से सम्बंधित लेख निम्नलिखित है :-

गीत (आज बसंत की छाई लाली)

गीत (आज बसंत की छाई लाली)आज बसंत की छायी लाली,बागों में छायी खुशियाली, आज बसंत की छायी लाली॥वृक्ष वृक्ष में आज एक नूतन है आभा आयी।बीत गयी पतझड़ की उनकी वह दुखभरी रुलायी।आज खुशी में झूम झूम मुसकाती डाली डाली।आज बसंत की छायी लाली॥1॥इस बसंतने किये प्रदान हैं उनको नूतन पल्लव।चहल पहल में बदल गया अब उनका ज



जीवन

अभी दो तीन पूर्व हमारी एक मित्र के देवर जी का स्वर्गवास हो गया... असमय...शायद कोरोना के कारण... सोचने को विवश हो गए कि एक महामारी ने सभी को हरा दिया...ऐसे में जीवन को क्या समझें...? हम सभी जानते हैं जीवन मरणशील है... जो जन्माहै... एक न एक दिन उसे जाना ही होगा... इसीलिए जीवन सत्य भी है और असत्य भी...



जीवन भाव भी अभाव भी

अभी दो तीन पूर्व हमारी एक मित्र के देवर जी का स्वर्गवास हो गया... असमय...शायद कोरोना के कारण... सोचने को विवश हो गए कि एक महामारी ने सभी को हरा दिया...ऐसे में जीवन को क्या समझें...? हम सभी जानते हैं जीवन मरणशील है... जो जन्माहै... एक न एक दिन उसे जाना ही होगा... इसीलिए जीवन सत्य भी है और असत्य भी...



मिक्ष

प्रफुल्ल नागडा (जैन):जिस प्रकार बेटा अपने बाप से बड़ा नहीं हो सकता ठिक उसी प्रकार कोई भी मजहब सनातन धर्म से बड़ा नहीं हो सकता जय जय श्री राम 🙏*राज्यसभा में हंगामा करने वाले आम आदमी पार्टी और टीएमसी के सांसदों पर खासकर संजयसिंह और डेरेक ओ'ब्रायन पर सांसदपद के लिए आजीवन प्रतिबंध लग जाना चाहिए*सदन को


किसान

मोदी सरकार द्वारा किसानों की हालत सुधारने के लिये तीन अध्यादेश लाएं गये हैं,जिसमे निम्नलिखित सुधार किए गए हैं...👉1. अब किसान मंडी के बाहर भी अपनी फसल बेच सकता है और मंडी के अंदर भी ।👉2. किसान का सामान कोई भी व्यक्ति संस्था खरीद सकती है जिसके पास पैन कार्ड हो । 👉3. अगर फसल मंडी के बाहर बिकती है तो


महामारी

एक मित्र की वाल पर एक वामिनी विषकन्या कह रही थी कि आज की महामारी किरौना से धर्म तो हार गया। धर्म का औचित्य ही क्या ??हर छिद्र से कुंठित मोहतरमा को कौन बताए कि महामारी किरौना वायरस के आगे धर्म नही बल्कि आधुनिक विज्ञान (अधर्म) हारा है... धर्म की शरण मे तो आप गए ही नही.... यू भी धर्म आपकी रक्षा क्यों क


किसान

*मंडी में किसान अपना माल फैला कर एक कोने में हाथ बांध कर मज़दूरों की तरह बैठ जाता है..!!*और बार बार मंडी के दलाल से विनती करता रहता है कि, साहब मेरे माल की भी बोली लगवा दो..!!दलाल:- रुक जा , देख नही रहा, कितने लोग है लाइन में.?*किसान:चुपचाप एक कोने में बैठा, थोड़ी देर में फिर दलाल के पास जकर बोलता है


Derek O'Brien

TMC का MP Derek O'Brien पाकिस्तान का रेफ़्यूजी है। स्वयं इसने Indian Express में लिखा था कि पेशावर से इसकी पूरी कम्यूनिटी पिछले सत्तर साल में समाप्त हो गयी है। महिलाये कन्वर्ट होकर मुसलमान हो गयी, व पुरुष शरणरर्थी होकर कनाडा चले गए। महिलायें क्यूँ "कन्वर्ट" होकर मुसलमान हो जाती है आप जानते ही है।De


संस्कृति

***आज आपकी भाषा, संस्कृति धीरे-२ लुप्त होती जा रही है और आप हैं कि कुछ भी नहीं कर रहे. आप पूछेंगे, "क्या कर सकता हूँ मैं? मैं अकेला कर ही क्या सकता हूँ?"तो मेरे मित्रों, मेरे बच्चों, मेरे बुजुर्गों ! आज के बाद किसी खान कि फिल्म सिनेमा हाल पर दिखना बंद. जिस CD के किसी एक भी गाने में हिन्दू को अल्लाह


चींटी :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सृष्टि में परमात्मा अनेक जीवों की रचना की है , छोटे से छोटे एवं बड़े से बड़े जीवो की रचना करके परमात्मा ने इस सुंदर सृष्टि को सजाया है | परमात्मा की कोई रचना व्यर्थ नहीं की जा सकती है | कभी कभी मनुष्य को यह लगता है कि परमात्मा ने आखिर इतने जीवों की रचना क्यों की | इस सृष्टि में जितने भी जीव हैं अप



तनाव से मुक्ति

तनाव से मुक्तितनाव मनुष्य के जीवन को बहुत प्रभावित करता है। यह उसके तन और मन को अपने कब्जे में कर लेता है। जब यह बहुत अधिक बढ़ जाता है, तो मनुष्य अवसाद में आ जाता है। तब मनुष्य आत्महत्या जैसे आत्मघाती कदम उठा लेता है। यह सच है कि नई पीढ़ी पर इसका जोरदार हमला हो चुका है। इसका कारण उनके कार्यक्षेत्र मे


Lifafe Song Lyrics - Sippy Gill

हो हवा नाल उड़न लिफाफे बलिये गिल जन्मा तो तेरा कदे तेरा डोलदा नही अणपुने चह नाम गबरू दा दुनिया ते ओये आंख दस दींदी मुँहे कदे बोलदा नही Full Song Lyrics Click Here



Lifafe Song Lyrics - Sippy Gill

हो हवा नाल उड़न लिफाफे बलिये गिल जन्मा तो तेरा कदे तेरा डोलदा नही अणपुने चह नाम गबरू दा दुनिया ते ओये आंख दस दींदी मुँहे कदे बोलदा नही Full Song Lyrics Click Here



RESPECT Song Lyrics Hindi - Sippy Gill

ओये बंदा तिलकेया ता बच जांदा साली जीभ तलकी ना हड़ बहोत टडो़न्दी अ होये ये तो वक्त Decide करूँ गिनती शेरा या भेड़ू चह आउंदी अ Full Song Lyrics Click Here



श्रद्धा और तर्क

              *श्रद्धया विन्दते वसु* आचार्य विष्णुमित्र वेदार्थी ९४१२११७९६५     श्रद्धा व तर्क परस्पर विरोधी नहीं अपितु  अत्यन्त सहायक हैं ।श्रद्धा बहिन है तो तर्क मानो भाई है। संक्षेप में कहा जाये तो श्रद्धा होने पर ही हम अगला तर्क ठीक से कर सकते हैं और तर्क द्वारा श्रद्धा स्थापित हो जाती है।श्रद्ध


राज्यसभा

राज्यसभा में भाजपा बहुमत ने ना होने के बावजूद कृषि बिल पासविपक्षी पार्टी राज्य सभा मे मजबूत थी तो आखिर वोट कर के बिल को गिरा क्यों नही दिए !! ये तोड़ फोड और हंगामे की जरूरत क्यों पड़ी ?ये सब नौटंकी केवल समर्थको को गुमराह करने के लिए किया गया ताकि दिखा सके कि हम किसानों के लिए कितना हमदर्द है । लेकिन ज


विधेयक

अभी इसी सत्र में सरकार ने एक विधेयक और लाना चाहिए,,जिसमे यह व्यवस्था दी जाए,,,, पहली यह कि सन 1950 के बाद जितने भी धार्मिक स्थल वो किसी भी समुदाय के हो यदि सरकारी जमीनों पर बिना परमिशन के बने हो उन्हें ध्वस्त किया जाए।दूसरीयह सुनिश्चित किया जाय कि यदि दो अलग अलग समुदाय के धार्मिक स्थल एक ही क्षेत्र


वेब सीरीज़

प्रफुल्ल नागडा (जैन):प्रफुल्ल नागडा (जैन):*🚩नेटफ्लिक्स बन चुका है एंटी हिन्दू, वेब सीरीज में हिंदू बच्ची से पढ़वाई नमाज।**🚩सीरियलों, सिनेमा, मीडिया आदि में तो हिंदू विरोधी कटेंट परोसा जाता था लेकिन अब वेब सीरीज़ द्वारा भी हिंदू विरोधी कंटेट परोसे जा रहे हैं, काफी फिल्में ऐसे आई कि हिंदुओं का अपमान क


3 in 1

प्रफुल्ल नागडा (जैन):कांग्रेस को लेकर इतना कन्फ्यूजन है की जनता समझ ही नहीं पाती;की कांग्रेस का सरकार के खिलाफ कौन सा विरोध सही है कौन सा गलत।370,राम मंदिर,CAA,NRC PCB,ट्रीपल तलाक का इसने विरोध कियाअब कृषि बिल का इससे सपष्ट हो गया कि कांग्रेस जिस बिल का विरोध करती है मतलब सरकार की दिशा सही है बिल्कु


अध्यादेश

तीन अध्यादेश है, अब खुद निर्णय ले कि लाभदायक है या नुकसान दायक1. प्राइवेट मंडी, - सरकारी मंडियों में किसानों के द्वारा चुने गए प्रतिनिधि होते है, और सरकार द्वारा नियुक्त कुछ अधिकारी, वही मंडी में हमाल , नीलामी और व्यापारी व्यवस्था देखते है, लेकिन कुछ जगहों पर इनकी आपसी साठगांठ और गठजोड़ से किसान की न


आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x