गीत चतुर्वेदी की कवितायेँ - काया - Kaya - Hindi poem by Geet Chaturvedi

31 अक्तूबर 2018   |  प्राची सिंह   (119 बार पढ़ा जा चुका है)

तुम इतनी देर तक घूरते रह अँधेरे को कि

तुम्हारी पुतलियों का रंग काला हो गया

किताबों को ओढ़ा इस तरह कि

शरीर कागज़ हो गया

कहते रहे मौत आये तो इस तरह

जैसे पानी को आती है

वो बदल जाता है भांप में

आती है पेड़ को तो दरवाज़ा बन जाता है

जैसे आती है आग को वह राख बन जाती है

तुम गाय का थन बन जाना

दूध बनकर बरसना

भांप बनकर चलाना बड़े-बड़े इंजन

भात पकाना

जिस रस्ते को हमेशा बंद रहने का शाप मिला

उसपर दरवाज़ा बनकर खुलना

राख से मांजना

बीमार माँ की पलंग के नीचे रखे बासन

तुम एक तीली जलाना उसे देर तक घूरना

अगला लेख: हिंदी कवि ऋचा राय की सर्वश्रेष्ठ हिंदी कवितायेँ - Richa Rai poems in Hindi



उदय पूना
03 दिसम्बर 2018

अंधेरे se उजाले की ओर,

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
18 अक्तूबर 2018
पोस्ट ऑफिस में नया खाता खुलवाने पर ग्राहकों को सरकार की तरफ से पांच लाख रुपये दिया जाएगा। इसके साथ ही लड़की की शादी के समय भी परिवार की आर्थिक मदद की जाएगी। जैसे ही इस बात की खबर फैली उसके बाद ही पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाने के लिए हजारों लोग जमा हो गए। बाद में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए मौके पर प
18 अक्तूबर 2018
17 अक्तूबर 2018
मुठभेड़ के दौरान सीनियर इंस्पेक्टर मनोज कुमार का पिस्तौल जाम हो गया. तो वो मुंह से ही ठांय-ठांय की आवाज निकालने लगे. SP ने उन्हें इनाम दिए जाने की सिफारिश की है. ये उसी ठांय-ठांय के वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट है.ठांय-ठांय वाला वीडियो देखा था? उत्तर प्रदेश के संभल में पुलि
17 अक्तूबर 2018
31 अक्तूबर 2018
लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल स्वतंत्र भारत के पहले गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री थे. आज़ादी से पहले और आज़ादी के बाद देश के लिए अहम योगदान देने वाले लौहपुरुष पटेल की 143वीं जयंती के मौक़े पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उनकी 182 मीटर ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया. ज
31 अक्तूबर 2018
15 नवम्बर 2018
बादल ने पूछा धरती से तुंम इतनी सहनशील कैसे रहती होमें बदली बरसा दूँ तो तुममिटटी की सुगंध बिखेर देती होझूम झूम कर बरसूं तो जल समेट लेती होबरसा दूँ ओले तो दर्द सहकर भी कुछ नही कहती होधरती मुस्काई, बोली तुंम भी पिता की तरहबच्चों के
15 नवम्बर 2018
31 अक्तूबर 2018
तू ईश्वर की कलाकारी नही तू है महामारी।नशे मे डूबकर क्यो तूं दिखाता है यूं लाचारी।।नशे ने जिन्दगी बरबाद की लूटा है तेरा घर।नशे की फांस मे फंसती तमन्नाएं तेरी हारी।कभी सोचा तू बनना चाहता था क्या बना है तू।सुनले पहचानजा खुदको स्वयंको खोजके ला तू।।नही जीवन मिला तुझको यू ही बर्बाद करने को ।तड़पते हैं तेर
31 अक्तूबर 2018
11 नवम्बर 2018
C
!! Use your common sense to know the truth!!हमे पढाया गया...👇👇“रघुपति राघव राजाराम,ईश्वर अल्लाह तेरो नाम”लेकिन असल मे ऋषियों ने लिखा था की....👇👇 “रघुपति राघव राजाराम पतित पावन सीताराम”लोगों को समझना चाहिए कि,जब ये बोल लिखा गया था,तब ईस्लाम का अस्तित्व ही नहीं था,“
11 नवम्बर 2018
18 अक्तूबर 2018
साल था 1999...दिल्ली का फ़िरोज़ शाह कोटला स्टेडियमउस दिन पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारत के एक स्पिनर ने एक रिकॉर्ड बनाया था. वो रिकॉर्ड था 10 विकेट्स का.इस दिन अनिल कुंबले वो पहले भारतीय और दूसरे इंटरनेशनल बॉलर बने थे, जिन्होंने टेस्ट में 10 विकेट्स लिए थे.ये दिन याद कर आज भी हर क
18 अक्तूबर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
09 नवम्बर 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x