"दोहावली"

13 अक्तूबर 2018   |  महातम मिश्रा   (40 बार पढ़ा जा चुका है)

"विधा- दोहा"


बादल है आकाश में, लेकर अपना ढंग

इंद्रधनुष की नभ छटा, चर्चित सातों रंग।।-1


दाँतों में विष भर चला, काला नाग भुजंग।

नाम सुने तो डर गए, सर्प मुलायम अंग।।-2


जीवन की अपनी व्यथा, हर जीवों के संग।

इक दूजे को हम सभी, क्यों करते हैं तंग।।-3


सरेआम होता गया, नियम नगर का भंग।

कभी टूटते हैं महल, कभी झोपड़ी तंग।।-4


बड़े -बड़े फैशन गए, लगा-लगा कर रंग।

झूमर झुमका झाँझरी, बदला प्रचलन ढंग।।-5


मोहन की गोकुल गली, औ मथुरा का ढंग।

मधुवन की मुरली मधुर, खिला सवलिया रंग।।-6


राम लखन दोनों चले, सीता माता संग।

वन मंगलमय हो गया, खिले फूल बहुरंग।।-7


गंगा जल निर्मल परम, यमुना नीला रंग।

सरयू जी का धवल पट, नमन शारदा ढंग।।-8


कश्मीरी झीलें भली, क्यों फूलों में जंग।

मगर फूल बिखरे हुए, क्योंकर बिगड़ा ढंग।।-9


चाहत की बौछार में, मानव मन बेढंग।

सब कुछ भूला जा रहा, चढ़ा अनोखा रंग।।-10


बाढ़ गयी बरखा गयी, आयी ऋतु बहुरंग।

लिए दिवाली आ रही, रंग स्वच्छता ढंग।।-11


महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: चपैय्या छंद, हे माँ जग जननी, तुम्हरी अवनी, नाम रूप जगदंबा। शक्ति पीठ बावन, अतिशय पावन, नमन करूँ माँ अंबा।।



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 अक्तूबर 2018
"
"कुंडलिनी"रंग मंच का दृश्य यह, मन को लेता मोह।झंडे के भल रूप से, किसका हुआ बिछोह।।किसका हुआ बिछोह, सुशोभित सुंदर ढंग।कह गौतम कविराय, अतुलित है देशी रंग।।-1झलक रहा झंडा सबल, भारत का बहुमान।मंच सुशोभित हो रहा, हुआ तिरंगा गान।।हुआ तिरंगा गान, बजी वीणा संग-संग।शारदीय नवरात, महिमा माता नवरंग।।-2महातम मिश
13 अक्तूबर 2018
13 अक्तूबर 2018
"
छंद शक्ति , (मापनीयुक्त मात्रिक) वर्णिक मापनी, 122 122 122 12, लगाला लगाला लगाला लगा"शक्ति छंद"पुरानी दवा है दिखाती असर। चढ़ाती नशा है पिलाके ज़हर।।कभी प्यार की तो कभी बेख़बर।बुलाती बहारें लड़ाती नज़र॥-1 निशाने लगाती नचाती नज़र। बहाने बनाती घूमाती शहर।। बहुत प्यार इसको मिला है मगरनशे को नशा भर पिलाती उम
13 अक्तूबर 2018
13 अक्तूबर 2018
झि
"झिनकू भैया के प्रपंची आँसू" एक आँख से विनाशक बाढ़ व दूसरी आँख से फसलों को सुखाने वाला हृदय विदारक सूखा देखकर झिनकू भैया की आँखे पसीजने लगी जो चौतरफा दृश्य परिवर्तन के तांडव को देखकर छल-छल बहने की आदी तो हो ही गई है, अब तो उसे जीना और पीना भी है। बड़े ही भावुक और चिंतनशील आदमी हैं झिनकू भैया, जब धारा
13 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x