"दोहावली"

21 अक्तूबर 2018   |  महातम मिश्रा   (37 बार पढ़ा जा चुका है)

"दोहावली"


गली छोड़ कर क्यूँ गए, ओ मेरे मन मीत

कोयल अब गाती नहीं, सुबह सुरीली गीत।।-1


दूर जा रहें हैं सभी, जैसे जूनी रीत।

गाँव छोड़ कर बस रहे, शहर अनोखी प्रीत।।-2


सुना रहे हैं अब सभी, अपने मन की गीत।

मानों ओझल हो गई, लोक प्रीत संगीत।।-3


बूढ़ी दादी की कथा, अरु चौपाली हीत।

शंकित लगती चाल है, दम्भित लगते मीत।।-4


फैशन में सब कर रहे, अपने घर को तीत।

वरना मीठी ही लगे, मैना मुँह संगीत।।-5


क्यों कोई आता नहीं, दोहा करने मीत।

भला अकेला क्या करूँ, किसे सुनाऊँ गीत।।-6


मान और सम्मान सब, दिया तुम्हें मनमीत।

फिर भी तुम आते नहीं, मिलकर गाने गीत।।-7


सुंदर-सुंदर शब्द हैं, सुंदर दोहा गीत।

दे दो अपना प्यार तो, बन जाए संगीत।।-8


बहुत सुहानी शाम है, बहुत पुरानी रीत।

मिलकर गाते हैं सभी, कीर्तन प्रभु संगीत।।-9


फागुन के प्रिय माह में, सुनी फागुनी गीत।

रंग भंग अरु ताल में, लाल रंग संगीत।।-10


कलम कबीरा धन्य है, लिख्खे बात पुनीत।।

राह दिखाती आज भी, मनमोहक संगीत।।-11


महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: "गीतिका" याद कर सब पुकार करते हैं जान कर कह दुलार करते है



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 अक्तूबर 2018
"
छंद शक्ति , (मापनीयुक्त मात्रिक) वर्णिक मापनी, 122 122 122 12, लगाला लगाला लगाला लगा"शक्ति छंद"पुरानी दवा है दिखाती असर। चढ़ाती नशा है पिलाके ज़हर।।कभी प्यार की तो कभी बेख़बर।बुलाती बहारें लड़ाती नज़र॥-1 निशाने लगाती नचाती नज़र। बहाने बनाती घूमाती शहर।। बहुत प्यार इसको मिला है मगरनशे को नशा भर पिलाती उम
13 अक्तूबर 2018
13 अक्तूबर 2018
"
"मुक्तक" कितना मुश्किल कितना निश्छल, होता बचपन गैर बिना।जीवन होता पावन मंदिर, मूरत सगपन बैर बिना।किसकी धरती किसका बादल, बरसाते नभ उत्पात लिए-बच्चों की हर अदा निराली, लड़ते- भिड़ते खैर बिना।।-1प्रत्येक दीवारें परिचित हैं, इनकी पहचान निराली।जग की अंजानी गलियारी, है सूरत भोली-भाली।हँसती रहती महफ़िल इनकी,
13 अक्तूबर 2018
30 अक्तूबर 2018
मापनी, 2122 1212 22/112, समान्त- आर, पदांत- करते हैं"गीतिका" याद कर सब पुकार करते हैंजान कर कह दुलार करते है देखकर याद फ़िकर को आयीदूर रहकर फुहार करते है ।।गैर होकर दरद दिया होगा ख़ास बनकर सवार करते हैं।।मानते भी रहे जिगर अपनाधैर्य निस्बत निहार करते है।।लौट आने लगी हँसी मुँहपरमौन महफ़िल शुमार करते हैं।
30 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
"
13 अक्तूबर 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x