गड़गड़ाती बिजलियाँ, ध्वनि बहुत है तेज़।तीव्र कभी-कभी हौले, जो बड़ा लगाये जोर।कभी इधर-कभी उधर, मानों लगी हो डोर।मेघ वारि भरकर लाए, और दिया निचोड़।और लाओ और लाओ, ऐसी लगी है होड़।।-सर्वेश कुमार मारुत



हर अवस्था हेतुं तैयारी

हर अवस्था हेतु तैयारीअपने जीवनकाल में हर मनुष्य को सुख-दुख, लाभ-हानि, जय-पराजय आदि द्वन्द्वों को सहन करना ही पड़ता है। ये सब चक्र के अरों की भाँति ऊपर-नीचे होती रहते हैं। इस क्रम को मनीषी 'चक्रनेमि क्रमेण' कहते हैं -नीचैरुपरि गच्छति दशा चक्रनेमिक्रमेण।अर्थात् जैसे पहिए के अरे ऊपर नीचे घूमते रहते हैं,


भगवती सीता की खोज ,लंका में संकट मोचन हनुमान का प्रवेश

भगवती सीता की खोज , लंका में संकट मोचक हनुमान का प्रवेश डॉ शोभा भारद्वाज विशाल सागर को पार कर श्री हनुमान लंका पहुंचे लेकिन नगर में प्रवेश कैसे करें ?वह एक ऊँचे घने वृक्ष की छाया में घुटनों के बल बैठे थे उन्होंने हाथ जोड़ कर कहा मेरा श्री राम पर अटूट विश्वास है वही मुझे मार्ग दिखलायेंगे .सामने चारो



योग हीं प्रेम है

💮💮❤️योग हीं प्रेम है❤️💮💮प्रेम खुद से करो,खुद संभल कर जग को बतायेगा।मन मंदीर में बैठे प्रभु सेप्रेम योग से हीं कर पायेगा।।अजपाजप सर्वश्रेष्ठ,हर स्वास में हरिभाव आयेगा।स्वास की गति ठीक करस्वर योग समझ पायेगा।।प्रेम की परिभाषाशब्दकोश में आज खोजें।प्रेम का जीवन सेतात्पर्य आज तनिक सोचें।।जीवन की अंति



कोविड - 19

चारों ओर से आती हुई एम्बुलेंस की धुँधली आवाज़ें भी,हर बार कुछ क्षण के लिए ह्रदय की धड़कने बढ़ा जाती है,मष्तिष्क किसी तरह ह्रदय को संभालता है,और ह्रदय फिर फेफड़ो की चिंता में डगमगाता है,ऑक्सीमीटर में ऑक्सीजन स्तर जांचने के बाद ही,सुकून की सा



कम्मो

बात पिछले बरस की है... इसीकोरोना के चलते देश भर में लॉकडाउन घोषित हो गया था... हर कोई जैसे अपने अपने घरोंमें कैद होकर रह गया था... ऐसे में प्रवासी मजदूर – जो रोज़ कुआँ खोदकर पानी पीतेहैं – जिन्हें आम भाषा में “दिहाड़ी मजदूर” कहा जाता है - दिल्ली में या और भी जिनशहरों में थे उन सभी को चिन्ता सतानी स्वा



सदा के लिए पृथ्वी पर रहना

सदा के लिए पृथ्वी पर रहनासृष्टि की सर्वश्रेष्ठ रचना मनुष्य इस संसार में आने के उपरान्त सोचता है कि वह सदा के लिए यहाँ रहेगा। उसकी सत्ता को कोई भी चुनौती नहीं दे सकता। यदि कोई ऐसा दुस्साहस करने की चेष्टा करता है तो उसे बरबाद करने में वह अपनी ओर से कोई कसर नहीं रखना चाहता।        वह अपने अन्तस में उठन


आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x