माध्यम की भाषा

13 दिसम्बर 2018   |  उदय पूना   (96 बार पढ़ा जा चुका है)

माध्यम की भाषा


(1)

जिस कार्य-क्षेत्र में उपयोग में आती रहे जो भाषा;

उस क्षेत्र केलिए विकसित होती रहती वो भाषा।

काम केलिए उपयोग में न लाएं निज-भाषा;

फिर क्यों कहें विकसित नहीं हमारी निज भाष।।


(2)

व्यक्तिगत क्षमता, सामूहिक क्षमता में;

सार्वजनिक रूप में, सरकारी काम में;

भाषा रूप अपनाना है निज भाषा;

शिक्षा में भी माध्यम हो निज भाषा;

हर कार्य क्षेत्र में माध्यम हो निज भाषा।।


उपयोग में आती रहे जो भाषा;

तभी उपयोगी बनी रहती वो भाषा;

हर क्षेत्र में, पूर्ण रूप से, निज भाषा में काम करें;

तभी यह बन सकती हमारे माध्यम की भाषा।।


(3)

हम स्वतंत्र हैं, अवसर है, पूर्ण रूप अपनालें निज भाषा;

व्यक्तिगत स्तर पर भाषा रूप, और देश में माध्यम रूप हो निज भाषा।


किसी भी अन्य विषय की तरह, सीखते रहें कितनी भी भाषा;

पर किसी भी अन्य भाषा को न बनाएं माध्यम की भाषा।

काम पड़ता है जिनसे, सीखना वांछनीय है, उनकी भाषा;

पर निज स्तर, निज क्षेत में हर कार्य केलिए माध्यम हो निज भाषा।।


(4)

मातृ-भाषा हो हमारे माध्यम की भाषा;

हर कार्य क्षेत्र में माध्यम हो निज भाषा।

यह है हमारा धर्म, हर कार्य में अपनाएं निज भाषा;

हम स्वतंत्र हैं, अवसर है, पूर्ण रूप अपनालें निज भाषा।।


उदय पूना

अगला लेख: मां पहले पत्नी थी; पत्नी रूप में कितना था सम्मान ??



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 दिसम्बर 2018
झगड़ा और दुश्मनीयदि आपस में कुछ या गंभीर;मनमुटाव, गलतफहमी, तकलीफ, घाटा आदि हो जाये;और बहुत गुस्सा आ जाये;तो भले ही छोटा झगड़ा कर लेना;पर दुश्मनी करना नहीं।। दुश्मनी कर लेने के बाद, पछताना ही शेष रहता है;फिर रिश्ता बचता ही नहीं; फिर से एक
06 दिसम्बर 2018
21 दिसम्बर 2018
प्
- प्रश्न - संतान कहां से आती है ? ( कुछ अंश ) : ( प्रश्न - उत्तर, चिंतन 2 )संतान कहां से आती है ?संतान माता पिता से नहीं आती; संतान पति पत्नी के रिश्ते से आती है। समाज के नये सदस्य कहां से आते हैं ?समाज के नये सदस्य माता पिता से नहीं आते; समाज के नये सदस्य पति पत्नी के रिश्ते से आते हैं।। हम इस ब
21 दिसम्बर 2018
05 दिसम्बर 2018
वि
विपरीत के विपरीत कुछ-कुछ लोग कुछ-कुछ शब्दों को भूल गए, बिसर गए;हमारे पास शब्द हैं, उपयुक्त शब्द हैं, पर कमजोर शब्द पर आ गए। कुछ-कुछ शब्दों के अर्थ भी भूल गए, बिसर गए;और गलत उपयोग शुरू हो गए;मैं भी इन कुछ-कुछ लोगों में हूं, हम जागरूकता से क्यों दूर हो गए।।अनिवार्य है,इस विपरीत धारा के विपरीत जाना;भाष
05 दिसम्बर 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x