भैया तुम हो अनमोल !

25 अगस्त 2018   |  रेणु   (48 बार पढ़ा जा चुका है)

  भैया तुम हो अनमोल  ! - शब्द (shabd.in)


जग में हर वस्तु का मोल -

पर भैया तुम हो अनमोल !


दर-दर पर शीश झुका करके -

मांगा था तुझे विधाता से -

तुम सा कहाँ कोई स्नेही- सखा मेरा -

मेरा गाँव तो है तेरे दम से ;

सुख- दुःख साझा कर लूं अपना

रख दूं तेरे आगे मन खोल !!


बचपन में जब तुमने गिर -गिर -

ये ऊँगली पकड चलना सीखा ,

नीलगगन का चंदा भी -

था तेरे आगे बड़ा फीका ;

धरती पर मानो देव उतरे -

सुनकर तेरे तुतलाते बोल !!


बाबुल की बैठक की तुम शोभा -

तुमसे माँ का उजला अंगना ;

भाभी की मांग सजी तुमसे -

हो तुम उसकी प्रीत का गहना ;

तुमसे बढ़ ना कोई धन मेरा -

चाहे जग दे तराजू तोल !!


लेकर राखी के दो तार -

आऊँ स्नेह का पर्व मनाने ,

घूमूं बचपन की गलियों में -

पीहर देखूं तेरे बहाने ;

बहना मांगे प्यार तेरा बस -

ना मांगे राखी का मोल !!

जग में हर वस्तु का मोल -

पर भैया तुम हो अनमोल !!!!!!!!!!!

====================================================


अगला लेख: सावन की सुहानी यादें -- लेख -



हृदय लुभावन काव्य चितन रेणु जी ,,,!,,, यह सत्य है कि भाई बहन जैसा प्यार दुलार वह बचपन की तकरार एवं माप मार होने के बाद भी मिलने वाला स्नेह संसार के किसी भी रिश्ते में मिलना कठिन ही नहीं बल्कि असम्भव भी है ,,,,,,,,,, हृदय तल से प्रसंशनीय

रेणु
11 सितम्बर 2018

आदरनीय आचार्य जी -- आप जैसे सुधि पाठक रचना को सार्थक कर देतें हैं | आभार नहीं बस सादर नमन |

Shashi Gupta
30 अगस्त 2018

स्नेह युक्त सुंदर रचना रेणु दी

रेणु
30 अगस्त 2018

आभार शशी भाई

Vikas Khandelwal
29 अगस्त 2018

वाह , शानदार

रेणु
30 अगस्त 2018

धन्यवाद विकास जी

वाह , मन से लिखी रचना , शुभकामनाएं

रेणु
27 अगस्त 2018

आभार प्रिय प्रियंका

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 अगस्त 2018
वो हसते रहे मैं रोता रहा प्यार मे उनका जुल्म बढ़ता रहा नफरत कि धुप से जला ये दिल उनकी जुल्फों का साया ढूंढता रहा इतना तन्हा हु मै आजकल खाली वक़्त में उनको याद करता रहा
29 अगस्त 2018
07 सितम्बर 2018
जब उनको मेरी जरुरत होती है वो दिखा देते है की प्यार करते है जरुरत खत्म होते हि वो मेरे दिल को तोड़ देते है कभी इतना करीब रखते है कि सब दूरियाँ मिटा देते है जरुरत खत
07 सितम्बर 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x