एक अधूरी कहानी लिखकर, एक शायरा गुमनाम हो जाएगी

15 नवम्बर 2018   |  आयेशा मेहता   (42 बार पढ़ा जा चुका है)

एक अधूरी कहानी लिखकर, एक शायरा गुमनाम हो जाएगी  - शब्द (shabd.in)

जो दिल में है वो मेरी जिंदगी नहीं ,जो जिंदगी हैवो मेरे दिल में नहीं ,

हाथ पकड़ चल रहा है कोई ,डोर मन का खींचता है कोई,

आज और कल में उलझकर , खुद से ही बगाबत कर रही हूँ मैं ,

आगोश में पल रही हूँ किसी के ,आँखों में है छवि किसी और की ा


जो दर्द मेरे दिल में ऊपजा है ,न इसकी कोई कीमत है ,न ही कोई खरीदार ,

मैं स्वयं कहाँ बोई थी इस बीज को , जाने अनजाने में एक प्रवासी पंछी बो गया है ये एहसास ,

होठों की मुस्कुराहट पर मत जाना वो साहेब ,

अगर आँखों से दर्द छलक गया तो , दुनिया पूछेगी इस आँसू का राज़ ा


आएगा एक वक्त ऐसा , चाहते -चाहते मैं आपको टूट जाऊँगी ,

बंद हो जाएगी आँखें मेरी , धड़कन भी थम जाएगी ,

एक अधूरी कहानी लिखकर , एक शायरा गुमनाम हो जाएगी ,

गर चाहो कि फिर से ये दिवानी लिखे आपको , आ जाना मेरे कब्र पर ,

सुनके आपके धड़कन की आहट , मेरी धड़कन फिर से जाग जाएगी ा


अगला लेख: दिल मेरा एक मंदिर है ,इसकी पुजा हो तुम



रेणु
06 दिसम्बर 2018

प्रिय आयेशा -- भावनाओं आर वेदना में आकंठ डूब कर लिखी ये रचना मन को छू गयी | सच में दिल दरिया समन्दर से गहरे होते हैं | मर्मस्पर्शी रचना के लिए हार्दिक बधाई और प्यार |

कामिनी सिन्हा
03 दिसम्बर 2018

इतना मर्म आप की लेखनी में है कि आखे भर जाती है ,ढेर सारा प्यार और शुभकामना आप को ऐसे ही लिखते रहिये बहुत आगे जाएगी

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x